स्वामी विवेकानंद एक समाज सुधारक थे। स्वामी जी हमेशा युवाओ को प्रेरित करते थे। स्वामी विवकानंद जी एक महान व्यक्ति थे महान पुरषो के वचन हमारे जीवन को बदल देते है। अगर हम इनके अनमोल विचारो को अपने जीवन में अपनाये, तो हम अपने जीवन में हर काम में सफल होंगे।

स्वामी विवकानंद जी का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था। इनके बचपन का नाम नरेन्द्रनाथ दत्त था उनके स्वामी विवेकानंद नाम उनके गुरु रामकृष्ण परमहंस ने दिया था। स्वामी विवेकानंद जी द्वारा दिया गया शिकागो में भाषण पुरे विश्व में प्रसिद्ध है। स्वामी विवेकानंद ने इसके माद्यम से पूरी दुनिया में भारत और हिंदुत्व का परचम लहरा दिया था। आज हम इस लेख में आपको स्वामी विवेकानंद द्वारा कहे गए उनके अनमोल विचारो के बारे में बताएगे।

स्वामी विवेकानंद जी के विचार (Swami Vivekananda Quotes)

  • उठो , जागो और तब तक मत रुको जब तक अपने लक्ष्य को न पा लो।
  • विश्वास करो विश्वास करो अपने में और भगवान में।
  • दिल और दिमाग के बिच में हमेशा अपने दिल को सुनो।
  • लोग मुझ पर हस्ते है क्युकी मै सबसे अलग हु और मै लोगो पर हस्ता हु क्युकी वो सभी एक जैसे है
  • तुम भगवान में तब तक विश्वास नहीं कर पाओगे तब तक तुम खुद पर विश्वास नहीं करोगे।
  • ज़िंदगी में कभी नहीं डरना चाहिए अगर तुम डरते नहीं तो कुछ भी कर सकते हो।
  • एक लक्ष्य लो और उसे ही अपनी ज़िंदगी बना लो हमेशा उसी विचार के बारे में सोचो, उसी के सपने देखो।
  • हम अपनों से उनमे कमी होने के बाद भी प्रेम करते है तो दुसरो की छोटी सी कमी पर हम उनसे हम  कैसे घ्रणा कर सकते हैं।
  • अपने आप को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए खड़े हो जाओ और अपनी सारी जिम्मेदारिया अपने कंधो पर लो।
  • केवल वही लोग जीते रहेंगे जो अपनों के लिए जीते है।
  • अगर आपका एक दिन भी ऐसा जाये आपको कोई परेशानी नहीं आयी तो समझ जाना आप गलत रास्ते पर जा रहे है।
  • खुशी और दर्द सबसे अच्छे टीचर है।
  • दुनिया की सारी शक्ति हमारे अंदर ही है हमे कही ओर देखने की जरूरत नहीं है।
  • भगवान हमेशा उनकी ही सहायता करते है जो अपनी खुद सहायता करते है।
  • ज़िंदगी में कभी किसी की निंदा नहीं करनी चाहिए।
  • वो लोग महान है जिन्होंने अपने जीवन में लोगो की सेवा की है।
  • खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है।
  • अपने आप में और भगवान में हमेशा विश्वास करो।
  • दुनिया एक व्यायामशाला है जहा हम रोज मजबूत बनते है।
  • वेदांत में कहा गया है कोई पाप नहीं है ये सब बस गलतिया है।
  • सत्य को हजार तरीके से कहा जा सकता है।
  • हमेशा जीवन में चिंतन करो न की चिंता।
  • जैसा हम सोचते है वैसे ही बन जाते है इसलिए इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

अगर हम विवेकानंद जी के इन अनमोल विचारो को अपने जीवन में अपनाएगे तो हम जीवन में हमेशा सफलता पाएगे।अगर आपको ये अनमोल विचार अच्छे लगे। तो अपने दोस्तों और रिस्तेदारो के साथ जरूर शेयर करे। ताकि वो भी इन अनमोल विचारो के बारे में जान सके और अपने जीवन में ला सके।

ये भी पढ़े: रजत शर्मा के सफल जीवन का परिचय 

प्रशांत यादव

Facebook Comments