Neelam Sharma Biography : जिन लोगों का जन्म 90 के दशक में हुआ है वे दूरदर्शन के बारे में अच्छे से जानते हैं। ये एक ऐसा चैनल था जिसपर समाचार, फिल्में, सीरियल, खाना-पकाना और खेल एक ही चैनल पर आता था। यहां पर न्यूज रीडर्स असली एंकर हुआ करती थीं जो साड़ी में ही लोगों का दिल चुरा लेती थीं। उन्हीं में से एक थीं नीलम शर्मा (Neelam Sharma), जिनका 17 अगस्त, 2019 को निधन हो गया।

neelam sharma biography

नीलम शर्मा का जन्म और करियर (Neelam Sharma Biography)

neelum sharma biography

साल 1969 को दिल्ली में जन्मी नीलम शर्मा ने अपनी पढ़ाई लेडी श्रीराम कॉलेज ऑफ वुमन से किया। ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने दिल्ली के आईआईएमसी (IIMC) से जर्नलिज्म डिप्लोमा कोर्स किया। इसके बाद जामिया से मास्टर्स इन जर्नलिज्म जामिया कॉलेज से किया। नीलम शर्मा एक ब्राह्मण परिवार में जन्मी थीं और उनका पूरा समय दिल्ली में ही बीता। उनकी शादी को कई साल हो गए हैं और उन्हें 15 साल का एक बेटा भी है। नीलम ने अपने करियर की शुरुआत साल 1995 से दूरदर्शन में एंकर के रूप में की थी। बाद में इसके बाद उन्हें डीडी नेशनल के साथ हमेशा के लिए न्यूज रीडर के तौर पर समाचार बोलने का अवसर मिल गया था। नीलम ने दूरदर्शन पर न्यूज एंकर, होस्ट, लेखिका और कुछ शो की निर्देशिका के रूप में कार्यरत थीं। उन्होने चर्चा में, एहसास और तेजस्विनी जैसे शोज बनाए थे।

इस वजह से मिला था नारी शक्ति सम्मान [Neelum Sharma Nari Shakti]

neelum sharma biography

लंबे समय तक दूरदर्शन का चेहरा बनी रहीं नीलम शर्मा को मार्च, 2019 में नारी शक्ति सम्मान के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। नारी शक्ति पुरस्कार महिलाओं की उपलब्धियों और योगदान को मान्यता देने वाला भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार होता है। दूरदर्शन के साथ ही उनके 20 साल के करियर में तेजस्विनी और बड़ी चर्चा जैसे लोकप्रिय कार्यक्रम का संचालन किया था। डीडी न्यूज की फाउंडिंग एंकर नीलम शर्मा कैंसर से पीड़ित थीं और नोएडा के एक अस्पताल में उनका इलाज तल रहा था। कुछ समय पहले ही उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था और अब अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर नोएडा स्थित आवास में रखा जाएगा और फिर निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

ये था विवादों का असल कारण

neelum sharma biography

दूरदर्शन के साथ अपने पूरे करियर में नीलम शर्मा ने जो उपलब्धि हासिल की वो किसी से नहीं छिपी है। उन्हें ढेर सारे पुरस्कार और सम्मान मिले हैं, लेकिन साल 2014 में एक नस्लभेद के आरोप में उन्हें विवादों में घेर लिया गया था। कार्क्रम शनिवार चर्चा के दौरान अणुाचल प्रदेश के रहने वाले 20 साल के नीडो तनियम की हत्या के चर्चे होने वाले थे। नीडो की दिल्ली के लाजपत नगर में हत्या कर दी गई थी। इस कार्यक्रम में चर्चा के लिे अणुचाचल प्रदेश से कुछ छात्र आए थे और उन्होने कार्यक्रम के प्रोड्यूसर और नीलम शर्मा पर आरोप लगाया था कि हिंदी बोलना नहीं आता और इसके कारण उन्हें पैनल में अपनी बात कहने का मौका तक नहीं दिया। इसे लेकर प्रसार भारती ने जांच समिति भी बनाई गई थी। इसके बाद जांच ये पता चलता है पैनल में आए छात्रों द्वारा विरोध करने पर उन्होने माफी मांगी थी। फिर ये बात खूब उछली थी और उस समय नीलम शर्मा एक स्टार एंकर हुआ करती थीं। मगर धीरे-धीर ेसब नॉर्मल होने लगा था।

Facebook Comments