Nirmala Sitharaman Biography in Hindi: निर्मला सीतारमण वर्तमानकाल में भारतीय जनता पार्टी की और से वित्त मंत्री बनाया गया है, इससे पहले 2014 में यह रक्षा मंत्री के तौर पर कारोभार संभल चुकी थी ।आज हम आपको इन्ही के जीवन से जुडी कुछ रोचक तथ्यों से अवगत करने जा रहे हैं।

जन्म तथा शिक्षा

60 वर्षीय निर्मला सीतारमण जी का जन्म 18 अगस्त 1959 में तमिलनाडु के मदुरई ज़िले में हुआ था। इनके पिता का नाम श्री नारायण सीतारमण एवं माता का नाम श्रीमती सावित्री देवी है।इन्हें अपने बचपन काल से ही राजनीती में खास दिलचस्पी थी।इन्होनें तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली के सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से बीए की डिग्री प्राप्त करी तथा इसके बाद इकोनॉमिक्स में एमए करने हेतु इन्होनें अपना दाखिला नयी दिल्ली में स्थित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज में लिया तथा इसके बाद यहीं से इन्होनें एमफिल की डिग्री भी हासिल की।निज़ी ज़िन्दगी आपको बताना चाहेंगे कि निर्मला सीतारमण जी का विवाह लव मैरिज था।इनकी शादी डॉ परकाल प्रभाकर से हुई है जो कि निर्मला जी के साथ ही जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पढ़ते थे।वही से दोनों के बीच प्यार हुआ तथा उसके बाद दोनों ने 1986 में शादी कर ली शादी करने के बाद यह दोनों लन्दन में बसने चले गए थे।किन्तु जब इनकी पुत्री ने जन्म लिया तो यह वापस भारत चले आये तथा हैदराबाद में बस गए।

निर्मला जी को ज्यादा सजने का शौक कभी भी नहीं रहा, उन्हें सिर्फ कॉटन कि साड़ियां तथा गले में चैन और हाथ में कड़ेपहनना पसंद है। सीतारमण जी अधिकांश समय अंग्रेजी का ही उपयोग करती है, हिंदी का बहुत कलन्दन में जीवन निर्मला सीतारमण जी शादी के पश्चात लन्दन चले गए थे तथा वही पर निर्मला जी ने कई सारी कंपनियों में काम किया।लन्दन में ही घर के सजावटी सामान बेचनेवाली दुकान पर सेल्स गर्ल के तौर पर काम किया इसके पश्चात वह लन्दन में कृषि इंजिनियर्स एसोसिएशंस से जुड़ी।इसके बाद लन्दन में ही प्राइस वाटरहॉउस नाम कि कंपनी में सीनियर मैनेजर के रूप में काम किया तथा इसके बाद कुछ वक़्त के लिए यह बीबीसी से भी जुड़ी।

जब इनकी पुत्री ने जन्म लिया तो यह वापस भारत लौट आये तथा हैदराबाद में बस गए।हैदराबाद में भी इन्होनें सेंटर फॉर पॉलिसी में डेप्युटी डायरेक्टर के तौर पर काम कियनिर्मला सीतारमण का राजनैतिक सफ निर्मला सीतारमण ने वर्ष 2006 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई।ठीक इसके एक वर्ष बाद यानी 2007 में इनके पति डॉ परकाला प्रभाकर ने फिल्म स्टार चिरंजीवी की पार्टी में शामिल होगए आपको बताना चाहेंगे कि वर्ष 2000 के आस पास डॉ परकाला प्रभाकर भारतीय जनता पार्टी के आँध्रप्रदेश यूनिट के प्रवक्ता रह चुके हैं।इस तरफ निर्मला सीतारमण भारतीय जनता पार्टी में शामिल होकर नाम कमाने लगी तथा जिस समय “नितिन गडकरी”पार्टी अध्यक्ष हुए उस समय इन्हें पार्टी के छह प्रवक्ताओं के बीच स्थान दिया गया।इसके बाद वर्ष 2010 में इन्हें भारतीय जनता पार्टी ने अपना प्रवक्ता बनाया।

nirmala sitharaman
ajabgajab jankar

इसके बाद कई टीवी डिबेट में पार्टी कि तरफ से भाग लेने लगी और सुर्खियां बटोरनी लगी।इस समय भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता के रूप में नरेंद्र मोदी शासित राज्य गुजरात में काफी प्रसिद्धि मिली।इसके बाद इन्होनें दिल्ली में पार्टी प्रवक्ता के रूप काफी नाम कमाया, उस समय भारतीय जनता पार्टी का हेडक्वाटर भी दिल्ली में ही स्थापित था।

एक सक्षम प्रवक्ता के रूप में निर्मला सीतारमण ने 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान काफी बेहतर साबित हुई।इन्होनें नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में प्रचार करने कि भी काफी अच्छी भूमिका निभायी।इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भरी मतों से विजय प्राप्त हुई तथा केंद्र में अपना सर्कार बना पायी।

2014 में भारतीय जनता पार्टी की जीत के बाद वर्ष 2016 में इन्हें “मिनिस्टर ऑफ़ स्टेट” का पद सौंपा गया।इसी के साथ साथ इन्हें मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, मिनिस्ट्री ऑफ़ फाइनांस एंड अफेयर्स आदि के कार्य भी मिनिस्ट्री ऑफ़ स्टेट के अंतर्गत ही प्राप्त हुआ। इनकी जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि थी इनका 2014 में रक्षा मंत्री बनना।इन्होनें इस पद के लिए 3 सितम्बर 2017 को शपथ ग्रहण किया।इस प्रकार निर्मला सीतारमण जी पहली बार पूर्ण सामायिक महिला रक्षा मंत्री बानी हैं।इसके पश्चात 2019 में वह वित्त मंत्री बनी।इस प्रकार से निर्मला सीतारमण भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी के बाद दूसरी महिला रक्षा मंत्री और पहली पूर्व सामायिक महिला रक्षा मंत्री बनी हैं

Facebook Comments