Rajinikanth Biography in Hindi: फिल्मी सितारों के फैंस की बात करें तो उनकी फैन फौलोइंग इस कदर होती है कि कुछ लोग उनको भगवान की तरह पूजते हैं। उनकी हर एक बात को सुनते हैं और मानते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही एक्टर के बारे में बताएंगे जिनकी तस्वीरें लोगों ने घर में लगा रखी हैं और उनकी पूजा करते हैं। हम बात कर रहे हैं रजनीकांत की, बता दें कि रजनीकांत को साउथ में भगवान की तरह पूजा जाता है।

कल यानि कि 12 दिसंबर को रजनीकांत अपना 69 जन्मदिन मना रहे हैं। आज रजनीकांत जिस मुकाम पर हैं उनको वहां पर किसी पहचान की जरूरत नहीं हैं, वो खुद में एक पहचान बन गए हैं। लेकिन रजनीकांत ने अपने जीवन में काफी बुरा समय भी देखा है। उनका बचपन काफी कठिनाइयों से भरा हुआ था। बता दें कि रजनीकांत ने अपने बचपन में काफी आर्थिक तंगी का सामना किया था। शायद ही आपको पता हो लेकिन रजनीकांत का असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ा है।

यही शिवाजी आज रजनीकांत के नाम से पूरी दुनिया में फेमस हैं। रजनीकांत की मां का निधन जिस समय हुआ उस वक्त उनकी उम्र महज 5 साल थी। मां के निधन के बाद पूरे घर-परिवार की जिम्मेदारी रजनीकांत जी के कंधों पर आ गई थी। इतनी कम उम्र में घर चलाना आसान काम नहीं था। उस उम्र में जब बच्चा मां-बाप के आंचल में पलता है, लेकिन रजनीकांत उस समय अपने घर को कैसे चलाना है इस बात को लेकर चिंतित थे।

rajinikanth biography in hindi

किया कुली का काम [Rajinikanth Life Story in Hindi]

घर के पालन-पोषण के लिए रजनीकांत जी ने कुली का काम करना शुरू किया था। इतना ही नहीं इसी के साथ उन्होंने बस कंडक्टर की नौकरी भी की थी। लेकिन उनकी किस्मत में शायद कुछ और ही लिखा था। रजनीकांत ने तमिल फिल्म इंडस्ट्री में बालचंद्र की फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ से एंट्री की और फिर फिल्मों में ही उनका मन लग गया। इस फिल्म में रजनीकांत के साथ कमल हासन और श्रीविद्या भी थीं। हालांकि रजनीकांत ने अपने अभिनय की शुरुआत फिल्मों से नहीं बल्कि कन्नड़ नाटकों से की थी। इस कन्नड़ नाटक में रजनीकांत ने दुर्योधन की भूमिका निभाई थी और घर-घर में लोकप्रिय हुए थे।

रजनीकांत ने अपने करियर में कई निगेटिव रोल प्ले किए थे और लोगों के बीच उनकी ऐसी ही पहचान बन गई थी। लेकिन बतौर नायक रजनीकांत जी ने एसपी मुथुरमन की फिल्म भुवन ओरु केल्विकुरी में काम किया था। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया था जिसके बाद से इन दोनों की जोड़ी ऐसी जमी कि रजनीकांत और मुथुरमम ने एक साथ 25 फिल्मों में काम किया।

 

फिल्म के लिए मिला था अवॉर्ड [Rajinikanth Awards]

rajinikanth biography in hindi
india today

रजनीकांत ने फिल्म मुंदरू मूगम में तीन रोल प्ले किए थे। इस फिल्म के लिए रजनीकांत को तमिलनाडु सरकार ने बेस्ट एक्टर के अवॉर्ड से नवाजा था। वहीं बात करें रजनीकांत की हिंदी फिल्मों की तो उन्होंने टी रामा राव की फिल्म अंधा कानून से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था। इस फिल्म में रजनीकांत के साथ अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी और रीना रॉय भी थीं। पहले जहां रजनीकांत ने साउथ सिनेमा में अपना नाम कमाया था। लेकिन जब उन्होंने हिंदी सिनेमा में कदम रखा तो हिंदी सिनेमा जगत में भी रजनीकांत एक जाना-माना चेहरा बन गए। रजनीकांत को साउथ के ही नहीं बल्कि भारतीय सिनेमा के भी सुपरस्टार के रूप में जाना जाने लगा।

बता दें कि रजनीकांत उम्र के इस पड़ाव में भी फिल्मों में अपना जलवा कायम करे हुए हैं। इतना ही नहीं रजनीकांत एशिया के सबसे ज्यादा पैसा लेने वाले एक्टर्स में तीसरे स्थान पर हैं। इसी के साथ रजनीकांत भारत के सबसे मंहगे एक्टर हैं। खबरों के मुताबिक, रजनीकांत ने फिल्म ‘कबाली’ के लिए 40 से 60 करोड़ रुपये चार्ज किए थे। पिछले साल रिलीज हुई फिल्म 2.0 के लिए भी रजनीकांत ने करीब 80 करोड़ फीस ली थी।

Facebook Comments