क्रिकेट भले ही भारत का राष्ट्रीय खेल नहीं है, मगर हमारे देश में इसकी ही पूजा होती है| पूजा हो भी क्यों न, क्रिकेट का भगवान भारतीय जो है। जी हां, हम बात कर रहे हैं सचिन तेंदुलकर की जो आज की तारीख में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं| उनके नाम ऐसे-ऐसे रिकार्ड्स हैं जो आने वाले समय में शायद ही कोई बना पाए| ये तो बात थी महान सचिन की मगर उनके अलावा भी और कई तमाम भारतीय बल्लेबाज हैं जो न सिर्फ देश में बल्कि पूरे विश्व में एक से बढ़कर एक कीर्तिमान बनाए हुए हैं। यही वजह है कि आज हमारे देश के बहुत से युवा नौकरी न कर के खिलाड़ी बनना चाहते हैं और सचिन, सेहवाग, गांगुली, युवराज, धोनी, कोहली के जैसा नाम कमाना चाहते हैं| भारतीय क्रिकेट इतिहास में ये कुछ ऐसे नाम हैं जो इन युवाओं को हमेशा इस बात के लिए प्रेरित करते हैं कि इस राह में न केवल शोहरत है बल्कि इज्जत भी बहुत है।

cricket-trainig
YouTube

हालांकि, इन स्टार खिलाड़ियों को खेलते देखना जितना आसान है, वहां तक पहुंचने की राह इतनी भी आसान नहीं है। क्योंकि क्रिकेट तो तकरीबन सभी ने खेला होगा, किसी ने सामान्य तो किसी ने बहुत ही अच्छा| मगर हर कोई क्रिकेटर ही बन गया हो, ये जरूरी तो नहीं| जिस तरह डॉक्टर या इंजीनियर बनने के लिए ढेर सारी पढ़ाई और फिर कई सारे एग्जाम आदि निकालने पड़ते हैं, ठीक ऐसा ही कुछ क्रिकेट के साथ होता है| कई बार युवा क्रिकेटर बनने की राह पर निकल तो पड़ता है, मगर सही मार्गदर्शन न मिल पाने की वजह से उसका समय और भविष्य दोनों ही खराब हो जाता है। यदि आप भी एक अच्छे क्रिकेटर बनना चाहते हैं और धोनी, कोहली की तरह देश का नाम ऊंचा करने की सोच रखते हैं तो चलिये आज हम आपको बताते हैं कि क्रिकेटर कैसे बनते हैं।
खुद को पहचानो और सही समय पर ही शुरू कर दो
सबसे पहले तो यह बहुत ही जरूरी हो जाता है कि आप खुद को समझें और ये तय करें कि क्रिकेट के मैदान में आप सबसे अच्छा क्या कर सकते हैं। क्योंकि गली क्रिकेट से लेकर इसके कई फार्मेट को आपने बचपन से लेकर अभी तक खेला होगा। लेकिन अगर आपने तय कर लिया है कि आपको इसी क्षेत्र में आगे बढ़ना है तो बिना देरी किये आप लग जाइए। लेकिन हां, इस राह पर आगे बढ्ने के लिए आपको थोड़े पैसे खर्च भी करने पड़ेंगे, क्योंकि फीस तो यहां भी लगती है। बेहतर होगा कि आप अपने अंदर के छिपे टैलेंट को बाहर निकालें और अपने बेहतर स्किल्स दिखाएं ताकि आप भीड़ से अलग हो सकें| तब जाकर इसके बाद ही आपको कुछ बेहतर मौका मिल सकता है। क्योंकि कई बार अच्छा खेलने वाले खिलाड़ी बहुत आगे नहीं जा पाते मगर जो हमेशा से बेहतरीन और शानदार प्रदर्शन करते हैं उन्हें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में भी मौका मिल जाया करता है|

अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए महत्वपूर्ण बातें [Cricket Kaise Sikhe]

सही उम्र से सीखना शुरू कर दें [Cricket Age Limit]

अगर आप ने यह सोच रखा है कि आपको क्रिकेट में ही अपना भविष्य बनाना है तो बिना देर किये इसकी ट्रेनिंग लेना शुरू कर दें| आपको बता दें दुनिया भर में मशहूर और क्रिकेट के भगवान का दर्जा प्राप्त करने वाले सचिन तेंदुलकर ने मात्र 6 वर्ष की उम्र से ही बल्ला थाम लिया था| वैसे 7 से 8 वर्ष की उम्र क्रिकेटर बनने की शुरुवात करने के लिए बेहतर है। सही समय से ली गयी ट्रेनिंग आपको न सिर्फ एक अच्छा क्रिकेटर बनाती है बल्कि अंतर्राष्ट्रीय टीम में भी जगह दिलाती है।

पढ़ाई की तरह सीखें

जिस तरह अच्छे नंबर लाने के लिए पढ़ाई में मेहनत लगती है, ठीक उसी तरह से अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए हमेशा मेहनत करते रहना चाहिए। ताकि किसी भी कदम पर आप पीछे न रहने पाएं क्योंकि यहां पर भी आगे निकलने की होड़ काफी तेज हो चुकी है।

बेहतर ट्रेनिंग ज्यादा प्रैक्टिस [Cricket Training in Hindi]

यदि आपको शुरू से ही अच्छी ट्रेनिंग और अच्छे कोच मिलते हैं तो निश्चित रूप से आप जल्दी ही बेहतर करने लग जाते हैं। गेंद को बाउंडरी के पार भेजना ही अच्छा खिलाड़ी नहीं माना जाता बल्कि वो खिलाड़ी अच्छा होता है जो हर गेंद को बेहतर तरह से खेल सके। अलग-अलग तरह की तकनीक का इस्तेमाल करे और अच्छे से अच्छे गेंदबाज या बल्लेबाज को चकित कर दे। ऐसा बनने के लिए अच्छी कोचिंग के साथ-साथ ज्यादा प्रैक्टिस भी बहुत ही आवश्यक है।

छोटे-बड़े सभी टूर्नामेंट में भाग लें [Cricket Tip Hindi]

आप बेहतर खेल रहे हैं इसे जांचने के लिए छोटे से लेकर बड़े स्तर तक के सभी टूर्नामेंट में भाग लें और खुद के प्रदर्शन को आंके। इसके अलावा समय-समय पर होने वाले डिस्ट्रिक्ट लेवल और स्टेट लेवल सिलेक्शन में हमेशा पार्ट लें क्योंकि यही वो सीढ़ी है जो आपको ऊपर ले जायेगी। यदि आपने मेहनत की है और आप बाकियों से कुछ अलग कर पाते हैं तो यकीनन आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। तो सिंपल सा फंडा है क्रिकेटर बनने के लिए भी डॉक्टर या इंजीनियर बनने जितनी मेहनत करनी पड़ती है। सही उम्र, सही मार्गदर्शन और कड़ी मेहनत आपको निश्चित रूप से सफलता दिलाएगी और सफलता का एक ही नियम है ‘मेहनत’। ये नियम हर इंसान, हर प्राणी और हर क्षेत्र में लागू होता है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा| पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें|

Facebook Comments