Doctor Kaise Bane – भगवान के बाद धरती पर जिसे लोग भगवान का रूप कहते हैं वो ‘Doctor’ होते हैं। उनके बिना व्यक्ति की कोई भी बीमारी ठीक नहीं हो सकती क्योंकि उनके अंदर प्रैक्टिस और पढ़ाई होती है। उन्हें पता होता है कि बॉडी में होने वाली बीमारियों का इलाज कैसे संभव है। डॉक्टर बनने की पढ़ाई बहुत कठिन होती है फिर भी लोग ये जानना चाहते हैं कि doctor kaise bane, और इसके लिए हमने ये लेख लिखा है जिससे आपके मन की ये दुविधा भी दूर हो जाए।

एक सफल Doctor कैसे बने ?

Doctor
freepik

आपने शाहिद कपूर की फिल्म कबीर सिंह तो देखी ही होगी, इसमें कबीर सिंह नाम का किरदार एक डॉक्टर होता है। उसके अंदर लाख बुराईयां होती हैं लेकिन वो एक काबिल डॉक्टर होता है इसलिए लोग उसकी खूब तारीफ करते हैं और उसके हर गुस्से को सहते हैं। डॉक्टर बनना एक गर्व की बात होती है लेकिन एक सफल और अच्छा डॉक्टर बनना इतना भी आसान नहीं होता है। डॉक्टर बनने के लिए आपको बहुत सारी मेहनत और लगन की जरूरत होती है और अगर आपका मन पढ़ने में लग गया तो आपको डॉक्टर बनने से कोई नहीं रोक सकता है। मगर डॉक्टर बनने के लिए कुछ चीजें जरूरी होती हैं। डॉक्टर बनने के लिए ये चार चीजें जरूरी होती हैं-

  • आपके पास 12वीं में PCB सब्जेक्ट होना चाहिए।
  • हर विषय में कम से कम 50 प्रतिशत मार्क भी आने चाहिए।
  • आपकी अंग्रेजी भाषा पर पकड़ बहुत अच्छी होनी चाहिए।
  • हार्ड वर्क के लिए आपको हर तरह से तैयार होना पड़ेगा।

डॉक्टर बनने की प्रक्रिया (Process of making Doctor)

एक अच्छा चिकित्सिक बनने के लिए आपको कई सारी चीजों के बारे में स्टडी करनी होहती है। इसके लिए आपको दिन-रात पढ़ना पड़ेगा और मेहनत करनी होगी। एक अच्छा डॉक्टर बनने के लिए कौन-कौन से स्टेप की जरूरत होती है इसके बारे में हम आपको पूरी प्रक्रिया के बारे में बताएंगे..

10वीं के बाद बायोलॉजी लेना

Biology
biology

अगर आप 10वीं क्लास में हैं तो इससे नीचे की क्लास में आपको साइंस साइड ही लेना होगा। डॉक्टर बनने का ख्याल बच्चों के मन में एकदम से नहीं आता है इसलिए पहले से ही इसकी तैयारियां शुरु कर देनी चाहिएय़ 10वीं में बायोलॉजी सबजेक्ट जरूर लेना चाहिे और इसके साथ ही 11वीं और 12वीं में फिजिक्स अच्छे से पढ़नी चाहिए। बायोलॉजी सबजेक्ट की पढ़ाई अच्छे से करें और हमेशा अच्चे मार्क्स लाएं। केमिस्ट्री में भी आपको अच्छा ध्यान देना चाहिए क्योंकि लाइफटाइम अगर आप सफल डॉक्टर बन गए तो बहुत काम आने वाला है।

एंट्रैंस एग्जाम की तैयारी करना

11वीं और 12वीं क्लास पास करने से पहले ही एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी शुरु कर देनी चाहिए। 12वीं क्लास पास करने के बाद एंट्रेंस एग्जाम यानी कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए ये क्लियर करना होगा। एंट्रेंस एग्जाम्स में लाखों बच्चे भाग लेते हैं लेकिन सभी का एंट्रेंस एग्जाम्स में क्लियर नहीं हो पाता है। अगर आप डॉक्टर बनने के लिए सच में सीरियस हैं तो आपको इन बातों का ध्यान जरूर देना चाहिए-

  • 11वीं और 12वीं के विषयों को अच्छे से पढ़ें और रट्टा ना मारते हुए उन्हें समझने की कोशिश करें। यहां पर आपने जितना पढ़ा है उसमें से 40 प्रतिशत मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम्स में आता है। ध्यान रहे कि 12वीं आपके कम से कम 50 प्रतिशत मार्क्स जरूर होने चाहिए।
  • कोशिश करें कि 11वीं क्लास से ही मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करना शुरु कर दें और इसके एग्जाम काफी मुश्किल होते हैं इसके लिए तैयारी बहुत पहले ही कर देनी चाहिए।
  • एंट्रेंस एग्जाम्स को क्लियर करने के लिए आपको एक बेस्ट कोचिंग सेंटर ज्वाइन कर लेना चाहिए। ऐसे कई इंस्टिट्यूट हैं जो एंट्रेंस एग्जाम्स की तैयारियां करवाते हैं।
  • इंटरनेट की मदद से भी आप घर पर ही एंट्रेंस एग्जाम्स की तैयारी कर सकते हैं। यहां दी गई टिप्स कई बड़े डॉक्टर्स की राय पर आते हैं तो एक बार यहां से भी पढ़ने की जरूरत होती है।

एंट्रैंस एग्जाम के लिए ऐसे करें अप्लाई

जैसे ही आपने 12वीं पास कर ली तो आपको मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी अच्छे से करनी चाहिए। आप एंट्रेंस के फॉर्म भरें और फिर अगर आप अभी 12वीं में पढ़ रहे हों और फाइनल एग्जाम होने तो तब भी आप फॉर्म फिल कर सकते हैं। ऐसे में आप ऑल इंडिया मेडिकल एग्जाम या फिर स्टेट लेवल के फॉर्म भर सकते हैं। मगर इन चीजों में ध्यान रहे कि एंट्रेंस एग्जाम के मार्क्स पर ही निर्धारित किया जाएगा कि आपको कौन सा कॉलेज मिलेगा। इसी रैंक के आधार पर आपको कॉलेज मिलते हैं। जिनमें एम्स (AIIMS), एमएचसीईटी (MG-CET), एआईएमपीटी (AIMPT) जैसे बड़े एंट्रेंस एग्जाम दे सकते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम पाक करने के बाद ही आपको डॉक्टर बनने का अगला स्टेप उठाना होगा। इसके साथ ही अगर आप एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाते हैं तो आपको सरकारी कॉलेज मिल सकता है जिसमें आपकी फीस बहुत ही कम लगती है और यहां पर आपको स्कॉलरशिप भी मिल जाता है। ये कुछ फेमस एंट्रेंस एग्जाम्स दिए गए हैं जिनमें आप अप्लाई कर सकते हैं-

  • AIIMS Entrance Examination- All India Institute of Medical Science
  • AIPMT- All India Pre-Medical Entrance Examination
  • MH CET- Maharastra Common Entrance Test
  • DPMT- Delhi University Pre-Medical Test
  • PMET- Punjab Medical Entrance Test
  • UPMT- Uttar Pradesh Medical Entrance Test

मेडिकल कॉलेज में लाएं अच्छे मार्क्स

Good-marks
bschool

जैसे ही आपने एंट्रेंस एग्जाम पास करके एक अच्छे कॉलेज में पढ़ने लगेंगे तो आपको करीब साढे चार साल के लिए पढ़ाई करनी होगी। एक सफल डॉक्टर बनने के लिए हर 6 महीने पर होने वाले एग्जाम में आपको अच्छे मार्क्स लाने चाहिए। इसके बाद आपको करीब 1 साल के लिए किसी मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप करनी होती है।

डॉक्टर बनने के लिए इंटर्नशिप

मेडिकल से पढ़ाई पूरी करने के बाद कम से कम 1 साल तक आपको इंटर्नशिप करना चाहिए। किसी नर्सिंग होम या किसी बेस्ट डॉक्टर्स के अंडर आपको सीखना चाहिए। 1 साल के लिए किसी मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप करना जरूरी होता है यानी इसका मतलब ये होता है कि 5.5 साल पढना होगा। एक डॉक्टर बनने के लिए जैसे ही एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करके इंटर्नशिप करना चाहिए और इसके बाद आपको मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) द्वारा डिग्री दी जाती है और इसके बाद आप किसी भी हॉस्पिटल में डॉक्टर बन सकते हैं। इसके आगे अगर आप किसी चीज के स्पेशलिस्ट बनना चाहते हैं तो आप एमबीबीएस की पढाई के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन भी कर सकते हैं।

Facebook Comments