IPS Officer Kaise Bane: आईपीएस अफसर बनना किसी के लिए भी बड़े ही फक्र की बात है। भारतीय पुलिस सेवा का सर्वोच्च पद मिलना कोई खेल नहीं है बल्कि इसके लिए लोगों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। हमारे समाज में आईपीएस की परीक्षा में जो पास हो जाते हैं उन्हें बेहद पढ़ाकू और सुलझा हुआ इंसान माना जाता है। इस परीक्षा में पास होना इतना आसान नहीं है बल्कि इसके लिए upsc की परीक्षा को पास करना आवश्यक माना जाता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको आईपीएस अफसर बनने के कुछ नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं। इन्हें फॉलो कर आप भी इस पद पर स्थापित हो सकते हैं।

एक आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपके पास क्या योग्यता होनी चाहिए (IPS Officer Kaise Bane)

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने (IPS Officer Kaise Bane) ये जानने से पहले ये जान लेना आवश्यक है कि, इस पद को प्राप्त करने के लिए आपके पास कौन-कौन सी योग्यता होनी चाहिए।

सबसे पहले बता दें कि, एक आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपका बारहवीं पास होना सबसे ज्यादा जरूरी है। क्योंकि इसके बाद ही आप इस पद को प्राप्त करने के लिए तैयारियां कर सकते हैं। बारहवीं के बाद आपका किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री होना ख़ासा आवश्यक है। कुछ लोगों के मन में इस बात को लेकर थोड़ी संसय रहती है कि, आखिर अगर उन्हें आईपीएस अफसर बनना है तो ग्रेजुएशन में उन्हें कौन सा विषय लेना चाहिए। ध्यान दें कि, आईपीएस अफसर बनने के लिए आप किसी भी विषय में स्नातक कर सकते हैं।

आपकी उम्र 21 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। यदि आप एक पुरुष उम्मीदवार हैं तो आपकी लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए, लेकिन यदि आप एक महिला उम्मीदवार हैं तो आपकी लंबाई करीबन 150 सेंटीमीटर जरूर होनी चाहिए।

इसके साथ ही साथ मेडिकल स्तर पर आपका तंदुरुस्त होना भी काफी अहम रखता है। आपकी आँखें किसी भी तरह से कमजोर नहीं होनी चाहिए। आपकी दृष्टि का अच्छा होना इस पद के लिए एक बोनस का काम करता है। शारीरिक तौर पर फिट रहना और सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण आपका upsc परीक्षा पास होना।

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए कैसे करें तैयारी

एक आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको स्नातक पास होने के बाद upsc का फॉर्म भरना होता है। इसके बाद आपको सबसे पहले प्रिलिमरी एग्जाम पास करना होगा। इस परीक्षा में कुल नौ पेपर का टेस्ट लिया जाता है, इसके टेस्ट पेपर में पास होने के बाद आपको एक इंटरव्यू राउंड से भी गुजरना पड़ता है। बता दें कि, दो सौ अंकों के इस पेपर में मुख्य रूप से राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय करेंट अफेयर, जेनरल नॉलेज, जियोग्राफी, भारतीय राजनीती आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं। इसलिए इन सभी विषयों पर आपकी पकड़ होना जरूरी है। आईपीएस बनने का लक्ष्य रखने वाले छात्र इसलिए ग्रेजुएशन में आर्ट्स रखना ज्यादा अच्छा समझते हैं। इसकी एक वजह यही है कि ,उन्हें भारतीय इतिहास, राजनीती और भूगोल की जानकारी मिल जाती है। इस एग्जाम के भी दो पेपर होते हैं, दूसरे पेपर में मुख्य रूप से इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन, लॉजिकल रीजनिंग और मेन्टल एबिलिटी से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं। इन सभी विषयों पर आपकी पकड़ अच्छी होनी चाहिए तभी आप एक आईपीएस ऑफिसर बन सकते हैं।

आईपीएस ऑफिसर बनने का आखिरी पड़ाव क्या है ?

बात करें आईपीएस ऑफिसर बनने के आखिरी पड़ाव की तो। प्रिलिमरी एग्जाम में पास होने के बाद आपको upsc के मेन एग्जाम में बैठना होता है। इसमें आपको सभी चीजों के बारे में कंबाइंड तरीके से प्रश्न पूछे जाते हैं। इस लिखित परीक्षा के भी कुल नौ पेपर होते हैं। इसमें पास होने के बाद आपको इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाता है। आईपीएस इंटरव्यू राउंड करीबन 45 मिनट का होता है। इस दौरान आपसे एक इंटरव्यू पैनल के द्वारा कुछ सवाल पूछे जाते हैं। इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आपका चयन आईपीएस ऑफिसर के तौर पर कर लिया जाता है। इसके बाद आपको सबसे पहले ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है, आपसे भारतीय दंड संहिता के तहत आने वाले कुछ नियम और कानून के बारे में बताया जाता है। ट्रेनिंग पूरी होने पर आपको किसी स्थान पर बतौर आईपीएस ऑफिसर पदोन्नित किया जाता है। आईपीएस ऑफिसर की ट्रेनिंग के लिए आमतौर ओर केडेट को मसूरी या फिर हैदराबाद भेजा जाता है।

Facebook Comments