Butter Murukku Recipe in Hindi: बटर मुरुक्कू जिसे बैने मुरुक्कू, बैने चकली और वैना मुरुक्कू भी कहते हैं, साऊथ इंडिया की बेहद मशहूर नमकीन है। इसे चावल के आटे और बेसन से बनाया जाता है और डीप फ्राई होने की वजह से ये बहुत ही कुरकुरी और स्वादिष्ट होती हैं। आमतौर पर इसे किसी ख़ास त्यौहार या उत्सव महोत्सव में बनाया जाता है, लेकिन अगर आपको यह पसंद हैं तो आप इन्हें कभी भी बना कर खा सकते हैं।

बटर मुरुक्कू, पारंपरिक मुरुक्कू और चकली का संक्षिप्त संस्करण है। ये बहुत ही हल्के, कुरकुरे होते हैं और इसमें बटर का हल्का-हल्का टेस्ट इसे और भी लाजवाब बनाता है। मिठाई की दुकान या बेकरी पर बिकने वाले बटर मुरुक्कू तो इतने हल्के आर कुरकुरे होते हैं कि वे अक्सर टूटे हुए ही मिलते हैं। बटर मुरुक्कू का हल्का और खस्ता होना उसको बनाने के लिए गूथे गए आटे में पड़ी सामग्री की सही मात्रा पर निर्भर करता है।

अगर आप बटर मुरुक्कू पहली बार बना रहे हैं तो हो सकता है की आप इसे जलेबी की तरह घुमावदार ना बना सकें क्योंकि इसका आटा थोड़ा अलग तरीके से गुथा हुआ होता है और जब हम इसे सेव/चकली बनाने वाली मशीन से बनाते है तो अक्सर ये बीच में ही टूट जाता है। इसलिए परेशान ना हों और यदि आपके बटर मुरुक्कू गोल ना बन सके तो इन्हें लंबा-लंबा ही बना लें।आइये सबसे पहले जानते हैं की इसे बनाने के लिए हमें क्या क्या सामग्री की जरूरत पड़ेगी।

बटर मुरुक्कू बनाने के लिए आवश्यक सामग्री [Butter Murukku Ingredients]

  • 2 कप चावल का आटा
  • 5 टेबलस्पून भुना हुआ बेसन
  • 1½ टेबलस्पून बटर
  • 1 चुटकी हींग
  • ¾ टीस्पून जीरा
  • स्वादानुसार नमक
  • आटा गूथने के लिए पानी
  • मुरुक्कू तलने के लिए तेल

Butter Murukku Recipe In Hindiindianhealthyrecipes

बटर मुरुक्कू बनाने की विधि 

  • सबसे पहले एक परात या थाली में चावल का आटा, भुना हुआ बेसन, हींग, जीरा, नमक और बटर डाल कर अच्छे से मिला लें। फिर पानी की सहयता से इसे गूथें। पानी को आवश्यकतानुसार थोड़ा-थोड़ा करके मिलाएं और एकदम मुलायम आटा गूथ लें। ध्यान रखें की बटर आटे में अच्छी तरह मिल गया हो और आटे में कोई भी दरार ना हो।
  • इस आटे को तीन भागों में तोड़ लें और सेव बनाने वाली मशीन में एक टुकड़े को भर दें और बाकि के आटे को किसी गीले कपड़े से ढककर रख दें ताकि वह सूखे ना।
  • अब एक कढ़ाई में तेल डालें और गरम होने के लिए गैस पर रख दें। तेल ठीक से गरम हुआ है या नहीं ये टैस्ट करने के लिए इसमें आटे का 1 छोटा सा टुकड़ा डाल कर देखें। यदि टुकड़ा फूल कर ऊपर आ जाए तो समझ जाएं की आपका तेल बिल्कुल पर्याप्त गरम हो चुका है।
  • अब मशीन को तेल के ऊपर ले जाकर हल्के हाथ से दबाते हुए गोल घुमावदार मुरुक्कू बनाएं।
  • आप चाहें तो इन्हें सीधा तेल में डालने की जगह पहले किसी गीले कपड़े पर बना लें और फिर इन्हें हल्के हाथ से उठाकर कढ़ाई में डाल दें।
  • कढ़ाई में एक बार में बहुत ज्यादा मुरुक्कू ना डालें नहीं तो वे आपस में चिपक जाएंगे।
  • मुरुक्कू को कढ़ाई में डालने के बाद ज्यादा उलट-पलट ना करें वरना वे टूट भी सकते हैं।
  • करीब 1-2 मिनट बाद इन्हें धीरे से पलटें और दोनों तरफ से गोल्डन होने तक तल कर एक प्लेट में निकाल लें।
  • बाकि बचे आटे को भी इसी तरह मशीन में भरकर मुरुक्कू बना लें और तेल में तलकर प्लेट में निकाल कर रख लें।
  • बटर मुरुक्कू तैयार हैं। अब इन्हें ठंडा होने के लिए खुले में रख दें।
  • ठंडा होने के बाद इन्हें किसी एयर टाईट कंटेनर में भरकर रख दें और जब मन हो खाएं।
  • एयर टाईट कंटेनर में रखे मुरुक्कू जल्दी खराब नहीं होते और लगभग 1-2 महीने आराम से रखकर खाए जा सकते हैं।
Facebook Comments