तेलगू पार्टी के प्रमुख एवं आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चन्द्रबाबू नायडू आज अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने हेतु और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर आज दिल्ली में एक दिन की भूख हड़ताल (hunger-strike) पर बैठेंगे। नायडू ने विपक्षी दलों को भी इस कार्यक्रम मे एक जुट होने की अपील की है जिससे यह आंदोलन सफल बन सके। इस आंदोलन मे आज कई राजनीतिक दल शामिल हो सकते हैं। नायडू आज सुबह 8 बजे से लेकर रात के 8 बजे तक आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर बैठेंगे और इसके बाद नायडू 12 फरवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे|

Newslaundry

 

दिल्ली में भूख हड़ताल(hunger-strike) करेंगे सीएम चंद्रबाबू नायडू, इन मांगों को लेकर देंगे धरना

मुख्यमंत्री आज अपने मंत्रियों,पार्टी के विधायकों, एमएलसी (Member of Legislative Council) और सांसदों के साथ धरना देंगे। राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे। इसके बाद वे आज दिल्ली में दीक्षा रैली भी करेंगे। नायडू की रैली में शामिल होने के लिए लोग देश के कोने- कोने से दिल्ली पहुंच रहे हैं। नायडू का कहना है कि केंद्र सरकार ने राज्य को लेकर और भी कई वादे किए थे और उनको  पूरा करने में असफल रही है।

केंद्र सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाकर पिछले साल चंद्रबाबू नायडू की तेलुगु देशम पार्टी ने एनडीए सरकार से नाता तोड़ लिया था। उसके बाद से नायडू केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं। तेलंगाना चुनावों के दौरान भी वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ केसीआर और बीजेपी के खिलाफ चुनावी अभियान के दौरान मंच साझा करते भी नजर आए थे। कोलकाता में ममता बनर्जी द्वारा विपक्षी दलों की रैली में भी नायडू नजर आए थे।

Facebook Comments