Myanmar: हादसों के लिहाज से देखा जाए तो साल 2020 काफी बुरा साबित हो रहा है। पहले कोरोना वायरस और उसके बाद कुछ ना कुछ और बुरी ख़बरें आ ही रही हैं। अब एक बुरी खबर म्यांमार से आ रही है। रॉयटर्स न्यूज़ एजेंसी के हवाले से मिली खबर के अनुसार म्यांमार में भारी बारिश के बाद जमीन खिसने की वजह से सैंकड़ो लोग मारे गए हैं। आइये आपको इस हादसे के बारे में विस्तार से बताते हैं।

खदान खिसकने से हुई सौ से ज्यादा लोगों की मौत

More than 100 people Die in Myanmar
Image Source: Reuters

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, म्यांमार में भारी बारिश के बाद खदान खिसकने के बाद वहां काम कर रहे करीबन सौ लोगों की मौत हो गई है। गौरतलब है कि, ये बड़ा हादसा उत्तरी म्यांमार में बारिश की वजह से हुई भूसंख्लन की वजह से हुई है। इस हादसे में सौ जेड खनिकों की मौत की पुष्टि हुई है। बता दें कि, सभी खनिकों के लाश को भूसंख्लन के बाद वहां से बाहर निकला लिया गया है। इस बारे में न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स का कहना है कि, म्यांमार के कचिन राज्य में चीन बॉर्डर के नजदीक भारी बारिश की वजह से हुए इस हादसे के बारे में म्यांमार फायर सर्विसेज डिपार्टमेंट ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए जानकारी दी है कि, जिस समय यह हादसा हुआ उस वक़्त कचिन राज्य के जेड खदान में मजूद स्टोन जमा करने का काम कर रहे थे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, खदान से अब तक कुल 113 लाशें बाहर निकाली जा चुकी हैं।

कैसे हुआ इतना बड़ा हादसा

भारी बारिश की वजह से भूमि संख्लन होना या जमीन खिसक जाना आम बात है। लेकिन इतनी भारी संख्या लोगों की जान जाना काफी बड़ी बात है। बता दें कि, खदान खिसकने के बाद हुई मजदूरों की मौत और उनके शवों को निकालने के लिए आये बचाव दल का कहना है कि, किचन इलाके में काफी तेज बारिश हुई और इसके बाद कीचड़ का एक बड़ा सैलाब जेड स्टोन इक्कठा कर रहे मजदूरों की तरफ आया और एक झटके में सभी मजदूर पत्थरों के नीचे आ गए। यह सब इतनी जल्दबाजी में हुआ कि, किसी को संभलने का मौका भी नहीं मिला। जानकारी हो कि, म्यांमार के इस राज्य में भारी बारिश और भूसंख्लन से आए दिन कोई ना कोई दुर्घटना होती ही रहती है। इस बड़े हादसे को करीब से देखने वाले मून खैंग का कहना है कि, उन्होनें खदान के पास एक बड़े कचरे का ढ़ेर जैसा देखा और वो उसकी तरफ तस्वीर लेने को बढ़े ही थे कि, तभी अचानक उन्हें लोगों के भागने और चिल्लाने की आवाज आई। इस गवाह का कहना है कि, करीबन एक मिनट से भी कम समय में वहां मौजूद सभी मजदूर उसके नीचे आ गए। वो मदद के लिए चिल्लाते रहे लेकिन उनकी कोई उनकी मदद नहीं कर पाया। इस घटना के बारे में म्यांमार पुलिस का कहना है कि, अभी भी खदान में मलबे के नीचे कई मजदूरों की लाश दबे होने की आशंका है। लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से बचाव दल को भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

Facebook Comments