Mughal Garden भारत की राजधानी नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के पीछे के भाग में स्थित मुगल उद्यान अपने किस्म का अकेला ऐसा उद्यान है, जहां विश्वभर के रंग-बिरंगे फूलों की छटा देखने को मिलती है। यहां विविध प्रकार के फूलों और फलों के पेड़ों का संग्रह है। इस उद्यान को देखने वालों की संख्या प्रतिवर्ष बढ़ती जा रही है।

Mughal Garden
NDTV Khabar

इसकी अभिकल्पना ब्रिटिश वास्तुकार सर एडविन लुटियंस ने लेडी हार्डिग के आदेश पर की थी।  एकड़ में फैले इस उद्यान में ब्रिटिश शैली के संग-संग औपचारिक मुगल शैली का मिश्रण दिखाई देता है। यह उद्यान चार भागों में बंटा हुआ है और चारों एक दूसरे से भिन्न एवं अनुपम हैं। यहां कई छोटे-बड़े बगीचे हैं जैसे पर्ल गार्डन, बटरफ्लाई गार्डन और सकरुलर गार्डन, आदि। बटरफ्लाई गार्डन में फूलों के पौधों की बहुत सी पंक्तियां लगी हुई हैं। यह माना जाता है कि तितलियों को देखने के लिए यह जगह सर्वोत्तम है।

Mughal Garden
bachpanexpress

मुगल गार्डन 6  फरवरी 2019 से आम दर्शकों के लिए खोल दिया गया है और यह 10 मार्च तक खुला रहेगा। आम दर्शक गेट नंबर  35 से  आएंगे जोकि नॉर्थ एवैन्यू की ओर पड़ता है। मुगल गार्डन घूमने के लिए अब लोगों को लाइन में लगने की जरुरत नहीं है। बल्कि आप ऑनलाइन टिकट बुक करा सकते हैं।आप ऑनलाइन टिकट बुक करा सकते हैं।  इसके लिए आपको rashtrapatisachivalaya, gov.in पर जाकर plan your visit टैब पर क्लिक करें। इसके बाद एक नया पेज खुलेगा जहां आप ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं। बुकिंग करते ही आपको टाइम बुक होने का मैसेज आ जाएगा। इसके बाद आप वहां पहुंचकर मैसेज को दिखाएंगे फिर आपको एंट्री मिलेगी।

मुगल उद्यान में अनेक प्रकार के फूल देखे जा सकते हैं जिसमें गुलाब, गेंदा, स्वीट विलियम आदि शामिल हैं। इस बाग में फूलों के साथ-साथ जड़ी-बूटियां और औषधियां भी उगाई जाती हैं। इनके लिये एक अलग भाग बना हुआ है, जिसे औषधि उद्यान कहते हैं। मुगल उद्यान वसंत ऋतु में एक माह के लिये पर्यटकों के लिए खुलता है।

Facebook Comments