Namak Satyagrah Smarak गांधीजी की पुण्यतिथि के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 जनवरी को राष्ट्रीय नमक सत्याग्रह स्मारक का उद्घाटन करेंगे। गुजरात के गांव दांडी में 110 करोड़ रुपये की लागत में ‘नमक सत्याग्रह स्मारक’ तैयार किया गया है। ये स्मारक 15 एकड़ भूमि पर बनाया गया है।

PM मोदी दांडी में नमक सत्याग्रह स्मारक का भी करेंगे उद्घाटन(Namak satyagrah smarak)

Namak satyagrah smarak
Dainik Bhaskar

सोलर मेकिंग बिल्डिंग में 14 सॉल्ट मेकिंग पेन हैं। यहां खारा पानी भी उपलब्ध है। पर्यटक जब खारा पानी पेन में डालेंगे, तब पेन के अंदर लगी हुई मशीन पानी का वाष्पीकरण कर देगी और पेन में नमक बन जाएगा। इसमें 41 सोलर ट्री लगाए गए हैं, जिससे हर दिन 144 किलोवाट बिजली उत्पन्न होगी। इसका इस्तेमाल स्मारक में बिजली की आपूर्ति के लिए किया जाएगा।

गाँधी जी की प्रतिमा

Namak satyagrah smarak
Patrika

नमक स्तयाग्रह समारक में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 18 फीट ऊंची प्रतिमा बनाई गई है। स्मारक देश दुनिया में आकर्षण का केंद्र बनेगा। यहां बापू के दांडी मार्च को दर्शाया गया है।

क्रिस्टल लेजर शो

Namak satyagrah smarak
लीजेंड न्यूज़

स्मारक में 80 पदयात्रियों की प्रतिमा बनाई गई है। यहां नमक बनाने के लिए सोलर मेकिंग बिल्डिंग वाले 14 जार भी रखे गए हैं। इसके अलावा सबसे अधिक आकर्षण का केंद्र क्रिस्टल होगा। जो रात के समय लेजर से चमकेगा। इसके साथ ही यहां 24 स्मृतिपथ भी बनाए गए हैं। जो दिखने में बेहद खूबसूरत हैं। यहां आने वाले लोग नमक बनाने की प्रक्रिया देख सकेंगे।

Namak satyagrah smarak
jagranjunction

गांधीजी ने इस आंदोलन को 1930 को चालू किया। इस आंदोलन में लोगें ने गांधी के साथ पैदल यात्रा की और जो नमक पर कर लगाया था उसका विरोध किया। ये आंदोलन पूरे एक साल चला और 1931 को गांधी-इर्विन समझौते से खत्म हो गया।

Facebook Comments