Coronavirus: देश को कोरोना वायरस की चपेट से मुक्त करने के लिए केंद्र सरकार ने जीओएम का गठन किया है। ये उन मंत्रियों का समूह है जो कोरोना से लोगों के बचाव के लिए आवश्यक फैसले ले सकते हैं। सूत्रों की माने तो जीओएम ने अब 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सुरक्षा के मद्देनजर देश के सभी स्कूल, कॉलेज और मॉल को 15 मई तक बंद रखने का सुझाव दिया है। आइये आपको बताते हैं इस खबर से जुड़ी सभी आवश्यक बातों को।

जीओएम मीटिंग में इन प्रमुख नेताओं ने भी लिया हिस्सा

schools colleges may closed till may 15 coronavirus
kashmir

आपको बता दें कि, देश को कोरोना संकट से उभारने के लिए गठित समूह के अध्यक्ष राजनाथ सिंह की भी कल इस मीटिंग में विशेष भागीदारी रही है। इस मीटिंग की ख़ास बात यह रही कि इसमें गृह मंत्री अमित शाह के साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की भी उपस्थिति रही। बता दें कि, इस मीटिंग में उपस्थित सभी मंत्रियों का कहना है कि, केंद्र सरकार भले ही लॉकडाउन को 14 अप्रैल को ख़त्म कर दें लेकिन देश के सभी कॉलेज, स्कूल और मॉल को 15 मई तक बंद रखा जाए। इसके साथ ही साथ सभी धार्मिक और सामाजिक जमावड़ों पर भी सख्ती से रोक लगाई जाए।

इस मामले में केंद्र सरकार का फैसला आना अभी बाकी (Schools Colleges may Closed Till may 15 Coronavirus)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, कोरोना वायरस की कोई भी दवा अभी तक बन कर तैयार नहीं हुई है। देश में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या बढ़कर 5000 के करीब पहुंच गई है। ऐसी स्थिति में जरा सी चूक भी स्थिति को और भी बद से बदत्तर बना सकती है। बता दें कि, जीओएम की मीटिंग में मंत्रियों ने साफतौर पर इस बात को माना है कि, लॉकडाउन हटने के साथ ही सभी चीजों पर छूट देना बेवकूफ़ी होगी। 15 मई तक स्कूल कॉलेजों को इसलिए बंद रखा जा रहा है ताकि कोरोना के मामले और ना बढ़ें। चूँकि मई के बाद स्कूलों में गर्मियों की छुट्टी होती है इसलिए संभव है कि, स्कूल कॉलेज आदि आने वाले 4 जून तक बंद रहेंगे। इसके साथ ही साथ सभी धार्मिक कार्यों पर भी लॉकडाउन के चार हफ़्तों तक पाबंदी लगाने की अपील की गई है। हालाँकि इस पर केंद्र सरकार ने अभी क्या फैसला लिया है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

लॉकडाउन के बाद ड्रोन से की जा सकती है सार्वजानिक स्थलों की निगरानी

जीओएम मीटिंग की कुछ बातों को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपने ट्वीट के जरिए लोगों से शेयर किया है। इसके अलावा सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये बात भी सामने आई है कि, लॉकडाउन खत्म होने के बाद संभव है कि, सार्वजानिक स्थानों की निगरानी ड्रोन द्वारा की जाए। ये प्रस्ताव स्वयं राजनाथ सिंह ने सरकार के सामने रखा है। इसके साथ ही साथ ड्रोन निगरानी इसलिए की जा सकती है ताकि किसी भी सार्वजानिक स्थल पर लोगों का जमावड़ा ना हो। बहरहाल इन नियमों का पालन होगा या नहीं ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा।

Facebook Comments