Donald Trump Visit: 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प भारत आ रहे है। वह एक रोडशो के लिए आ रहे हैं जो अहमदाबाद में आयोजित किया जाएगा, इसी कारन सरकार सभी तैयारी में लगी हुई है। वही अहमदाबाद नगर निगम उनकी आने की तैयारी में व्यस्त है क्योकि वो सब झुग्गी झोपड़ियों को छुपाने के लिए दीवार का निर्माण कर रहे है। ऐसा बताया जा रहा है कि, यह दीवार लगभग आधा किलोमीटर लंबी और 7 फीट ऊंची होगी। यह दीवार देव सरन या सरनियावास स्लम क्षेत्र के सामने आ रही है, जो लगभग 2,500 लोगों का घर है जो कई दशकों से वहां रह रहे हैं।

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, दीवार का निर्माण सरदार वल्लभभाई पटेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट से इंदिरा ब्रिज को जोड़ने वाली सड़क पर किया जायेगा। नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “स्लम क्षेत्र को अनुमानित 600 मीटर की दूरी पर ढकने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार खड़ी की जा रही हैइसके बाद स्ट्रेच के साथ पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा। “ प्रशासन का साबरमती रिवरफ्रंट के किनारे खजूर के पौधे लगाने का इरादा है।

donald trump visit to ahmedabad
swarajyamag

हालाँकि, अहमदाबाद के नगर आयुक्त विजय नेहरा ने द हिंदू को बताया कि “सड़क पर अतिक्रमण को रोकने के लिए दीवार बनाने का निर्णय दो महीने पहले लिया गया था” और इसका अमेरिकी राष्ट्रपति की यात्रा से कोई लेना-देना नहीं है। दीवार के निर्माण को वीआईपी की यात्रा से जोड़ना सही नहीं है। क्षेत्र में मेरी यात्रा के बाद, हमने झुग्गीवासियों के साथ मिलकर अतिक्रमण को रोकने के लिए एक दीवार का निर्माण करने का निर्णय लिया था और दूसरा, पेड़ों को बचाने के लिए जो क्षतिग्रस्त हो रहे थे, “श्री नेहरा ने कहा।

अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (एएमसी) ने यह भी सुनिश्चित किया है कि उस दौरान अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम तक जाने वाले मार्ग पर कोई आवारा कुत्ते या मवेशियां नहीं दिखाई देंगे।

पेड़ों की छंटनी कर दी गई है और खजूर के पेड़ लगा दिए गए हैं और यहां तक ​​कि निर्माणाधीन मेट्रो प्रणाली के बिजली के खंभे और खंभों को भी चित्रित किया गया है, और साथ ही में विशेष सुरक्षा के लिए सड़कों के किनारे विशेष कैमरे भी लगा दिए गए हैं।

इसके अभियान के तहत, अहमदाबाद नगर निगम ने हवाईअड्डे से इंदिरा ब्रिज तक सड़क की सुंदरता को खराब करने वाली झुग्गियों को छिपाने के लिए एक नई दीवार बनाई जा रही है, जहां राष्ट्रपति का काफिला मोटेरा स्टेडियम के रास्ते से गुजरेगा।
मोटेरा में, शहर के उत्तर-पश्चिम की ओर स्थित एक इलाके में, गलियों सहित सभी सड़कों का नवीकरण किया गया है। रिपोर्ट्स के अनुसार इस सभी तैयारी की कीमत 50 रूपये है।

मोटेरा गांव के निवासी रतनभाई रबारी ने कहा, “हम राष्ट्रपति ट्रम्प की इस यात्रा (Donald Trump Visit) के आभारी, जिनकी वजह से हमारे क्षेत्र का पूर्ण बदलाव सुनिश्चित किया है।”

साबरमती नदी के किनारे स्थित मोटेरा स्टेडियम से जुड़े, इलाके को मच्छरों से मुक्त करने के लिए फॉगिंग मशीनों द्वारा बार-बार छिड़काव किया जा रहा है उसके साथ साथ पूरे क्षेत्र को साफ किया जा रहा है।

Facebook Comments