China Cheated now Exposed Amid Coronavirus: कोरोनावायरस से अब तक 200 देशों में लाखों लोगों की मौत हो गई है जिसके चलते पूरी दुनिया के लोग इसका जिम्मेवार सिर्फ और सिर्फ चीन को मान रहे हैं। इसी दौड़ से परेशान होकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार के दिन चीन को जिम्मेदार ठहराते हुए सीधे चेतावनी दे डाली है कि अगर कोरोनावायरस का जिम्मेदार चीन ही है तो इसके बदले चीन को बहुत बड़ा नुकसान भुगतना पड़ेगा। साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने भी अपना गुस्सा जाहिर करते हुए चीन पर पारदर्शिता ना बदल बरतने का आरोप लगाया की वायरस आखिरकार कहां से आया है इसकी गहन जांच होनी आवश्यक है।

 चीन ने लगाया अमेरिका पर आरोप

China Cheated now Exposed Amid Coronavirus
lokmat

जब सारी दुनिया चीन पर उंगली उठा रही थी तब चीन ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि यह अमेरिकी सेनानियों का काम है जो उन्होंने यह वायरस लाकर चीन में छोड़ दिया। परंतु अब यह बात साफ हो गई है कि अमेरिका का इसमें कोई हाथ नहीं है जबकि कुछ विश्लेषकों ने तो यह भी कहा है कि अमेरिका समेत कई सारे पश्चिम देश चीन की इस हरकत की वजह से बहुत ज्यादा परेशान हो चुके हैं।

देशों के बीच हुआ अविश्वास का जन्म

चीन की इस हरकत की वजह से दुनिया भर के कई सारे देशों के बीच अविश्वास की स्थिति पैदा हो चुकी है जिसकी वजह से देशों के बीच संबंध कमजोर पड़ने की संभावना निरंतर बढ़ती दिख रही है। वहीं दूसरी तरफ कोरोनावायरस की उत्पत्ति और उसके सही इलाज को लेकर सभी देशों के लोगों ने सवाल खड़े किए हुए हैं।

कोरोना का भयावह मंजर

जहां चीन से शुरुआत होकर कोरोना देश के 200 शहरों में जा पहुंचा। वहीं चीन के आंकड़ों के अनुसार केवल 5000 मौतें ही चीन में हुई है जबकि अमेरिका में अब तक 40000 लोग को रोना के संक्रमण की वजह से अपनी जान गवा चुके हैं वहीं इटली और स्पेन में मरने वाले लोगों की तो गिनती का कोई आंकड़ा ही बंद नहीं हो रहा है। इसी बात की पुष्टि करते हुए चीन ने अपने बयान बाजी में कहा कि अस्पतालों ने जल्दबाजी के दौरान मौतों का आंकड़ा ठीक से दर्जी नहीं किया। 

वहीं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने अपने बयान में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को और उनकी पूरी सरकार को ही कोरोनावायरस महामारी को पूरे विश्व में फैलने का जिम्मेदार ठहराया है। चीन की सरकार से भी जवाब चाहते हैं कि किस तरह से इतनी तेज यह भारत पूरे विश्व में जा फैला। उनका बस यही कहना है कि ऐसा सिर्फ इस वजह से हुआ कि चीन ने अपने देश में हो रही इस महामारी के बारे में पूरे विश्व को पहले नहीं बताया जिसकी वजह से यह महामारी पूरे विश्व को धीरे-धीरे निगलती जा रही है। 

अब इस महामारी की वजह से कई सारे देश चीन को अपना दुश्मन समझने लगे हैं जिसके चलते कई सारे देशों ने चीन से अपने काफी सारे व्यापारिक संबंध खत्म करने के सोच विचार बना लिए हैं। कई सारे देशों में एंटी चाइना सेंटीमेंट देखने को मिल रहे हैं जिसमें सबसे ऊपर नाम ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ अमेरिका का आ रहा है।

Facebook Comments