Coronavirus China: इस बात से पूरी दुनिया भली भाँती अवगत है कि, चीन के वुहान शहर से ही कोरोना वायरस की शुरुआत हुई जिसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए चीन को जनवरी माह से ही लॉकडाउन कर दिया गया था। हालाँकि अब वहां की स्थिति में सुधार होने के बाद कल 8 अप्रैल को चीन के कोरोना प्रभावित राज्यों से लॉकडाउन हटा दिया गया। इस बीच एक शख्स ने चीनी डॉक्टरों के इलाज के तरीकों पर कुछ सवाल उठाएं हैं। उसका कहना है कि, चीन के डॉक्टर इस वायरस के इलाज के लिए काफी अजीबो गरीब तकनीक का प्रयोग कर रहे हैं।

कोरोना वायरस का ऐसे इलाज कर रहे हैं चीनी डॉक्टर (Coronavirus China Wuhan Shake the Elbow)

coronavirus china wuhan shake the elbow
cityam

आपको बता दें कि, वहां शहर में रहने वाला एक फोटोग्राफर ग्राहम ने चीन में कोरोना वायरस के इलाज के तरीकों पर से पर्दा उठाया है। ग्राहम की माने तो चीनी डॉक्टर इस वायरस का इलाज करने के लिए पुरानी चीनी पद्धति का उपयोग कर रहे थे। ग्राहम ने बताया कि, इलाज के दौरान चीनी डॉक्टर मरीजों से काफी अजीबो गरीब चीजें करने को कहते थे। जानकारी के लिए बता दें कि, प्राचीन चीनी पद्धति को किसी अन्धविश्वास से कम नहीं माना जाता है। ऐसे में जब कोरोना वायरस जैसे खतरनाक वायरस का परिणाम मौत हो सकता है, उस समय अंधविश्वास की चीजें करना चीनी सरकार पर काफी सवाल खड़े करती है।

कोहनी पर मारकर वायरस भगा रहे थे चीनी डॉक्टर

वुहान शहर का रहने वाला ग्राहम नाम के इस फोटोग्राफर ने बताया कि, मैंने चीनी डॉक्टरों को प्राचीन चीनी पद्धति से इलाज करते अपनी आँखों से देखा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, ग्राहम ने बताया कि, हॉस्पिटल में डॉक्टर मरीजों को वायरस शरीर से दूर भगाने के लिए अपनी नाभि को घड़ी की सुई की तरह घूमने को कहते। इसके अलावा डॉक्टर वहां के मरीजों से ये भी कहते नजर आये कि, वायरस दूर करने के लिए अपनी कोहनी पर जोर से मारो इससे वायरस दूर हो जाएगा। ग्राहम का कहना है कि, डॉक्टरों की इस बात को मानकर बहुत से लोगों ने अपनी कोहनी को चोटिल कर लिया था। इसके अलावा ग्राहम ने चीनी सरकार की पोल खोलते हुए कहा कि, चीन की सरकार इस संक्रमण के दौरान मरीजों और उसके परिवार वालों के साथ काफी क्रूरता के साथ पेश आ रहे थे।

Facebook Comments