Egypt Plane Crash: 2016 का वो मनहूस दिन। एक प्लेन में सवार थे 56 मुसाफिर। साथ में 2 पायलट और 5 क्रू मेंबर्स। इजिप्ट एयरलाइंस के विमान ने भरी थी पेरिस से मिस्र की राजधानी काहिरा के लिए उड़ान। तय कर ली थी इसने 3 घंटे 40 मिनट की दूरी, लेकिन तय नहीं कर सका यह अंतिम 20 मिनट का सफर। अचानक हवा में जादू की तरह गायब हो गया प्लेन। क्या यह कोई हादसा था या हाईजैकिंग? कहीं कोई आत्मघाती हमलावर तो प्लेन में नहीं था? क्या यह कोई साजिश थी? आगे जानते हैं।

अचानक टूट गया संपर्क (Egypt Plane Crash in Wardha Story)

इजिप्ट एयरलाइंस के एयरबेस-320 ने काहिरा के लिए उड़ान भरी, लेकिन अचानक बीच आसमान में मिश्र एयर ट्रेफिक कंट्रोल रूम से संपर्क इसका टूट गया। कई मुल्कों के सरहद को पार यह कर चुका था। भूमध्य सागर के ऊपर से उड़ रहा था और मिस्र की सीमा में दाखिल तक हो चुका था, लेकिन लैंड होने से केवल 20 मिनट पहले रात के अंधेरे में समंदर के ऊपर से उड़ता हुआ हवा में यह अचानक गुम हो गया।

रडार से अचानक हुआ था बाहर

egypt plane crash in wardha story
AajTak

सवाल कई खड़े हो रहे थे। आखिर ऐसे प्लेन अचानक से कैसे हवा में गायब हो सकता था? कहीं ऐसा तो नहीं कि किसी ने इसे मार गिराया था? कहीं ऐसा तो नहीं कि हाईजैक करके किसी ने इसे हादसे का शिकार बना दिया था? खबर जैसे ही इसकी गायब होने की फैली, कायरो और पेरिस के चार्ल्स डे गाउले एयरपोर्ट पर तो हड़कंप ही मच गया। सवाल यह पैदा हो रहा था कि जो विमान इतने आराम से एकदम सही-सलामत हवा में उड़ता चला जा रहा था और जिसमें किसी तकनीकी खराबी की भी जानकारी पायलट ने नहीं दी थी, तो अचानक हवा में उड़ते हुए रडार से बाहर जाकर उसका संपर्क कैसे टूट सकता था? बहुत कोशिशें की गईं, लेकिन दोबारा प्लेन से संपर्क हो ही नहीं पाया।

साफ था मौसम एकदम

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांदे ने कह दिया कि किसी भी आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। तकनीकी खराबी की वजह से भी कुछ हो सकता है या हो सकता है कि यह आतंकवादी कार्रवाई हो। वक्त गुजरता रहा और रहस्य गहराता रहा। मौसम बिल्कुल साफ था। प्लेन में कोई तकनीकी खराबी भी नहीं थी। फिर भी अचानक से हवाई जहाज का संपर्क एयर ट्रेफिक कंट्रोल से टूटा था। ऐसे में सवाल तो उठने ही थे।

क्रैश होने का अंदेशा

गायब हुए जहाज को इजिप्टियन आर्म्ड फोर्स, सी-130 और वार्निंग एयरक्राफ्ट भी ढूंढ रहे थे। यहां तक कि मिस्र के पड़ोसी देश ग्रीस ने भी सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था। फिर जांच करने वाली टीम को कुछ ऐसे नाविक जरूर मिल गए थे, जिन्होंने बताया था कि आधी रात को समंदर के ऊपर उन्होंने रहस्यमई रोशनी देखी थी। ऐसे में मिस्र के नागरिक उड्डयन दफ्तर की ओर से यह आशंका जता दी गई थी कि हवाई जहाज शायद भूमध्य सागर में कहीं क्रैश हो चुका है और जो 66 लोग इसमें सवार थे, उनके बचने की कोई उम्मीद भी नहीं है।

Facebook Comments