कोरोना से देशवासियों को बचाने के लिए मलेशिया की सरकार ने भी लॉकडाउन का कदम उठाया हुआ है। इसी बीच यहां के महिला मंत्रालय की ओर से जारी की गई एक सलाह के बाद विवाद खड़ा हो गया है। महिला मंत्रालय की ओर से यहां एक गाइडलाइन जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि महिलाएं घर में रहकर मेकअप करें, लेकिन वे अपने पतियों को परेशान ना करें। इसके बाद से यहां हंगामा मचा हुआ है। लिंगभेद वाली इस टिप्पणी की देशभर में कड़ी आलोचना की जा रही है। यह टिपण्णी महिला मंत्रालय की ओर से चलाए जा रहे अभियान #WomenPreventCOVID19 के तहत की गई है।

जारी की थी ये सलाह

देश में जब लॉकडाउन लगा हुआ है तो ऐसे में महिला मंत्रालय की ओर से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे कि फेसबुक और इंस्टाग्राम के जरिए महिलाओं को यह संदेश दिया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें घर में किस तरीके से रहना चाहिए। इसी क्रम में मंत्रालय की ओर से एक तस्वीर जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि महिलाओं को घर में रहकर अपने पतियों को परेशान करने की जरूरत नहीं है। मंत्रालय का लक्ष्य है कि लॉकडाउन के दौरान घर में घरेलू कलह को बढ़ावा ना मिले। मशहूर कार्टून कैरेक्टर डोरेमोन की आवाज निकालने की भी सलाह मंत्रालय की ओर से महिलाओं को दी गई है। मंत्रालय ने कहा है कि महिलाओं को घर में कपड़ों को साफ रखना चाहिए। किचन और कमरे को पूरी तरीके से स्वच्छ बनाए रखने की जरूरत है।

पैदा हुआ विवाद

विवाद जब बढ़ना शुरू हो गया तो महिला मंत्रालय की ओर से सोशल मीडिया में पोस्ट किए गए कई पोस्ट हटा लिए गए। यूजर्स की ओर से तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं इन पर आनी शुरू हो गई थीं। एक ने लिखा था कि जरा बताइए घर में मेकअप करके और तैयार होकर आखिर किस तरीके से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। एक अन्य यूजर्स ने यह भी लिखा था कि यह 2020 है। अब आगे बढ़ने की जरूरत है और महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर फोकस करने की आवश्यकता है।

लैंगिक असमानता को बढ़ावा

लोगों का कहना है कि इस तरह की पोस्ट डालकर लैंगिक असमानता को देश में बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है। मंत्रालय को यह प्रयास करना चाहिए कि वह इस बारे में सलाह दे कि आखिर घरेलू हिंसा पर किस तरीके से लगाम लगाई जा सकती है।

Facebook Comments