Ajwain ke Fayde: भारतीय रसोई में उपयोग किए जाने वाले मसाले ना सिर्फ खाने का स्वाद और उसका जायका बढ़ाते हैं बल्कि वो सेहत के मामले में भी काफी फायदेमंद होते हैं। बता दें कि भारतीय रसोई में प्रयोग किए जाने वाले कुछ मसाले ऐसे हैं जो सिर्फ भारतीय रसोई में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी उसी प्रकार से प्रयोग होते हैं और अपनी खायिसत की वजह से जाने जाते हैं।

जी हां, आज हम एक ऐसे ही मसाले की बात कर रहे हैं जिसे अजवाइन कहते हैं। बता दें कि अजवाइन मूलरूप से मिस्त्र का मसाला है लेकिन अब भारतीय रसोई में भी ये जरूरी मसालों में से एक बन गया है। अजवाइन में पाए जाने वाले औषधीय गुण पेट के रोगों के लिए काफी लाभकारी होते हैं। घरेलू नुस्खे आजमाने वाले लोग अजवाइन की खासियत से बखूबी वाकिफ होंगे। पेट में गैस, मरोड़ जैसी बीमारियों में अजवाइन काफी लाभकारी माना जाता है। वहीं जो महिलाएं मां बनती हैं उनको अपने पेट को निकलने से रोकने के लिए भी अजवाइन का पानी पीने की सलाह दी जाती है। इसी के साथ पेट वजन को घटाने में भी अजवाइन काफी लाभकारी होता है।

अजवाइन स्वास्थय के लिए तो लाभकारी होता ही है लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि अजवाइन को हमेशा अपने पास रखने से जीवन में सफलता हासिल होती है। इसी के साथ उस व्यक्ति के भाग्य में भी वृद्धि होती है। तो चलिए अब आपको बताते है अजवाइन के फायदों के बारे में।

अजवाइन के 8 फायदे [Ajwain ke Fayde] 

पाचन के लिए लाभदायी [Ajwain for Digestion]

ajwain digestion
youtube

अजवाइन आपके पाचन में काफी लाभकारी होता है। क्योंकि यदि आपका पेट स्वस्थ नहीं है तो आप और भी कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। अजवाइन में पाए जाने वाले औषधीय गुण में से एक है कि अजवाइन में मौजूद सक्रिय एंजाइम से गैस्टिक रस निकलता है जो आपके शरीर को पाचन में मदद करता है। बता दें कि बदलते मौसम के साथ शरीर की पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है ऐसे में यदि आप अजवाइन का सेवन नियमित रूप से करते हैं तो आपको इस तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना होगा। इसी के साथ यदि अपच की वजह से सीने में जलन हो तो आप अजवाइन का सेवन जीरा और अदरक पाउडर के साथ मिलाकर कर सकते हैं। यह सीने में होने वाली जलन को खत्म कर देता है।

गर्भावस्था में लाभदायी [Ajwain Benefits in Pregnancy in Hindi]

pregnancy
theteenlifecenter

जब महिलाएं गर्भावस्था में रहती हैं तो उनके शरीर के हार्मोन में होने वाले बदलाव से उनको खाना पचाने में काफी परेशानी होती है। गर्भाशय के कारण उनका पाचन धीमा हो जाता है। जिस वजह से खाना पचने में परेशानी, पेट का फूलना और गैस बनने जैसी समस्या होती है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं के लिए अजवाइन का सेवन काफी लाभदायी होता है।

गठिया में लाभदायी

joint pain
hindi

गठिया में होने वाले दर्द में भी अजवाइन काफी फायदेमंद होता है। अजवाइन में एंटीइंफ्लेमेटरी यौगिक पाया जाता है जो गठिया में होने वाले दर्द और सूजन से राहत दिलाता है। इसी के साथ इसमें पाए जाने वाले एंटिबायोटिक गुण आर्थराइटिस की बीमारी में भी काफी लाभदायी होते हैं।

गुर्दे के लिए लाभदायी

kidney
youngisthan

अजवाइन में पाए जाने वाले औषधीय गुण किडनी रोगियों के लिए काफी लाभदायी होते हैं। अजवाइन के सेवन से किडनी में होने वाली पथरी से भी निजात मिल जाता है। गुर्दे में पथरी होने पर आप अजवाइन का सेवन शहद और सिरके के साथ कर सकते हैं। बता दें कि इसके लिए आप 2 चम्मच अजवाइन में 1 चम्मच शहद मिलाएं और फिर इसमें एक चम्मच सिरका मिलाकर इसका सेवन नियमित रूप से करें।

मासिक धर्म में लाभदायी

masik dharm
navodayatimes

अजवाइन का पानी पेट संबंधित सभी समस्याओं के लिए लाभदायी होता है। ऐसे में मासिक धर्म के दौरान पेट में होने वाले दर्द में भी अजवाइन का सेवन काफी फायदेमंद होता है और मासिक धर्म के दर्द से राहत दिलाता है। सिर्फ मासिक धर्म के दर्द ही नहीं बल्कि अनियमित मासिक धर्म को भी नियमित करने में अजवाइन काफी लाभप्रद होता है।

वजन कम करने में लाभदायी

weight loss
grihshobha

अजवाइन वजन कम करने में भी काफी लाभकारी होता है। अजवाइन में पाए जाने वाले तत्व शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं, जिसकी वजह से शरीर में फैट और कार्ब बर्न होते हैं जिस वजह से वजन भी कम होता है।

अस्थमा में लाभदायी

Asthama
mentalfloss

अस्थमा रोगियों के लिए भी अजवाइन काफी लाभकारी होता है। अस्थमा से राहत पाने के लिए आपको अजवाइन का पेस्ट बना कर उसे गुड़ में मिलाकर दिन में दो बार इसका सेवन करना चाहिए।

मसूड़ों के लिए लाभदायी

gums
newjerseyortho

वहीं मसूड़ों की सूजन में भी अजवाइन का सेवन काफी फायदेमंद होता है। यदि आपके मसूड़ों में सूजन है तो आप अजवाइन का पेस्ट बना कर के मसूड़ों पर लगाएं, ऐसा करने से आराम मिलेगा। बता दें कि अजवाइन को सबसे पहले भून लें और भूनने के बाद उसका पेस्ट बना लें। पेस्ट में सरसों का तेल मिलाएं और अब उसे सूजे हुए मसूड़े पर लगा लें। ऐसा दिन में 4-5 बार करें। ऐसा करने से मसूड़ों की सूजन में राहत मिलेगी।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।

Facebook Comments