Oxford Big Success on Coronavirus Vaccine: दुनिया भर में कोरोना वायरस के कहर ने कई देशों को समाजिक और आर्थिक स्तर पर बड़ा प्रभावित किया है। कोरोना के चलते पूरे विश्व में लगभग 6 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें भारत में मरने वाले की संख्या 28,000 पार कर चुकी है। इन सबके के बीच एक बड़ी राहत देने वाली खबर मिली है जिससे लग रहा कि जल्द ही इस महामारी पर काबू पाया जा सकेगा। दरअसल लंदन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और चीन चीन कैनसीनो बायोल़जिक्स ने कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण को सफलता पूर्वक पार करने का दावा किया है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन AZD1222 बल प्रोटेक्शन देती है जिससे एंटीबॉडी और टी सेल दोनों बनते हैं।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के जेनर इंस्टिट्यूटके निदेशक एड्रियन हिल ने कहा, ”दूसरे चरण में हजार से ज्यादा लोगों पर परीक्षण के बाद हमें लगता है कि नतीजे सुरक्षित और विश्वनीय रहे हैं। सभी मरीजों की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार देखा गया है।” सब ठीक रहा तो ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी सितंबर तक वैक्सीन के दस लाख डोज़ तैयार कर सकती है। एड्रियन हिल ने कहा कि अगर हम दो बिलियन खुराक तैयार कर लेते हैं तो यह बड़ी कामयाबी होगी। हम चाहते हैं कि वैक्सीन बना रही दूसरी कंपनियां भी जुड़ें जससे बोझ हल्का हो सके।”

हिल ने आगे बताया कि टीके की प्रभावशीलता का मूल्यांकन करने वाले बड़े परीक्षणों में ब्रिटेन के लगभग 10,000 लोगों के साथ-साथ दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील के भी लोग शामिल हैं। ये परीक्षण अभी बड़े पैमाने पर जारी और अमेरिका में जल्द ही एक और बड़ा परीक्षण शुरू होने वाला है। जिसमें लगभग 30,000 लोगों को शामिल किए जाने की संभावना है।

WHO ने ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन को बताया खास

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)के प्रमुख वैज्ञानिक ने कोरोनोवायरस महामारी को रोकने के लिए ऑक्सफोर्ड वैक्सीन को वैश्विक दौड़ में अग्रणी उम्मीदवार बताया है।

कोरोनोवायरस महामारी को रोकने के लिए दुनिया भर में 100 से अधिक टीकों का विकास और परीक्षण किया जा रहा है, जिसने 600,000 से अधिक लोगों को जान ले ली और वैश्विक अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया है।

Facebook Comments