सपने लगभग सभी लोगो को आते है। हमे सपने क्यों आते है इसके स्पष्ट जवाब के लिए वैज्ञानिकों की खोज अभी तक जारी है। एक रिसर्च में सामने आया है कि जो हम देखते है, सुनते है, स्पर्श करते है, या जो करना चाहते है, उन्ही दृश्यों कि टूटी फूटी आधी- अधूरी तस्वीरें हमे सपने के रूप में दिखाई देती है। आईये आपको बताते है सपनो के बारे में कुछ रोचक तथ्य जो शायद आपको पहले किसी ने नहीं बताये होंगे।

सपनों के बारे में 10 रोचक तथ्य। (interesting facts about dreams)

 

1. सभी लोगो सपने देखते है।
बड़े और बच्चे सभी लोगो को सपने आते है। हम एक ही रात में लगभग दो घंटे तक सपने देखते हैं। शोधकर्ताओं ने पाया है कि लोगों को ज्यादातर हर रात अलग-अलग तरह के सपने आते है और एक सपना 5 मिनट से लेकर 20 मिनट तक का होता है। एक सामान्य जीवनकाल में लोग लगभग 6 वर्ष सपने देखने में निकालते है।

2. सपनों को याद रख पाना मुश्किल होता है।
हमारे जागते हि 95% सपने हम भूल जाते है। इसका कारण निकालने के लिए एक रीसर्च की गयी जिसमे नींद लेने वाले व्यक्ति का मष्तिष्क स्कैन किया गया और यह पता लगाया गया कि “Frontal Lobes” – दिमाग का वह भाग जो यादो को बनाये रखने में सबसे ज्यादा समक्ष होता है वह सपने देखते समय काम नहीं करता अर्थात निष्क्रिय होता है।

3. सपनो में दिखाई दिए चेहरे और समय।
आप अपने सपनो में कभी भी नया चेहरा नहीं देख सकते, जो चेहरे आपको सपने में दिखाई देते है वो आपने अपने जीवन में कही न कही कभी न कभी देखे हुए होते है। सपनो में देखा गया समय अधिकाँश लोग सटीकता से नहीं बता पाते।

4. पुरुष और महिलाओ के सपने अलग-अलग होते है।
पुरुष और महिलाओ के सपनो में बहुत फर्क होता है। महिलाये पुरुषो कि अपेक्षा अधिक लम्बे सपने देखती है। पुरुषो के सपनो में क्रोधित सामग्री और शारीरिक गतिविधि ज्यादा होती है और महिलाओ के सपने तुलना, अस्वीकृति और बहिष्कार वाले होते है। महिलाओ के सपनो में पुरुषो की तुलना में अधिक बातचीत होती है। पुरुषो के सपनो में महिलाओ की अपेक्षा अधिक योन उत्तेजना होती है।

interesting facts about dreams

5. जानवर भी सपने देख सकते है।
इंसानो के आलावा जानवर भी सपनो का अनुभव कर सकते है। ऐसा कहा जाता है की जब जानवर नींद में अपनी पूंछ हिलाता है तब वह सपना देख रहा होता है। जानवर भी नींद की उस स्तिथि से गुज़रते है जिस स्तिथि में सपना उत्पन्न होता है। हालांकि यह कहना मुश्किल है कि क्या यह वास्तव में ऐसा हि होता है, क्योकि इस पर रिसर्च पूरी नहीं हुई।

6. सपने को नियंत्रित करना संभव है।
सपनो को अपने अनुसार देखना संभव है हालांकि ऐसा बहुत कम लोग कर पाते है। औसतन हर व्यक्ति ये अनुभव कर चूका होता है। आधी नींद और आधे सपने के बिच एक स्तिथि ऐसी होती है जब आप अपने सपने को निर्देशित या नियंत्रित कर सकते है।

7. सपनो के दौरान आप शक्तिहीन होते है।
आप अपने सपनो में चाहे कितनी हि शारारिक गतिविधिया कर लो परन्तु वास्तव में आप शक्तिहीन पड़े हुए होते हो। ऐसा इसलिए होता है क्योकि सपने देखने के दौरान आपके मोटर न्यूरॉन्स उत्तेजित नहीं होते हैं और यह आपको सोते समय अपने सपनो का अभिनय करने से रोकता है।

8. बहुत सारे सपने सार्वभौमिक होते है।
वैसे तो हर व्यक्ति अलग-अलग सपनो का अनुभव करता है परन्तु अक्सर सभी लोगो को एक ही प्रकार के सपने आते है। जैसे:- कोई आपका पीछा कर रहा हो, आप किसी ईमारत से गिर गए हो, आप एक पल में किसी अन्य जगह पर हो या आप पर किसी ने हमला किया हो।

9. अंधे लोगो के सपने अलग होते है।
अंधे लोगो के पास ऐसे सपने हैं जो अन्य इंद्रियों पर निर्भर हैं, और उनके सपने अभी भी उतने ही तीव्र हैं, जितने कि दृष्टि से। जो लोग किसी घटना में अंधे हो जाते हैं वे अपने सपनों में दृश्य छवियों का अनुभव करते है।

10. काले और सफ़ेद सपने। (Black & White Dreams)
अमेरिका कि एक रिसर्च के अनुसार सभी लोग रंगभरे सपने नहीं देखते। इस रिसर्च के अनुसार ये लोगो कि उम्र के अनुसार होता है। 25 या उससे कम उम्र के लोग काले और सफ़ेद सपने बिलुक ना के बराबर देखते है परन्तु 55 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगो के 75% सपने काले और सफ़ेद होते है।

यह भी पढ़े: पानी में नमक मिला कर नहाने से कई रोगों का होता है अंत (Benefits of Salt Water Bath)

Facebook Comments