Benefits of Drinking Moon Charged Water in Hindi: चांद दिखने में जितना खूबसूरत होता है उतना ही एनर्जी से भरा हुआ भी होता है। जब भी चांद अपनी पूरी रौशनी के साथ निकलता है तो अपने साथ एक नई ऊर्जा लेकर आता है, जिसको आप अपनी जिंदगी के कई हिस्सो में इस्तेमाल कर सकते हैं। पूरे चांद से मिलने वाली ये ऊर्जा आपके शरीर और आत्मा को नई ऊर्जा देती है और आने वाली जिंदगी में पॉजिटिविटी लाती है। चांद से मिलने वाली इस ऊर्जा का उपयोग हम कई अलग-अलग तरीकों से और रस्मों द्वारा कर सकते हैं।

बता दें कि चांद से मिलने वाली इस ऊर्जा का इस्तेमाल वैज्ञानिक और धार्मिक तौर पर किया जाता है। कुछ लोग धार्मिक मान्यताओं के चलते चांद से मिलने वाली इस ऊर्जा को ग्रहण करते हैं तो वहीं कुछ लोग वैज्ञानिक तौर पर चांद से मिलने वाली इस ऊर्जा को महत्व देते हैं। लोग चांद की इस ऊर्जा को ग्रहण करने के लिए मून वाटर का उपयोग करते हैं। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में बताएंगे कि किस तरह से चांद से मिलने वाली ये ऊर्जा आपके शरीर के लिए लाभदायी होती है।

बता दें कि चांद के पानी यानी कि मून वाटर में कई तरह की बीमारियों का खात्मा करने की क्वालिटी होती है। बता दें कि सिर्फ फिजिकली ही नहीं बल्कि ये हमारे शरीर की ऊर्जा को भी बूस्ट करता है। इसमें पाए जाने वाले तत्व शरीर के लिए हर तरीके से लाभदायी होते है। मून वाटर में ऐसे कई तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को बीमारियों से दूर रखने के साथ ऊर्जावान भी रखते हैं।

मून वाटर पर रिसर्च में ये बात सामने आई हैं कि पानी अपने आस-पास की एनर्जी को एब्सार्ब करता है। उदाहरण के तौर पर यदि हम पानी को बर्फ बनाने के लिए रखते हैं और उसके आस पास सकारात्मक ऊर्जा होती है तो वो बर्फ क्रिस्टल क्लियर जमती है। वहीं, यदि पानी के पास निगेटिव एनर्जी होती है तो बर्फ चिटकी और टूटी हुई होती है। इसका साफ मतलब है कि पानी अपने आस पास की एनर्जी को अवशोषित करता है। अत: जिस पानी को पूरे चांद की रोशनी में चार्ज किया जाता है वह बहुत ही लाभदायी होता है।

कैसे बनता है फुल मून वाटर

moon water
thewitchesbox

चार्जड मून वाटर को बनाने का तरीका बेहद ही आसान होता है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आपकी इंटेंशन और आपकी खुद की एनर्जी सकारात्मक हो। क्योंकि आपकी एनर्जी भी पानी को प्रभावित करती है। सबसे पहले एक कांच का कंटेनर लें, क्योंकि कांच पूर्ण रूप से एक प्योरेस्ट धातु होता है। आप कांच का जार, ग्लास या फिर कांच से बनी किसी भी वस्तु का उपयोग कर सकते हैं, क्योंकि ये क्लियर होता है और इससे चांद से मिलने वाली एनर्जी सीधे पानी पर पड़ती है। आपको जितना पानी चार्ज करना हो उसे कंटेनर में भर दें। उसके बाद इसे ढंक दें और ऐसी जगह पर रख दें जहां से उस पर ज्यादा से ज्यादा चांद की रौशनी पड़ सके। बता दें कि कंटेनर को ऐसी जगह पर रखें जहां से उस पर सीधे चांद की रौशनी पड़े और रात भर के लिए कंटेनर को वहीं पर रखा रहने दें।

कैसे करें मून चार्जड वाटर का उपयोग [Moon Charged Water for Pcos]

moon water
dropsofyoga

अगली सुबह उस पानी को वहां से हटा लें। फिर सकारात्मक ऊर्जा के साथ ही पानी की पहली सिप लें। बता दें कि आपको हर सुबह उठने के बाद उस पानी का एक घूंट अवश्य पीना है। ऐसा आपको 28 दिनों तक करना है, जब तक दोबारा से पूरा चांद यानि कि पूर्णिमा की रात ना आ जाए।

चांद की रौशनी में चार्जड ये पानी आपकी सेहत के लिए काफी लाभदायी है। इसका निरंतर सेवन करने से आपको इससे होने वाले फायदों का एहसास खुद ब खुद हो जाएगा। कहा जाता है कि पूर्णिमा की रात में चांद से जो एनर्जी निकलती है वो बहुत ही लाभदायी होती है और इस एनर्जी में चार्जड वाटर आपके लिए भी काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।

Facebook Comments