Three Types Of Deadly Coronavirus: कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में जारी जांच में यह सामने आया है कि दुनिया में महामारी के रूप में फैले कोरोना वायरस में मुख्य रूपी तीन प्रकार हैं। जांच में किये गए टेस्ट से ये भी माना जा रहा है कि इस महामारी का जन्म चीन से हुआ जो एक चमगादड़ से फैला कोरोना वायरस के संदर्भ में एक नया शोध सामने आया है। इस जांच से यह पता चला है कि दिन प्रतिदिन महामारी का रूप ले रहे कोरोना वायरस के तीन प्रकार है। इन्हें टाइप-ए’, टाइप-बी’ और ‘टाइप-सी’ श्रेणी में बांटा गया है।

चीन से उत्पन्न हुआ वायरस का तीनों प्रकार (Three Types Of Deadly Coronavirus)

यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका के माउंट सिनाई हॉस्पिटल के जीनोम के जांच के मुताबिक़ ये बात स्पष्ट हुई है कि अमेरिका के न्यूयॉर्क में फैले कोरोना वायरस की शुरुआत यूरोप से हुई। कोरोना वायरस की महामारी का दूसरा कारण अमेरिका के पश्चिम में स्थित चीन है जहां से वायरस की ये नस्ल उत्पन्न हुई। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी का मानना है कि इस वक़्त दुनिया में फैले कोरोना वायरस रूपी इस महामारी का मुख्य कारण वायरस के ये तीन टाइप हैं।

Three Types Of Deadly Coronavirus
jagran

चमगादड़ से हुआ है इस वायरस का फैलाव

आप को बता दें कि डेली मेल के एक संकलन से यह पता चला कि कैंब्रिज यूनिवर्सिटी की जांच में जुटी टीम का मानना है कि इस वायरस का संक्रमण चमगादड़ से पैंगोलिन जैसे किसी जानवर में संक्रमित हुआ था। इसके बाद यह चीन में स्थित वुहान के मीट मार्किट तक पहुंचा जहां से इसने इंसानों को संक्रमित करने की शुरुआत कर दी।
यूनिवर्सिटी ने जानवरों से फैले वायरस के इस टाइप को कोरोना वायरस के ‘टाइप ए’ श्रेणी में रखा है। शोधकर्ताओं के मुताबिक़ यह वायरस ज़्यादा समय तक चीन में मौजूद नही रहा। लेकिन दिसंबर 2019 में इसका संक्रमण जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका तक जा पहुंचा।

टाइप सी को माना जा रहा है बेहद खतरनाक

रिसर्च टीम ये भी बताती है कि इस वायरस का परिवर्तित रूप ‘टाइप-बी’ है। ‘टाइप-बी’ वायरस भी चीन में हज़ारों लोगों की हुई मौतों का ज़िम्मेदार है। चीन में महामारी का रूप लेने के बाद इस टाइप-बी वायरस ने दुबारा यूरोप, दक्षिण अमेरिका, और कनाडा में अपना जानलेवा प्रकोप दिखाया। वहीं कोरोना वायरस ‘टाइप-सी’ सिंगापुर, इटली, और चीन के हांगकांग में हज़ारो की मौत का कारण बना। जांच टीम बताती है कि अमेरिका में संक्रमित मरीज़ों में अधिकतर मरीज़ कोरोना वायरस ‘टाइप-ए’ से संक्रमित पाए गए हैं। इसका संक्रमण चीन से होता हुआ अन्य देशों के जरिये अमेरिका तक पहुँचा।

अब तक एक लाख लोगों की हो चुकी है मौत

आप को बता दें कि कोरोना वायरस से दुनिया मे अब तक 17,10,135 केस दर्ज कराए जा चुके हैं जिनमें 12,24,558 मामले एक्टिव केस की श्रेणी में हैं। इसके बाबत दुनिया में वायरस की चपेट से 1,03,506 लोग अब तक जान गवां चुके हैं। वहीं इन मामलों में कुल 5,03,177 मामले अकेले अमेरिका के दर्ज किए गए हैं। जिनमें 4,57,102 एक्टिव केस बताए जा रहे हैं और संक्रमण से मरने वालों की संख्या अब तक 18,761 हो चुकी है। अमेरिका के न्यूयॉर्क में यह संक्रमण सबसे तेज़ी से फैला है। न्यूयॉर्क में संक्रमित रोगियों की संख्या लगभग 16000 के पार है और मरने वालों की संख्या का आंकड़ा भी 7000 के पार जा चुका है। अमेरिका के राज्यों में न्यूयिर्क के बाद न्यूजर्सी, मिशिगन, कैलिफ़ोर्निया, मैसाचुसेट्स, पेनसिलवेनिया, लुज़ियाना, फ़्लोरिडा, इलिनोएज़, टेक्सास और जॉर्जिया कोरोना वायरस से संक्रमित राज्यों में टॉप टेन में शामिल हैं।

Facebook Comments