Inspirational Story of Aryan: सपने देखने का हक सबको होता है। लेकिन सबके सपने पूरे होंगे या नहीं ये सिर्फ उसी पर निर्भर करता है। कई लोग कहते हैं कि ज्यादा बड़े सपने नहीं देखने चाहिए या फिर अपनी चादर से ज्यादा पैर नहीं पसारने चाहिए, लेकिन ये बातें गलत हैं। जब सपने बड़े देखेंगे तभी तो पूरा कर पाएंगे। हमने आपको इसके पहले भी कई ऐसे लोगों की कहानियां बतायी हैं जिन्होंने अपने सपनों को साकार किया है। जिसके मन में लगन होती है वो अपने सपनों को पूरा करने का रास्ता निकाल ही लेता है।

तो चलिए आज हम आपको बताते हैं एक ऐसे ही लड़के की कहानी जिसने अपने सपनों को पूरा कर दिखाया और सिर्फ अपने नहीं बल्कि अपने मां-बाप के सपनों को भी साकार किया। हर मां-बाप चाहता है कि उसके बच्चे का जीवन अच्छे से बीते, उसे किसी बात की कमी ना हो लेकिन वक्त और हालात हर मां-बाप की इस ख्वाहिश को पूरा नहीं कर पाते। ऐसा ही कुछ हुआ आर्यन के माता-पिता के साथ भी। जी हां, आर्यन वही लड़का है जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

inspired story of aryan
dontgiveupworld

चौकीदारी करते थे पिता

बता दें कि आर्यन को बचपन से ही चांद-सितारों में बड़ी ही दिलचस्पी थी। बचपन से ही वो उनके बारे में हर बात जानना चाहता था। लेकिन आर्यन के पिता एक चौकीदार थे और अखबार बांटने का काम करते थे। उनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी कि वो आर्यन के सपने को पूरा करने के लिए किसी अच्छे महंगे स्कूल में उसका दाखिला करवा पाएं। लेकिन अपने बच्चे की दिलचस्पी को देखते हुए उसके पिता ने किसी तरह आर्यन का एडमिशन बस्ती के एक प्राइवेट स्कूल में करा दिया। अंतरिक्ष से जुड़ी हर बात जानने के लिए आर्यन ने स्कूल की ‘एस्ट्रोनॉमी वर्कशॉप’ में एडमिशन ले लिया। इस वर्कशॉप में आने के बाद ही आर्यन ने पहली बार टेलीस्कोप से ग्रहों को देखा।

आर्यन ने नहीं मानी हार

aryan
thelogicalindian

जब आर्यन ने शनि ग्रह को और अंतरिक्ष को देख लिया तो उसके मन में उठने वाले सवाल और बढ़ गए। तभी आर्यन को पता भी लग गया कि उसके जीवन का लक्ष्य क्या है और उसको इसे पाने के लिए क्या करना है। लेकिन जब आर्यन ने इस बारे में अपने मां-बाप से बात की तो वो लोग उसके इस सपने से खुश नहीं थे। लेकिन आर्यन ने किसी की नहीं सुनी और वो अपना सपना पूरा करने में लग गया।

घरवालों ने नहीं की बात

आर्यन की इस बात से घरवाले इतने नाराज हुए कि उन्होंने कई दिनों तक उससे बात तक नहीं की, लेकिन आर्यन हार नहीं मानने वाला था। उसने टेलीस्कोप खरीदने के लिए पैसे बचाने शुरू किए। वो पैदल स्कूल जाने लगा, इसी के साथ छोटे-मोटे काम भी करने लगा। जिसके बाद पैसे बचाकर आर्यन ने एक टेलीस्कोप खरीदा। आर्यन की मेहनत रंग लाई और उसने महज 14 वर्ष की उम्र में एक Asteroid  ढूंढ निकाला।

पूरा किया हर सपना

आर्यन रातों-रात फेमस हो गया। उसे अलग-अलग कॉलेजों से लेक्चर देने के लिए बुलाया जाने लगा, जिसके लिए उसे पैसे मिलने लगे। आर्यन ने पहले महीने में ही 30 हजार रुपए कमाए। आर्यन अभी महज 19 साल का है लेकिन उसने परिवार की स्थिति काफी मजबूत कर दी है। उसने छोटी सी उम्र में अपने मां-बाप के हर सपने को पूरा किया। उसने अपने माता-पिता को प्लेन में सफर करवाया और अब जल्द ही वह उन्हें उस होटल में ठहराने वाला जहां उसके पिता चौकीदारी करते थे।

Facebook Comments