Ganesh Chaturthi 2020: मुंबई वासियों का सबसे बड़ा त्यौहार गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) करीब आ रहा है। इस दौरान पूरे मुंबई में गणपति बाप्पा के अलग-अलग पंडाल का आयोजन किया जाता है। नौ दिनों तक मनाए जाने वाले इस त्यौहार को काफी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। गणेश चतुर्थी के दौरान मुंबई में जिस पंडाल में सबसे ज्यादा भीड़ होती है वो है “लालबाग का राजा”, यहाँ गणेशोत्सव के दौरान काफी ज्यादा संख्या में भक्त आते हैं। लालबाग के राजा का काफी ज्यादा महत्व भी है, कहते हैं कि, बाप्पा के दरबार में आने वाला कोई भक्त खाली हाथ नहीं लौटता। लेकिन इस साल गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर लालबाग़ के राजा का दरबार नहीं लगेगा। मुंबई मिरर की एक खबर के अनुसार लालबाग गणेशोत्सव मण्डली ने यह फैसला लिया है कि, वो इस साल गणेश चतुर्थी नहीं मनाएंगे। आइये आपको बताते हैं आखिर क्या है इसकी वजह।

इस वजह से लिया गणेश चतुर्थी ना मानने का फैसला

Ganesh Chaturthi 2020
Image Source – Visittnt.com

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, लालाबाग़ गणेशोत्सव मंडली ने इस साल गणेश चतुर्थी न मानने का फैसला कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए लिया है। चूँकि कोरोना वायरस का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है, ऐसे में किसी भी आयोजन का किया जाना खतरनाक साबित हो सकता है। जानकारी हो कि, मुंबई में गणेश चतुर्थी के दौरान पंडालों में काफी ज्यादा भीड़ उमड़ती है। इसलिए ऐसे में संक्रमण बढ़ने का खतरा सबसे ज्यादा रहेगा। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए लालाबाग़ गणेशोत्सव मंडली ने इस साल बाप्पा का दरबार न लगाने का फैसला लिया है। लालबाग सहित अन्य छोटे पंडालों की समितियों ने भी इस साल गणेश उत्सव ना मानने का फैसला लिया है। बता दें कि, लालाबाग़ गणेशोत्सव (Ganeshotsav Mandal) मंडली ने ट्वीट कर इस बात की घोषणा की है कि, इस साल वो सिर्फ चार फुट के बाप्पा की मूर्ति ही स्थापित करेंगे और लोग उनका दर्शन ऑनलाइन कर सकेंगे।

गणेश उत्सव की जगह पर मनाया जाएगा “आरोग्य उत्सव”

गौरतलब है कि, जिस लालबाग के राजा के दरबार में गणेश चतुर्थी के दौरान हज़ारों की संख्या में लाइन लगाकर लोग दर्शन के लिए खड़े रहते थे, उन्हें इस साल केवल ऑनलाइन ही देखा जा सकेगा। लालबाग के राजा का दर्शन करने हर साल केवल आम लोग ही नहीं बल्कि कई बॉलीवुड सितारे भी आते हैं। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इस साल ऐसा संभव नहीं हो पायेगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, लालाबाग़ गणेशोत्सव मंडली ने इस साल फैसला लिया है कि, वो धूम धाम से गणेश उत्सव मानने की जगह “आरोग्य उत्सव” का आयोजन करेंगे। इस आयोजन में समिति द्वारा कैंप लगाकर ब्लड और प्लाज्मा डोनेशन का काम किया जाएगा। इतना ही नहीं बल्कि कोरोना पीड़ितों के लिए लालाबाग़ गणेशोत्सव मंडली गणेश उत्सव के मौके पर महाराष्ट्र मुख्यमंत्री फण्ड में 25 लाख रूपये की राशि भी जमा करवाएगी।

यह भी पढ़े

बता दें कि, प्लाज्मा डोनेशन का काम ये मंडली मुंबई नगरपालिका के साथ मिलकर करेगी। इसके साथ ही साथ इस समिति ने कोरोना वायरस की वजह से मरने वाले पुलिस कर्मियों के परिवार को भी मदद प्रदान करने का फैसला लिया है।

Facebook Comments