Maha Laxmi Mantra दीपावली महालक्ष्मी को प्रसन्न करने का पर्व है। प्रस्तुत मंत्रों में से किसी एक का चयन करें और दीप पर्व पर बस उसी पर मन को एकाग्र करें तो अवश्य लाभ होगा। प्रतिदिन इन मंत्रों के जाप से आत्मविश्वास बढ़ता है और दिन की शुभता मिलती है। अगर आप विधि-विधान से बड़ी पूजा करने में असमर्थ हैं पर महालक्ष्मी को प्रसन्न करना चाहते हैं।

तो इन सरल महामंत्रों का जाप अवश्य करें। (Maha Laxmi Mantra)

मंत्र 1 
ॐ ह्रीं श्री क्रीं क्लीं श्री लक्ष्मी मम गृहे धन पूरये,
धन पूरये, चिंताएं दूरये-दूरये स्वाहा:।
दिवाली के दिन प्रात:काल स्नानादि से निवृत्त होकर स्वच्छता से धूप देकर, दीप जलाकर 108 बार उपरोक्त मंत्र को एकाग्रचित्त होकर जपने से मनोवांछित कामना की पूर्ति होती है।
मंत्र 2 
ॐ ह्रीं ह्रीं श्री लक्ष्मी वासुदेवाय नम:।
इस मंत्र की 11 माला दिवाली की सुबह शुद्ध भावना से दीप जलाकर और धूप देकर जपने से धन, सुख, शांति प्राप्त होती है।
मंत्र 3 
पद्मानने पद्म पद्माक्ष्मी पद्म संभवे
तन्मे भजसि पद्माक्षी येन सौख्यं लभाम्यहम्।।
उपरोक्त मंत्र की दीपावली पर धूप, नेवैद्य के साथ दीप जलाकर प्रात: व रात को एक माला जपने से लक्ष्मी सुख, समृद्धि और ऐश्वर्य का वरदान देती हैं।
मंत्र 4 
ॐ आं ह्रीं क्रौं श्री श्रिये नम: ममा लक्ष्मी
नाश्य-नाश्य मामृणोत्तीर्ण कुरु-कुरु
सम्पदं वर्धय-वर्धय स्वाहा:।
एकाग्रचित होकर, दीप जलाकर, धूप करके उपरोक्त मंत्र कागज पर 108 बार लिखते हुए उच्चारण करने से दीपावली के एक माह में दरिद्रता दूर होकर सर्व सुख और लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।
मंत्र 5 
ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:
उपरोक्त मंत्र की 11 माला दिवाली और फिर प्रति दिन जपने से धन-धान्य की प्राप्ति होती है।
मंत्र 6
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं नम:
इस मंत्र की दीपावली के दिन प्रात: सात माला जपने से हर कार्य से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।
मंत्र 7 
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं महालक्ष्म्यै नम:।
उपरोक्त मंत्र की 11 माला जपने से कर्ज से मुक्ति मिलती है।
मंत्र 8 
ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं अर्ह नम: महालक्ष्म्यै
धरणेंद्र पद्मावती सहिते हूं श्री नम:।
इस मंत्र की 11 माला जपने से प्रत्यक्ष लाभ होता है। लक्ष्मी का अभाव नहीं रहता है। यह चमत्कारी मंत्र अनुभूत है।
यह दीपावली आप सभी की लिए शुभ हो।
Facebook Comments