Cricket Rules in Hindi: क्रिकेट….गली मोहल्ले से लेकर दुनिया में हर जगह खेला जाने वाला वो खेल जिसे शायद ही कोई बच्चा होगा जिसने इसे ना खेला हो। हाथ में बैट और गेंद लिए आपको छोटे छोटे बच्चे दिनभर क्रिकेट खेलते नज़र आसानी से आ जाते हैं। क्रिकेट हर किसी का पसंदीदा खेल है। ये एक आउटडोर खेल है जिसमें बैट, बॉल और स्टम्प सबसे अहम होता है। मुकाबला दो टीमों के बीच होता है और हर टीम में कुल 11 खिलाड़ी होते हैं। इसके अलावा 12वां सदस्य भी होता है। अगर बाकी किसी खिलाड़ी को चोट लग जाती है तो 12वां खिलाड़ी उसकी जगह लेता है। इस खेल का निर्णय 2 अंपायर मिलकर करते हैं जो मैदान में ही रहते हैं जबकि तीसरा होता है 3rd अंपायर जो मैदान में लगे तमाम कैमरों के माध्यम से फैसला लेता है।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट तीन तरह का खेला जाता है।

  1. टेस्ट क्रिकेट – जो पांच दिनों तक चलता है…इसमें ओवर नहीं होते, बल्कि एक टीम के सभी सदस्यों को आउट करना होता है।

2. वनडे मैच – ये एक दिवसीय मैच होता है जो 50-50 ओवर का खेला जाता है। एक ओवर में 6 गेंद डाली जाती है।

3. 20-20 – इसमें मैच केवल 20-20 ओवर का ही खेला जाता है।

आज हम आपको क्रिकेट के नियमों के बारे में जानकारी देंगे। लेकिन क्रिकेट के नियम अलग अलग है। जैसे- रन बनाने के अलग नियम, आउट होने के अलग नियम, बॉलिंग के अलग नियम तो बल्लेबाज़ी के भी अलग नियम। लिहाज़ा हम आपको हर एक की अलग जानकारी  देने जा रहे हैं। सबसे पहले बात क्रिकेट में रन बनाने के नियमों और तरीकों की।

क्रिकेट में रन बनाने के तरीके और नियम [Cricket Rules in Hindi]

क्रिकेट में तीन तरह से रन बनाए जा सकते हैं।

  1. विकेट के बीच दौड़ कर – पिच के दोनों तरफ स्टम्प होते हैं और दोनों तरफ एक-एक बल्लेबाज खड़ा होता हैं जब खेलने वाला बल्लेबाज बॉल को मारता हैं और रन लेने के लिए दोनों बल्लेबाज सामने वाले स्टम्प की तरफ दौड़े लेकिन वो आउट ना हो तो रन बन जाते हैं। हालांकि इस दौरान गेंदबाजी करने वाली टीम की कोशिश होती हैं कि वो गेंद को पकड़ कर बल्लेबाज के स्टम्प तक पहुँचने से पहले स्टम्प को गेंद से मार कर आउट कर दें।

2. चौका – जब बल्लेबाज गेंद को मारता हैं और गेंद मैदान पर दौड़ती हुई निर्धारित सीमा के पार जाती हैं तब उसे चौका कहते हैं,  इसमें बल्लेबाज़ को चार रन मिलते हैं।

3. छक्का –  जब बल्लेबाज गेंद को मारता हैं और बॉल  हवा में बिना टप्पा खाये सीमा के पार जाती हैं तब उसे छक्का यानि सिक्सर कहते हैं, इसमे बल्लेबाज़ को 6 रन मिलते हैं।

एक और तरीका है जिसके जरिए बल्लेबाज़ को रन मिलते हैं। हालांकि ये रन बनाने का तरीका नहं है। अगर  गेंदबाज गलत बॉल डाल दें तो सामने वाली टीम को हर गलत बॉल पर एक रन दिया जाता हैं। इसे अतिरिक्त रन कहा जाता है।

गेंदबाजी के तरीके और नियम [Cricket Rules in Hindi]

गेंदबाजों को मुख्य तौर पर दो भागों में बांटा गया है। पहला तेज़ गेंदबाज़ और दूसरा स्पिन गेंदबाज़। सभी गेंदबाज 6 गेंद का एक ओवर फेंकते हैं और उसमें सामने वाले बल्लेबाज को आउट करने या स्कोर न करने देने की कोशिश करते हैं।

चलिए अब आपको बताते हैं क्रिकेट में गलत बॉल किसे कहा जाता है।

  1. नॉ बॉल – अगर गेंदबाज द्वारा नियम के विरुद्ध गेंद डाली जाए तो वो नॉ बॉल कहलाती है। जैसे –
  • गलत तरह से हाथों का इस्तेमाल

  • गेंद की ऊँचाई बल्लेबाज से कई गुना ज्यादा उपर होना

  • फील्डर का गलत पोजीशन पर होना

  • गेंदबाज का पैर रिटर्न क्रीज़ से बाहर होना,

नॉ बॉल होने पर सामने वाली टीम को एक अतिरिक्त रन दिया जाता हैं और उस बॉल पर रन आउट के अलावा कोई आउट मान्य नहीं होता।

2. वाइड बॉल – जब गेंद बल्लेबाज से बहुत दूर होती हैं जिसे वो किसी भी कंडीशन मे खेल नहीं सकता उसे गेंदबाज की गलती माना जाता हैं और बल्लेबाज टीम को अतिरिक्त रन दिया जाता हैं।

3. बाई – जब बॉल बल्ले से टच नही करती और विकेट कीपर भी उसे छोड़ देता हैं उस वक्त बल्लेबाजों को रन दौड़ने का वक्त मिल जाता हैं उसे बाई बॉल कहते हैं।

4. लेग बाई – जब बॉल बल्ले से न टकराकर बल्लेबाज से टकराती हैं और दूर चली जाती हैं उस वक्त भी बल्लेबाज को रन दौड़ने का मौका मिल जाता हैं उसे लेग बाई कहते हैं।

क्रिकेट में आउट होने के प्रकार और नियम

  1. बोल्ड – बल्लेबाजी करते समय अगर गेंद फेंकने के बाद स्टंप से जा टकराई और गिल्लियां गिर जाए तो उसे बोल्ड कहते हैं अगर टकराने पर गिल्लियां नहीं हिली या गिरी नहीं तो नॉट आउट होता हैं।

2. कैच – बल्लेबाज ने गेंद को हवा में मारा और बिना टप्पा खाए बॉल को फील्डर ने पकड़ लिया तो उसे कैच आउट कहते हैं।

3. लेग बिफोर विकेट (LBW) – जब गेंद बल्लेबाज के पैर से टकराए और ऐसा टकराती हैं ऐसा कई बार होता हैं लेकिन जब ऐसा लगे की बॉल लेग से ना टकराती तो विकेट पर लग सकती थी उस वक्त एलबीडबल्यू आउट दिया जाता हैं।

4. रन आउट – जब बल्लेबाज रन के लिए विकेट के बीच दौड़ते हैं तब अगर बॉल किसी भी फील्डर ने पकड़ ली और बल्लेबाज के विकेट तक पहुँचने से पहले विकेट को हिट कर दिया तब उसे रन आउट माना जाता हैं।

5. हिट विकेट – जब बल्लेबाज की गलती से विकेट गिर जाता हैं उसे हिट विकेट कहते हैं।

6. गेंद दो बार मारना – बल्लेबाज को गेंद एक बार ही खेलने की अनुमति होती हैं अगर वह आउट होने के डर से उसे फिर से टच करता हैं तो आउट दिया जाता हैं।

7. स्टंप्ड आउट – जब बल्लेबाज बॉल को टच नहीं करता और रन के लिए दौड़ता हैं उस वक्त विकेट कीपर बॉल से उसे आउट कर सकता हैं अगर विकेट कीपर दूर से विकेट पर बॉल फेंक कर मारता हैं तो उसे रन आउट कहते हैं लेकिन जब वो हाथ में बॉल लेकर विकेट टच करता हैं तो उसे स्टंप्ड आउट कहते हैं।

8. बल्लेबाज़ द्वारा गेंद पकड़ना – अगर बल्लेबाज गेंद को हाथ से पकड़ ले या आउट से बचने के लिए उसे हाथ से टच करे तो वह आउट माना जाता हैं।

9. टाइम आउट – एक बल्लेबाज के आउट होने के बाद अगर दूसरा बल्लेबाज 3 मिनट के अंदर खेलने नहीं पहुंचा तो वह आउट माना जाता हैं। इसे टाइम आउट कहते हैं।

10. बाधा डालना – जब बल्लेबाज दूसरी टीम के खिलाड़ियों को बॉल पकड़ते वक्त जान बूझकर उनके सामने आ जाए तब उसे आउट कर दिया जाता हैं।

Facebook Comments