(Ramakant Achrekar Death) क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट की बारीकियां समझने वाली कोच रमाकांत आचरेकर का 87 साल की उम्र में निधन हो गया है। अपने गुरु के निधन की खबर सुनने के बाद सचिन दुख में पूरी तरह से डूब गए हैं।

सचिन के कोच रहे रमाकांत आचरेकर का निधन (Ramakant Achrekar Death)

Ramakant Achrekar Death
India Today

अपना दुःख प्रकट करते हुए सचिन तेंदुलकर ने कहा आचरेककर सर की मौजूदगी में क्रिकेट स्वर्ग में भी धन्य हो गया होगा। आप जहां भी हैं, वहां और सिखाते रहें। उनके कई छात्रों की तरह, मैंने सर के मार्गदर्शन में क्रिकेट की अपनी एबीसीडी सीखी। मेरे जीवन में उनके योगदान को शब्दों में कैद नहीं किया जा सकता है। उन्होंने उस नींव का निर्माण किया, जिस पर मैं खड़ा हूं। पिछले महीने, मैं अपने कुछ छात्रों के साथ सर से मिला और साथ में कुछ समय बिताया। हमने पुराने समय को याद करते हुए एक हंसी भरे पल शेयर किए।

Ramakant Achrekar Death
Dailyhunt

सचिन ने कहा, आचरेकर सर ने हमें सीधे खेलने और सीधे जीवन जीने के गुण सिखाए। हमें अपने जीवन का हिस्सा बनाने और अपने कोचिंग मैनुअल से हमें समृद्ध बनाने के लिए धन्यवाद। वेल प्लेडसर आप जहां भी है वहां और सिखाते रहें।

सचिन तेंदुलकर के अलावा कोच आचरेकर ने विनोद कांबली और अजीत अगरकर को भी कोचिंग दी, जिन्होंने भारत के लिए 100 से अधिक मैच खेले। अन्य विद्यार्थियों में चंद्रकांत पंडित, संजय बांगर, प्रवीण आमरे और रमेश पोवार शामिल थे जिन्होंने कोच के रूप में सफलता हासिल की। पिछले साल शिक्षक दिवस पर, तेंदुलकर ने खुलासा किया कि कैसे उन्हें आचरेकर द्वारा अनुशासित किया गया था और इसने उनके करियर को सही रास्ते पर रखने में मदद की थी।

Facebook Comments