मौका – यूएस ओपन का ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट। कोर्ट में एक तरफ हाथ में टेनिस रैकेट थामे दुनिया के महान टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर…और दूसरी तरफ 22 साल का एक नौसिखिया युवा सुमित नागल। तब शायद ही किसी ने सोचा होगा कि कुछ ही मिनटों में एक इतिहास रचा जाने वाला है। जब इस मैच का पहला सेट हुआ तो ना देखने वालों को यकीन हुआ ना सुनने वालों को। क्योंकि भारत के 22 साल के सुमित नागल (Sumit Nagal) ने 20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता रोजर फेडरर (Roger Federer) को यूएस ओपन के शुरुआती सेट में 6-4 से हराकर एक नया कीर्तिमान रच दिया।  हालांकि अंत में फेडरर इस मुकाबले में 4-6, 6-1, 6-2, 6-4 से जीत दर्ज करने में सफल रहे। लेकिन ये मुकाबला हर भारतीय के साथ-साथ फेडरर को भी हमेशा याद रहेगा। चलिए अब आपको बताते हैं कि रोजर फेडरर को कड़ी टक्कर देने वाले सुमित नागल आखिर हैं कौन..

कौन हैं सुमित नागल? (Who is Sumit Nagal)

Sumit Nagal
indiatoday

आठ साल की उम्र में शुरू किया खेलना

22 साल के सुमित नागल हरियाणा  के झज्जर जिले के जैतपुर गांव से हैं। इन्होने आठ साल की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया था। पूरे परिवार से केवल इनके पिता को इस खेल में रूचि थी और उन्होंने ही सुमित को टेनिस खिलाड़ी बनने की ओर प्रेरित किया। यही कारण रहा कि सुमित का पूरा परिवार दिल्ली में रहने लगा।   2010 में अपोलो टायर वालों की एक टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में सुमित का चयन हुआ और यहीं से उनके आगे की राह तय होती गई।

2015 – नागल ने इस साल जूनियर विंबलडन ग्रैंड स्लैम जीता था और वह इसे जीतने वाले छठें भारतीय बने थे इस मुकाबले में सुमित ने वियतनाम के ली हाओंग नाम के साथ मिलकर विंबलडन ब्वायज़ डबल का खिताब जीता था।

2016 – सुमित नागल ने इस साल भारत के लिए डेविस कप में डेब्‍यू किया। तब स्‍पेन के खिलाफ नई दिल्‍ली में वर्ल्‍ड ग्रुप प्‍लेऑफ का मैच भारत ने खेला था। मगर 2016 के बाद कुछ टफ टाइम सुमित की जिंदगी में आया।

2017 – सुमित नागल को डेविस कप टीम से बाहर कर दिया गया।

2019 – नागल ने क्‍ले कोर्ट में शानदार नतीजे हासिल करने के बाद यूएस ओपन के क्‍वालिफायर में हिस्‍सा लिया। चैलेंजर सर्किट में लगातार शानदार प्रदर्शन की मदद से सुमित नागल पहली बार अपने करियर में शीर्ष 200 में शामिल हो गए। तब भारतीय डेविस कप कप्‍तान महेश भूपति ने  नागल की प्रतिभा को प्रोत्साहन देने की ठानी सुमित में भी खूब जी तोड़ मेहनत की आज उनकी मेहनत रंग ला चुकी है।

टेनिस ना खेलते तो क्रिकेटर होते सुमित नागल

सुमित का सबसे पसंदीदा टूर्नामेंट यूएस ओपन है और उनके ग्रैंडस्लैम करियर की शुरुआत इसी इवेंट से हुई है। इसलिए सुमित और भी ज्यादा खुश हैं। सुमित का फेवरेट शाॅट फोरहैंड है। तो वहीं इन्हे क्ले और हार्ड कोर्ट में खेलना ज्यादा पसंद है। इसके अलावा एक दिलचस्प बात ये भी है कि अगर सुमित नागल टेनिस खिलाड़ी ना होते तो क्रिकेटर बनते। जी हां…सुमित को क्रिकेट काफी पसंद है और अगर वो टेनिस ना खेलते तो यकीनन क्रिकेट खिलाड़ी बनते।

Facebook Comments