Amazon Prime Video: कोरोना वायरस की चपेट में दुनिया के विभिन्न देशों के साथ ही अब मनोरंजन के साधन भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। हालिया जानकारी के अनुसार इसका प्रभाव अब अमेजन प्राइम वीडियो पर भी देखा जा सकता है। आप जरूर सोच रहे होंगें, आखिर अमेजन प्राइम वीडियो को इस वायरस से क्या खतरा हो सकता है। इसकी जानकारी आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको देने जा रहे हैं। आइये जानते हैं, अमेजन प्राइम वीडियो पर कोरोना वायरस का क्या प्रभाव पड़ सकता है।

कोरोना वायरस को देखते हुए इंटरनेट नेटवर्क में कटौती के आदेश

जानकारी हो कि, पूरी दुनिया से कोरोना वायरस के केस आने के बाद लोगों को और भी ज्यादा जागरूक करने के लिए दुनिया के हर देश की सरकारें सभी आवश्यक कदम उठा रही है। लोगों को हर तरह से जागरूक करने के लिए विभिन्न प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिए कुछ देश इंटरनेट पर वीडियो के जरिए भी जागरूकता फ़ैलाने का काम कर रहे हैं। चूंकि इस दौरान सभी देश और शहर के लोगों को सुरक्षित रहने के लिए घर के अंदर ही रहने के आदेश दिए गए हैं। जाहिर है कि, लोग अपना समय व्यतीत करने के लिए इंटरनेट का सहारा ले रहे हैं। अमेजन प्राइम वीडियो और नेटफ्लिक्स सहित बहुत से ऐसे ऐप आज मौजूद है जिसके जरिए लोग अपना मनोरंजन कर सकते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए अब इंटरनेट नेटवर्क को भी जाम करने के आदेश दिए जा रहे हैं। ऐसा इसलिए किया जा रहा ताकि इमरजेंसी की स्थिति में लोगों तक इंटरनेट के माध्यम से जरूरी खबर और जागरूकता फैलाने में मदद मिल सके। ऐसे में अमेजन प्राइम वीडियो और अन्य नेटवर्क इस कार्य में बाधा बन सकते हैं।

सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने बिटरेट कम करने की मांग की

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने सरकार से विशेष रूप से अमेजन प्राइम वीडियो और नेटफ्लिक्स जैसे ऐप की बिटरेट दर को कम करने के निर्देश देने की मांग की है। जानकारी हो कि, बिटरेट दर कम करने से इंटरनेट पर दवाब कम बनेगा और लोगों तक जरूरी जानकारी पहुंचाने में आसानी होगी। बिटरेट दर ज्यादा होने से वीडियो की स्ट्रिमिंग की क़्वालिटी बढ़ती है और इंटरनेट पर ज्यादा दवाब बनता है। बता दें कि, ऐसे में नेटवर्क के जाम होने का खतरा भी सबसे ज्यादा रहता है। इसलिए सरकार से सभी प्रमुख ऐप जिसपर लोग ज्यादा वीडियो देखते हैं उसकी बिटरेट दर को कम करने की अपील की है।

अमेजन ने इंडिया ने बिटरेट दर कम करने की शुरुआत की

बता दें कि, अमेजन प्राइम वीडियो के निदेशक ने इस बाबत बयान जारी कर कहा है कि, कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए अमेजन प्राइम वीडियो के बिटरेट को कम करने का फैसला लिया है। इस बयान में कहा गया है कि, कोरोना वायरस की वजह से लोग अपने घरों पर रह रहे हैं, ऐसे में दूरसंचार कंपनियों का समर्थन करते हुए ये फैसला लिया गया है। इंडिया में विशेष रूप से अमेजन प्राइम वीडियो के बिटरेट दर को कम करने का काम शुरू कर दिया गया है। बता दें कि, इस बारे में फिलहाल नेटफ्लिक्स इंडिया ने कोई जवाब नहीं दिया है लेकिन यूरोप और अमेरिका में कोरोना वायरस से बचाव को ध्यान में रखते हुए, अपने बिटरेट दर को 25% तक कम करने का आश्वासन दिया है। बहरहाल इस बीच यदि आपको इन सभी ऐप की वीडियो क़्वालिटी डाउन नजर आए तो हताश ना हों ऐसा आपकी सुरक्षा के लिए ही किया जा रहा है।

Facebook Comments