भारत विभिन्नताओं का देश है जहां पर हर संस्कृति सभ्यता का समान रूप से महत्व है। सांस्कृतिक प्रधान इस देश में जाति, समुदाय और लिंग को लेकर भी अलग-अलग मत है। वैसे तो भारत की रीति-रिवाज को लेकर विदेशियों में काफी उत्साह देखने को मिलता है। यहां तक की कई विदेशी जोड़े ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने वैवाहिक जीवन की शुरूआत भारतीय परंपरा के आधार पर किया है। इसी बीच हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे जोड़े की जिसने भारतीय रीति रिवाजों के आधार पर वैवाहिक जीवन की शुरूआत की है और यह कोई और नहीं बल्कि एक समलैंगिग जोड़ा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 2018 में भारतीय सरकार ने समलैंगिकता संबंध और विवाह को स्वीकृति दी थी, जिससे भारतीय संस्कृति ने विकास की तरफ एक और कदम बढ़ाया है।

राजस्थान में हुआ एक समलैंगिक विवाह

बता दें कि भारत का राजस्थान डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए एक बहुत ही बेहतर जगह बन चुका है। लोग राजस्थान का जयपुर, जैसलमेर और जोधपुर जैसी जगहों को अपनी डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए चुनते हैं। बता दें कि हाल में राजस्थान के जैसलमेर में एक समलैंगिक विवाह हुआ जो अब काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि जैसलमेर में बीते रविवार को एक फ्रांसीसी युवती और एक दक्षिण भारत की एक युवती ने विवाह किया। इस विवाह का आयोजन एक पांच सितारा होटल में हुआ था। यह एक भव्य समारोह था।

यह समारोह पांच दिनों तक चला था। इस विवाह समारोह में शनिवार के दिन संगीत और मेंहदी की रस्म हुई और रविवार को विवाह संपन्न हुआ। हालांकि, इस शादी के समारोह को काफी गोपनीय रखा गया था। स्थानीय लोगों को इस शादी समारोह के बारे में कुछ पता नहीं था। इस समारोह में शामिल होने के लिए इन दोनों युवतियों के परिवार वालों के साथ देश-विदेश से भी काफी सारे मेहमानों ने शिरकत ली थी। सोमवार को हुई इस हाई प्रोफाइल शादी का आयोजन बहुत ही भव्य हुआ था।

Lesbian Wedding In Rajasthan
news room

2018 में लागू हुई थी धारा 377

बता दें कि भारत देश में सितंबर 2018 में समलैंगिक विवाह और रिश्ते को कानूनी तौर पर मंजूरी मिली थी। जिसके बाद राजस्थान के जैसलमेर में होने वाला यह पहला समलैंगिक विवाह था। धारा 377 लागू होने के बाद संभवत: राजस्थान और देश का यह पहला समलैंगिक विवाह है। बता दें कि इन दो युवतियों जिन्होंने शादी की है वह दोनों काफी समय से एक-दूसरे के साथ रिश्ते में थीं। काफी लंबे समय से रिश्ते में होने के बाद और समलैंगिक विवाह और रिश्ते को अनुमति मिलने के बाद दोनों ने अपने रिश्ते को सार्वजनिक किया और एक-दूसरे से विवाह करने का फैसला लिया।

बता दें कि समलैंगिक रिश्ते को मान्यता मिलने के बाद से इसके पहले भी समलैंगिक विवाह हो चुके हैं। बीते दिनों में अब से लगभग 2 महीने पहले इसी तरह एक हिंदू-मुस्लिम लेस्बियन कपल ने शादी रचाई है। यह शादी भारत में नहीं बल्कि अमेरिका के कैलिफोर्नियां में हुई थी। इन दोनों कपल की शादी की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी और यह शादी भी काफी चर्चा का विषय रही थी।

समलैंगिक रिश्ते को कानूनी तौर पर मान्यता तो मिल गई है, लेकिन इन रिश्तों को अभी जहां कुछ लोगों ने मंजूरी देकर एक्सेप्ट कर लिया है, वहीं कुछ लोग अभी भी इस तरह के रिश्ते को पूरी तरह से स्वीकार नहीं कर पाए हैं। हालांकि, बदलते समय के साथ लोगों की सोच में भी बदलाव आएगा लेकिन पूरी तरह से इन रिश्तों को अपनाने और स्वीकार करने में अभी भी लोगों को अपनी सोच के साथ काफी बदलाव लाने की जरूरत है।

Facebook Comments