South Korean Mother Meets Dead Daughter: इस दुनिया में सबसे बड़ा नुकसान किसी अपने को हमेशा के लिए खो देना है। जब आपके अपने आप से बिछड़ जाते हैं हमेशा के लिए, तो दोबारा उनसे मिल पाना कभी संभव नहीं हो पाता है। वे केवल यादों में ही रह जाते हैं, लेकिन यदि कोई आपसे कहे कि जिनकी मौत हो चुकी है उनसे आप दोबारा मिल सकते हैं तो आपकी इस पर क्या प्रतिक्रिया होगी? निश्चित तौर पर आप इस पर यकीन नहीं कर पाएंगे। आप यही कहेंगे कि यह तो संभव ही नहीं है। मगर दक्षिण कोरिया में विज्ञान ने इसे संभव करके दिखाया है।

बीमारी से हुई थी मौत (South Korean Mother Meets Dead Daughter)

south korean mother meets dead daughter
hindustan times

यहां एक मां ने अपनी मरी हुई बेटी से विज्ञान के चमत्कार के जरिए मुलाकात की है। इस महिला की बेटी की मौत करीब चार साल पहले यानी कि 2016 में हो गई थी। एक बीमारी की वजह से इसकी जान चली गई थी, लेकिन विज्ञान की मदद से यह मां अपनी चार साल पहले मर चुकी बेटी से दोबारा मिल पाई है । उससे बात भी कर पाई है।

इस गांव में बछड़े की मौत होने पर कराई जाती है नाबालिग की शादी

बेटी को खूब किया प्यार

यह घटना दक्षिण अफ्रीका में प्रकाश में आई है। यहां टीवी पर प्रसारित होने वाले एक शो के दौरान ऐसा हुआ है। इस शो का नाम है मीटिंग यू। इसी शो में एक मां को अपनी चार साल पहले मरी हुई बेटी से मिलने का मौका मिला है। इस मां ने न केवल अपनी मरी हुई बेटी से मुलाकात की, बल्कि मां ने अपनी बेटी को छुआ। उसने अपनी बेटी को खूब प्यार किया। उसने अपनी बेटी से बहुत देर तक बात भी की। साथ ही उसकी बेटी ने मां से यह भी वादा किया कि वह आगे भी उससे मिलने के लिए आती रहेगी।

ऐसे हुआ संभव

south korean mother meets dead daughter
Gma Network

कई मीडिया रिपोर्ट्स में इस घटना के बारे में बताया गया है। इसमें मां का नाम जांग जी-सुंग बताया गया है, जबकि बेटी का नाम इन रिपोर्ट्स में नेइयॉन बताया गया है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर जो मर गया है, उससे कोई मुलाकात कैसे कर सकता है? आखिर कैसे इस मां की विज्ञान ने इस की मरी हुई बेटी से मुलाकात करवाई है?

दरअसल ऐसा वर्चुअल रियलिटी के जरिए किया गया है। वर्चुअल रियलिटी में क्या होता है कि इसमें कुछ हार्डवेयर उपकरणों और सॉफ्टवेयर की मदद ली जाती है। इनके माध्यम से एक कृत्रिम वातावरण और दृश्य तैयार कर दिया जाता है, जो कि देखने में बिल्कुल असली प्रतीत होता है।

वर्चुअल रियलिटी में जो चीजें नजर आती हैं, वे असली से कम नहीं दिखतीं। इन्हें देख कर आपको यही एहसास होगा कि वह चीज बिल्कुल आपके सामने है। साथ ही आप उस चीज को पूरी तरह से महसूस हुई कर पाएंगे।

ऐसे किया तैयार (South Korean Mother Meets Dead Daughter)

इस घटना के बारे में मीडिया रिपोर्ट्स में यह बताया गया है कि वर्चुअल रियलिटी के जरिए ही जांग जी-सुंग की बेटी नेइयॉन के शरीर को एक बार फिर से वैज्ञानिकों ने तैयार किया। उन्होंने इसे ठीक उसी तरीके से बनाया, जैसी वह नजर आती थी। हू-ब-हू बिल्कुल नेइयॉन का ही शरीर वैज्ञानिकों ने तैयार कर दिया। इसका चेहरा बिल्कुल उससे मिलता था। यही नहीं, उसकी आवाज तक इसमें डाल दी गई। इसके बाद टेलीविजन शो मीटिंग यू में इस मां की अपनी मरी हुई बेटी से मुलाकात कराई गई।

क्या हुआ मिलने पर?

इसके बाद जैसे ही इस मां ने अपनी बेटी को अपने सामने देखा, उसने रोना शुरू कर दिया। वह अपने आप को रोक नहीं पाई। उसने तुरंत अपनी बेटी को आगे बढ़ कर गले लगा लिया। उसे गले लगाकर वह खूब रोई। उसने अपनी बेटी से बात भी की। दर्शक दीघा में नेइयॉन के पिता और उसके भाई-बहन भी बैठे हुए थे। ये लोग भी अपने आप को रोक नहीं पाए और इन्होंने रोना शुरू कर दिया।

पूरी दुनिया में होने लगी चर्चा

इसके बाद से यह घटना इस वक्त पूरी दुनिया में चर्चा का केंद्र बन गई है। अब इस बात को लेकर चर्चा हो रही है कि वर्चुअल रियलिटी के जरिए इस तरह से किसी व्यक्ति को अपने परिजनों से मिलवाना आखिर कहां तक उचित है? चर्चा का सबसे मुख्य बिंदु यह है कि कहीं इससे परिजनों की मानसिक स्थिति बिगड़ने का खतरा तो नहीं पैदा हो जाएगा? इस बारे में यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स के प्रोफेसर ब्ले व्हिटबी के हवाले से मीडिया में यह बताया गया है कि मरी हुई बेटी से मिलकर एक मां पर क्या असर होगा या मनोवैज्ञानिक तरीके से उस पर क्या बीतेगी, वे यह नहीं बता सकते। या तो वह अपनी बेटी से मिलकर बहुत खुश होगी या फिर वह उसे पहले से भी ज्यादा अब याद करने लगेगी।

Facebook Comments