Statue of Unity: कोरोना वायरस के कहर से जहां पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है वहीं दूसरी तरफ देश में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। गुजरात के एक शख्स ने OLX पर दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ती ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ को बेचने का विज्ञापन दे डाला है। इतना ही नहीं शख्स ने इस विज्ञापन में मूर्ती की कीमत 30,000 करोड़ रुपए रखी है। इस पोस्ट के कुछ ही देर में ओएलएक्स ने हरकत ली और तुरंत इस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा दिया। हालांकि यह पोस्ट तब तक कई पोर्टल और समाचार पत्रों पर छप गई थी। इस पोस्ट के बारे में जैसे ही गुजरात पुलिस को पता चला वह हरकत में आ गई। पोस्ट करने वाले की जांच की जा रही है।

विज्ञापन में लिख डाली ये बात

दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ती (182 मीटर ऊंची) ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ सरदार वल्लभाई पटेल को समर्पित है। गुजरात के किसी शख्स ने OLX पर इसे बेचने के लिए विज्ञापन डाला। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, विज्ञापन में शख्स ने लिखा था कि ”इमरजेंसी! Statue of Unity बेच रहे हैं क्योंकि कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए अस्पताल और स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए पैसों की जरूरत है।’

OLX कंपनी पर उठे सवाल

मीडिया में ये खबर छपने के बाद स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के असिस्टेंट कमिश्नर नीलेश दुबे ने तंरंत पुलिस को सारा मामला बताया। नीलेश ने एक प्रेस रिलीज़ भी जारी की जिसमें उन्होंने कहा कि किसी अंजान व्यक्ति ने सरकार को बदनाम करने के उद्देश्य से ये गंदा मज़ाक किया है। इसे मज़ाक की दृष्टि से बिल्कुल भी देखा नहीं जाएगा। शख्स ने बदइरादे से स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को ओएलएक्स पर बेचने का विज्ञापन डाला था। नीलेश ने OLX कंपनी पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना से यह साबित होता है कि ओएलएक्स अपने वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों की जांच किए बिना ही उन्हें पब्लिश करने का अधिकार दे देती है। नीलेश ने आगे कहा कि कंपनी को विज्ञापन को अप्रूव करने के लिए एक स्पेशल डिपार्टमेंट होना चाहिए ताकि कोई भी गलत तरह की जानकारी न फैला सके और लोग गुमराह न हों।

शख्स के खिलाफ लगेंगी ये धाराएं

वहीं पुलिस के मुताबिक इस अज्ञात शख्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 (अफवाह फैलाने), धारा 417 (धोखाधड़ी), धारा 469 (जालसाजी) और अन्य संबंधित धाराओं में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

बताते चलें कि 31 अक्टूबर 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वल्लभाई पटेल को समर्पित उनकी मूर्ती गुजरात का नर्मदा जिले के पास उद्घाटन किया था। इस मूर्ती का नाम ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ रखा गया। बता दें कि यह दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ती है। यह करीब 182 मीटर (597 फीट) ऊंची है। दुनियाभर के लोग इसे देखने बड़ी मात्रा में आते हैं।

Facebook Comments