Gudhal ke Phool ke Fayde: गुड़हल (Hibiscus) का फूल…जितना देखने में सुंदर है उतना ही ये फूल गुणों से भी भरपूर है। किसी भी बगीचे या किसी के घर में गुड़हल का पेड़ (Gudhal Tree) आसानी से दिख जाता है। ये घर की सुंदरता को तो बढ़ाते ही हैं साथ ही इसके फायदे भी एक नहीं बल्कि अनेकों हैं। आयुर्वेद में तो गुड़हल के फूल की तुलना औषधि से की गई है। गुड़हल जिसकी जड़ से लेकर पत्ती तक सब कुछ फायदेमंद मानी गई है। विशेष बात ये है कि गुड़हल का फूल (Gudhal ka Phool) कई रंगों में पाया जाता है। जैसे – लाल, सफेद , गुलाबी, पीला और बैंगनी आदि। और हर रंग का फूल कई तरह के मर्ज से लड़ने में कारगर है।

यूं तो गुड़हल का फूल कई तरह से हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। गुड़हल के फूल में विटामिन-सी, कैल्शियम, वसा, फाइबर, आयरन प्रचूर मात्रा में पाया जाता है जिससे ये नींद की समस्या, ल्यूकोरिया में आराम, यादयाश्त बढ़ाने, खून की कनी को दूर करने, मासिक धर्म के दौरान होने वाली दिक्कतों में आराम मिलता है। इसके साथ ही गुड़हल का फूल बालों से संबंधित तमाम तरह की परेशानियों को भी दूर करता है। जैसे बालों का झड़ना, डैंड्रफ, बालों से रूखापन दूर करना, बालों को चमकीला व बढ़ाने में लाभदायक, बालों को काला करने इत्यादि। लिहाज़ा अगर आप बालों को लेकर परेशान हैं…बालों से संबंधित समस्याएं आपकी परेशानी का कारण है तो गुड़हल आपकी समस्या का दूर करने का कारगर इलाज हो सकता है। गुड़हल की खासतौर से दो प्रजातियां होती हैं। एक जपा बड़ी और एक जपा छोटी।

चलिए अब हम आपको अब बताएंगे कि आप कैसे गुड़हल व उसके फूलों का इस्तेमाल करके अपनी हेयर प्रोबल्म को दूर कर सकते हैं।

बालों के लिए गुड़हल के फायदे (Benefits for Hair in Hindi)

Long hair
zeenews
  1. आप गुड़हल के पत्तों को पीसने के बाद उसकी लुग्दी बनाकर बालों में दो घंटे के लिए लगाएं। अगर आप रोज़ाना ऐसा करेंगे तो बालों को न्यूट्रिशन के साथ साथ आपको ठंडक भी मिलेगी।
  2. गुड़हल के ताजे फूलों का रस लेकर उसकी बराबर मात्रा में ही आपको जैतून का तेल मिलाना है और इसे आग में अच्छे से पका लेना है। जब रस जल जाए और केवल तेल बाकी रह जाए तो इसे शीशी में भरकर रख लें। इस तेल को रोजाना बालों में जड़ों तक अच्छे से लगाएं तो बाल चमकीले और लम्बे हो जाते हैं।
  3. अगर बालों को प्राकृतिक रूप से काला करना चाहते हैं तो गुड़हुल के फूल और भृंगराज के फूल को भेड़ के दूध में पीसकर लोहे के बर्तन में रख लें। तकरीबन सात दिन बाद इसे बर्तन से निकालकर भृंगराज के पंचांग के रस में मिलाएं। इससे बाल धोने से कुछ ही दिनों में बाल काले हो जाएंगे। इसके अलावा लोहे की भस्म, आंवला चूर्ण और जपा के फूलों का पेस्ट बनाकर भी सिर में लेप लगाया जा सकता है ये भी बालों को काले करने का कुदरती तरीका है।
  4. अगर डैंड्रफ आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो आपको गुड़हल के फूल के रस में तिल का तेल मिलाकर इसे उबालना है और फिर छानकर, शीशी में भरकर इस्तेमाल करना है। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके बालों से रूसी दूर हो जाएगी।
  5. गंजेपन की समस्या से काफी परेशान है तो गाय के मूत्र में गुड़हल के फूलों को पीसकर सिर में लगाने से सिर का गंजापन दूर हो जाता है। और बालों की ग्रोथ भी बढ़ती है।
Facebook Comments