Food Inspector Kaise Bane: आज के समय में आपके पास अपना करियर चुनने के लिए कई विकल्प हैं। एक समय था जब आपके पास अपने करियर के लिए कुछ ही ऑप्शन मिलते थे। जानकारी के अभाव के चलते आप अपने लिए सही करियर ऑप्शन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं पा सकते थे। लेकिन अब समय बदल गया है अब आपके पास अपने करियर को चुनने के लिए एक से बढ़कर एक ऑप्शन हैं, जो कि आपको एक बेहतरीन करियर दे सकते हैं।

आज हम आपको फूड इंसपेक्टर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए और इसे बनने के लिए आपको क्या करना होगा इस बारे में जानकारी देंगे। बात करें फूड इंसपेक्टर की तो इनका काम खाने की क्वालिटी और इसका स्टैंडर्ड चेक करना होता है।

फूड इंसपेक्टर का कार्य [Food Inspector Career]

जैसा कि इसके नाम से ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि फूड इंसपेक्टर का कार्य़ खाने की क्वालिटी को चेक करना होता है। जो खाना हम खा रहे हैं उसकी गुणवत्ता को जांचना इसके साथ ही हाइजीन का भी ध्यान रखना ये सब फूड इंसपेक्टर द्वारा ही जांचा जाता है। फूड इंसपेक्टर का कार्य सभी प्रकार के खाने की क्वालिटी को चेक करना होता है। खाने को कैसे बनाया जा रहा है, खाना किस बर्तन में बन रहा है और उसको बनाने के लिए जो चीजें उपयोग में लाई जा रही हैं वो कीटाणु रहित हैं या नहीं, इन सबकी जानकारी फूड इंस्पेक्टर को लेनी होती है। खाने की क्वालिटी और हाइजीन इन सबकी जांच फूड इंसपेक्टर द्वारा ही की जाती है।

इसके अलावा फूड डिस्ट्रीब्यूटर, प्रोसेसर और मैन्युफेक्चरर पर निगरानी रखना ये सभी कार्य भी फूड इंसपेक्टर के होते हैं। इसी के साथ मार्केट में बेचा जा रहा खाना और केंद्र सरकार द्वारा मिलने वाले अनाज की क्वालिटी की जांच का जिम्मा भी फूड इंसपेक्टर के आधीन ही आता है। इम्पोर्ट की प्रक्रिया में फ़ूड सेफ्टी रिक्वायरमेंट्स के हिसाब से खाने और खाद्य सामग्री की जांच करना भी फ़ूड इंस्पेक्टर की जिम्मेदारी है।

कुल मिलाकर एक फूड इंसपेक्टर का कार्य होता है कि वो यह सुनिश्चित करे कि लोगों के पास जाने वाला खाना स्वच्छ हो और स्वास्थय के लिए अच्छा हो। यदि कोई कंपनी खाने के किसी भी प्रकार की सामग्री बना रही है और वो स्वच्छता और गुणवत्ता की दृष्टि से मानकों पर सहीं नहीं उतरती है तो फूड इंसपेक्टर उनके खिलाफ उचित कार्यवाही कर सकता है। बता दें, इन सब झमेलों से बचने के लिए ही खाघ निर्माण करने वाली कंपनियां खुद की कंपनी के लिए भी फूड इंसपेक्टर की नियुक्ति करती हैं, ताकि उनके कार्य में किसी तरह की बाधा ना आए।

फूड इंसपेक्टर के लिए शैक्षिक योग्यता

बात करें फूड इंसपेक्टर बनने की शैक्षिक योग्यता की तो फूड इंसपेक्टर बनने के लिए आपके पास किसी भी स्ट्रीम में बैचलर्स की डिग्री होनी चाहिए। इसी के बाद आप फूड इंसपेक्टर के एग्जाम के लिए क्वालिफाई हो सकते हैं। फूड इंसपेक्टर का एग्जाम सेंट्रल और राज्य गवर्नमेंट द्वारा निकाला जाता है। बैचलर्स की डिग्री होने के बाद आप इस एग्जाम को देने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं। बता दें कि जिन लोगों ने बायोलॉजी, मैथ्स, फिजिक्स तथा एग्रीकल्चरल साइंस में बैचलर्स की डिग्री ली है, उन कैंडिडेट्स के लिए यह डिग्री एक्स्ट्रा एडवांटेज का काम करती है।

बता दें कि क्योंकि यह फील्ड वर्क होता है इसलिए यदि आप इस क्षेत्र को अपने करियर के तौर पर चुन रहे हैं तो आपको फिजिकली भी फिट होना चाहिए, ताकि आप एक्टिव रह सकें। मानसिक और शारीरिक दोनों ही रूप से आपको फुर्तीला होना चाहिए।

food inspector kaise bane
jagranjosh

फूड इंसपेक्टर बनने के लिए आयु सीमा

बता दें कि फूड इंसपेक्टर बनने के लिए आयु सीमा 18-42 साल के बीच होती है। आप इस उम्र के अंतर्गत इस पद के लिए एग्जाम दे सकते हैं। हालांकि, अलग-अलग राज्यों में आयु सीमा अलग-अलग भी होती है। तो ध्यान रखें कि आप जिस भी राज्य के लिए परीक्षा में बैठने जा रहे हैं, वहां की आयु सीमा के बारे में पहले ही पता कर लें।

कहां मिलती है नौकरी

बता दें कि फूड इंसपेक्टर की नियुक्ति हेल्थ डिपार्टमेंट्स, फैक्ट्रीज और विशेष एजेंसियों में होती है। इसके अलावा सरकारी क्षेत्र में भी इसके नौकरी के अवसर मिलते हैं। कुल मिलाकर सरकारी और प्राइवेट दोनों ही जगहों पर इस पद के लिए बेहतरीन अवसर होते हैं।

कितनी मिलती है सैलरी 

बात करें फूड इंसपेक्टर को मिलने वाली सैलरी की तो जॉब की स्टार्टिंग कहीं-कहीं 18000 से 20000 की होती है तो वहीं कुछ कंपनिया इस पद के लिए 35,000 से 40,000 रूपए तक की भी सैलरी देती है। बात करें प्राइवेट सेक्टर में फ़ूड इंस्पेक्टर के लिए स्टार्टिंग सैलरी की तो यह 20,000 के लगभग होती है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।

Facebook Comments