हर इंसान चाहता है कि वो अपने जीवन में सही समय पर एक अच्छी नौकरी पा सके ताकि अपने साथ-साथ अपने घरवालों की जरूरतों को पूरा कर सके। मगर अच्छी नौकरी पाने के लिए अच्छी शिक्षा भी उतनी ही महत्वपूर्ण होती है और साथ ही साथ अभ्यर्थी की मेहनत और लगन भी। खैर, आपने अक्सर ही देखा और सुना होगा कि इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने के बाद ज्यादातर युवाओं में इस बात का क्रेज रहता है की वो या तो इंजीनियर बनेंगे या फिर डॉक्टर।
लेकिन पिछले कुछ समय से ये सोच और धारणा बदल रही है और युवा अन्य कई क्षेत्रों में भी रोजगार के अवसर तलाश रहे हैं और सफलतापूर्वक कर भी रहे हैं। आज का युवा सिर्फ भौतिक सुख की तरफ ही नहीं बल्कि देश के लिए अपना योगदान भी देने के लिए काफी उत्सुक रहता है। यही वजह है कि लोग सेना में और पुलिस में भर्ती होने के लिए काफी उत्सुक रहते हैं, ये जानते हुए भी कि इस नौकरी में कितना बड़ा रिस्क रहता है और आय भी काफी कम है। बहुत से युवा ऐसे हैं जो पुलिस में भर्ती होने की इच्छा तो रखते हैं मगर इसके लिए उन्हे क्या करना होगा इसकी जानकारी कम ही होती है।

indian-police
Jagran Josh

ऐसे में आज उम आपको यह जानकारी देने जा रहे हैं कि पुलिस में भर्ती होने और दरोगा बनने के लिए क्या-क्या करना होता है| साथ ही यह भी बताएंगे कि इसके लिए किस स्तर की पढ़ाई की आवश्यकता होती है और इस दौरान किस-किस प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। सर्वप्रथम तो आपको बता दें दरोगा का मतलब उपनिरीक्षक होता है, जिसे अंग्रेजी ‘सब इंस्पेक्टर’ कहा जाता है। दारोगा या सब इंस्पेक्टर बनने के लिए तैयारी तो बहुत सारे युवा करते हैं मगर हर कोई इसमें सफल हो नहीं पाता। इसलिए आज हम आपको इससे जुड़ी हर तरह की जानकारी और कुछ महत्वपूर्ण नियम भी बताएंगे जिससे आपकी राह आसान हो जाएगी।

दरोगा या सब इंस्पेक्टर बनाने के लिए जरूरी मानक

पुलिस में भर्ती होने से पहले आपके पास कुछ फिजिकल योग्यता होनी चाहिए तभी आप सब इंस्पेक्टर बनने के लिए विभाग द्वारा आयोजित परीक्षा में बैठ सकते हैं। तो चलिये जानते हैं शैक्षिक और शारीरिक योग्यता के बारे में। चूंकि हम सभी जानते हैं कि इस पद के लिए पुरुष और महिला दोनों ही आवेदन कर सकते हैं मगर दोनों के लिए शारीरिक योग्यता में कुछ अंतर होते हैं, जबकि शैक्षिक योग्यता दोनों के बराबर होने चाहिए।

सामान्य वर्ग हेतु मानक [Eligibility Criteria for Daroga]

– पुरुष की छाती कम से कम 83 सेमी आवश्यक है तथा छाती फुलाने के बाद कम से कम 87 सेमी तक होना चाहिए।
– पुरुष का कद कम से कम 172 सेमी होना चाहिए।
– महिला का कद कम से कम 152 सेमी तक होना चाहिए।

आरक्षित श्रेणी हेतु मानक

– जो उम्मीदवार आरक्षित श्रेणी से होते हैं उनके लिए कुछ छूट मिलती है| इस भर्ती के लिए आरक्षित श्रेणी वाले पुरुष की छाती 81 सेमी (बिना फुलाए) तथा 85 सेमी (फुलाने के बाद) होना चाहिए।
– आरक्षित वर्ग के पुरुष अभ्यर्थी का कद कम से कम 160 सेमी होना चाहिए तथा आरक्षित महिला अभ्यर्थी की लंबाई 145 सेमी आवश्यक है।
– इसके अलावा पुरुष उम्मीदवार को 5 किमी की दौड़ भी लगानी होती है, जिसके लिए निर्धारित समय यानी की 25 मिनट दिया जाता है।
– महिलाओं के लिए भी दौड़ की प्रक्रिया होती है| हालांकि, उन्हे 2.5 किमी की दौड़ लगानी पड़ती है जिसके लिए समय सीमा 15 मिनट दी जाती है।

कितनी होनी चाहिए शैक्षिक योग्यता

– अभ्यर्थी को ग्रेजुएट होना चाहिए
– उम्र 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए
– भारत का नागरिक होना चाहिए

ये तो हो गयी शारीरिक दक्षता की बात| अब बात करते हैं लिखित परीक्षा की|

तो आपको बता दें पुलिस में भर्ती होने के लिए अभ्यर्थी को इन दोनों ही परीक्षाओं में उत्तीर्ण होना होता है। लिखित परीक्षा में कुल 100 प्रश्न होते हैं जिसके लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है। इस बात का अभ्यर्थियों को विशेष ध्यान रखना चाहिए कि परीक्षा में गलत उत्तर देने पर नियमानुसार कुछ प्रतिशत अंक काटे भी जाते हैं जो कि सामान्यतः एक चौथाई होता है।
यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि बहुत से अभ्यर्थी जो लिखित परीक्षा में तो उत्तीर्ण हो जाया करते हैं मगर शारीरिक दक्षता में असफल हो जाते हैं। ऐसे में यह बहुत ही आवश्यक है कि इसले लिए अभ्यर्थी को कम से कम 4 से 6 माह पूर्व तैयारी में लग जाना चाहिए, क्योंकि चंद दिन पहले से यदि आप शुरू करते हैं तो निश्चित रूप से सफलता आपके करीब आकर निकल सकती है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा| पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें|

Facebook Comments