Dream Girl Movie Review:आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) और नुसरत भरूचा (Nusrat Bharucha) की ‘ड्रीम गर्ल’ रिलीज़ हो गई है। आयुष्मान हर बार एक नए एक्सपेरीमेंट के साथ बड़े पर्दे पर उतरते हैं। और वो एक्सपेरीमेंट सक्सेस भी होता है। ‘बरेली की बर्फी (2017)’, ‘शुभ मंगल सावधान (2017)’, ‘अंधाधुन (2018)’, ‘बधाई हो (2018)’ और ‘आर्टिकल 15 (2019)’ के बाद अब आयुष्मान खुराना ‘ड्रीम गर्ल (Dream Girl)’ से हंसाने और अपने अभिनय का एक और पहलू दिखाने आ चुके हैं। इस बार भी उन्होने कुछ ऐसा ही चैलेंज लिया और इस चैलेंज में वो काफी हद तक कामयाब होते भी नज़र आ रहे हैं। फर्स्ट डे, फर्स्ट शो रिलीज़ हो चुका  है। दर्शकों के चेहरों से लग रहा है कि फिल्म टोटल पैसा वसूल है। एक अलग सब्जेक्ट और कहानी दर्शकों को कैसी लग रही है और कैसा है ड्रीम गर्ल का रिव्यू (Dream Girl Movie Review)…हम आपको बताएंगे।

कहानी – ‘ड्रीम गर्ल (Dream Girl)’ करमवीर सिंह (आयुष्मान खुराना) की कहानी है। जो राम लीला में सीता का किरदार निभाते हैं। फिल्म में आयुष्मान खुराना के पिता का किरदार अन्नू कपूर निभा रहे हैं जिन पर लोन का बोझ है। लिहाज़ा करमवीर नौकरी की तलाश में है ताकि अपने पिता के सिर से कर्ज का बोझ उतार सके। तभी करमवीर को नौकरी का एक ऐड नज़र आता है, और वह नौकरी के लिए पहुंच जाता है।  ये एक फ्रेंडशिप कॉल सेंटर होता है जहां करमवीर पूजा नाम की लड़की बनकर सबसे बात करते हैं। देखते ही देखते पूजा उस कॉल सेंटर की जान बन जाती है। पूजा के चाहनेवालों की तादाद बढती जाती है और बस फिर शुरू हो जाता है उलझन और परेशानियों का दौर। इसी दौरान करमवीर की मुलाकात माही(नुसरत भरुचा) से होती है और दोनों के बीच इश्क हो जाता है।

लेकिन तब तक पूजा के दीवानों की लिस्ट लंबी होती जाती है। जिसमें माही का भाई महिंदर, शायर पुलिस वाला, एडिटर रोमा, देसी जस्टिन बीबर टोटो और यहां तक की करमवीर के पिता जगजीत भी शामिल हो जाते हैं। इसके बाद क्या गड़बड़ घोटाला होता है और कैसे पूजा यानि आयुष्मान खुराना इस गड़बड़ से बाहर निकलते हैं ये जानने के लिए आपको थियेटर में ही जाना चाहिए।

ड्रीम गर्ल मूवी रिव्यू (Dream Girl Movie Review 2019)

रिव्यू – फिल्म की कहानी बेहद ही अलग और शानदार है। कॉमेडी फिल्म से जैसी उम्मीद होती है ये फिल्म उन उम्मीदों पर पूरी तरह से खरी उतरती है। हर किरदार अपने अपने रोल में परफेक्ट नज़र आता है। और सबसे ज्यादा तारीफ के काबिल हैं आयुष्मान खुराना। जो ड्रीम गर्ल पूजा के रोल में पूरी तरह से फिट बैठते हैं। उनके हाव भाव, बोलचाल का तरीका सब कुछ काबिले तारीफ है। फिल्म की कहानी जितनी सिंपल है उसी तरह फिल्म में एक्टिंग और डायरेक्शन को भी सिंपल ही रखा गया है। यानि ज्यादा छेड़छाड़ नहीं की गई है जिससे फिल्म और भी खूबसूरत नज़र आती है। कॉमेडी फिल्म में डायलॉग टाइमिंग काफी अहमियत रखती है और इस फिल्म में इस पर खास ध्यान दिया गया है जिसका नतीजा ये रहा कि ये फिल्म लोगों को हंसने पर मजबूर करती है। नुसरत भरूचा भी माही के रोल में फिट बैठी हैं तो हर बार की तरह अन्नू कपूर ने अपनी एक्टिंग से फिल्म में जान डालने का काम किया है। फिल्म के गाने भी आज के हिसाब से जबरदस्त हैं और लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं। यानि फिल्म में इंटरटेनमेंट और कॉमेडी का ज़बरदस्त तड़का मौजूद है। लिहाज़ा पेट पकड़कर हंसना चाहते हैं तो ड्रीम गर्ल ज़रूर देखें।

Facebook Comments