Shakuntala Devi Review: आज डिजिटल प्लेटफार्म पर एक और फिल्म रिलीज़ हो गई है। विद्या बालन की “शकुंतला देवी”(Shakuntala Devi) , इस फिल्म को अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ किया गया है। काफी समय के बाद विद्या बालन की कोई फिल्म दर्शकों के मनोरंजन के लिए आई है। बॉलीवुड के चुनिंदा उम्दा अभिनेत्रियों की लिस्ट में एक नाम विद्या बालन(Vidya Balan) का भी आता है। अपनी हर फिल्म में बेहतरीन एक्टिंग के लिए जाने जानी वाली विद्या ने इस फिल्म में भी अपनी अदाकारी से जान फूंक दी है। आइये जानते हैं आपको यह फिल्म क्यों देखनी चाहिए और क्या है इस फिल्म में ख़ास।

मशहूर गणितज्ञ शकुंतला देवी(Shakuntala Devi) के जीवन को जीती नजर आती हैं विद्या

Vidya Balan in Shakuntala Devi Movie
Image Source – Thehindu.com

मालूम हो इस फिल्म में विद्या बालन(Vidya Balan) के बेंगलुरु में जन्मी शकुंतला देवी(Shakuntala Devi) जिन्हें पूरी दुनिया ह्यूमन कंप्यूटर के नाम से जानती है का किरदार निभाया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, चुटकियों में बड़े से बड़े गणित के सवाल को हल करने वाली शकुंतला देवी(Shakuntala Devi) ने अपने नाम कई रिकॉर्ड किए थे। आज शकुंतला देवी इस दुनिया में नहीं है, यह फिल्म उनकी मौत के करीबन सात सालों के बाद परदे पर आई है। विद्या बालन ने यक़ीनन अपने अभिनय से इस किरदार को एक बार फिर से जीवंत कर दिया है। फिल्म में शकुंतला देवी के जीवन के कुछ ख़ास किस्सों को दिखाया गया है। फिल्म का निर्देशन अनु मेनन ने किया है और फिल्म में मुख्य किरदारों में विद्या बालन के अलावा अमित साध, सान्या मल्होत्रा और जीशु सेनगुप्ता हैं।

क्या है फिल्म की कहानी और क्यों देखें यह फिल्म ?

Shakuntala Devi Movie
Image Source – Theguardian.com

इस फिल्म की कहानी की बात करें तो इसकी शुरुआत बेंगलुरु के एक छोटे से गांव से होती है। इसी गांव में शकुंतला देवी का जन्म होता है, शकुंतला देवी(Shakuntala Devi) महज पांच साल की उम्र से ही स्कूल में और अपने आस- पास लोगों को अपने विशाल ज्ञान की वजह से अचंभित करने से नहीं चूकती। फिल्म में दिखाया गया है कि, किस तरह से शकुंतला के टैलेंट के चर्चे काफी छोटी उम्र से ही होना शुरू हो जाता है। लेकिन चूँकि उसके पिता काफी गरीब होते हैं इसलिए उसकी पढ़ाई में बाधाएं आती हैं और घर की हालत भी ख़राब होती है। लेकिन इसके वाबजूद शकुंतला अपनी मंज़िल ढूंढ लेती है। जवानी की देहलीज पर पैर रखते ही शकुंतला के जीवन में पहले प्यार का आगमन होता है लेकिन यहाँ उन्हें धोखा मिलता है। लेकिन इससे वो टूटती नहीं है बल्कि दोगुनी रफ़्तार से अपनी मंज़िल के तरफ दौड़ती हैं। वो अपनी मंज़िल की तलाश में लंदन पहुंच जाती हैं। लंदन में बड़े बड़े गणितज्ञ के सवालों को चुटकियों में सॉल्व करने और कंप्यूटर से भी तेज कैलक्युलेशन करने के लिए उन्हें ह्यूमन कंप्यूटर के नाम से लोग जानने लगते हैं।

यह भी पढ़े

अब इससे आगे की कहानी के लिए आपको फिल्म देखनी चाहिए क्योंकी अगर सारी हम आपको बता देंगें तो आपका सस्पेंस खत्म हो जाएगा। इस फिल्म को विद्या बालन(Vidya Balan), सैन्य मल्होत्रा और अमित साध की बेहतरीन एक्टिंग के लिए देखें। फिल्म आपको कहीं से भी निराश नहीं

Facebook Comments