बिहार विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियों ने कमर कस ली है और लोगों को रिझाने के लिए नई-नई स्कीमों के मैदान में उतर रहीं। ऐसे में बिहार में नेता प्रतिपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव(Tejashwi Yadav) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) के कार्यकाल के दौरान किसी भी काम के न होने का दावा किया है। उन्होंने वहीं कहा कि नीतीश के जंगलराज में सबसे बड़ा आतंक युवाओं के लिए बेरोजगारी और लोगों का पलायन रहा।

नीतीश कुमार(Nitish Kumar) पर निशाना साधते हुए तेजस्वी(Tejashwi Yadav) ने कहा कि ‘बिहार में लोग डबल इंजन सरकार से नाराज हैं। नीतीश कुमार ने कोई काम नहीं किया है। वो बिहार में एक कारखाना तक नहीं लगवा सके। नीतीश कुमार पूरी तरह से थक चुके हैं। उनसे बिहार संभल नहीं रहा है।

नीतीश(Nitish Kumar) पर किया सवालों से वार

आजतक से खात बातचीत में तेजस्वी(Tejashwi Yadav) ने कहा कि ‘ बेरोजगारी और पलायन से बड़ा कोई आतंक नहीं है। उन्होंने जंगलराज के सवाल पर कहा कि ऐसे सवाल आएंगे, क्योंकि यह उस समय प्रोपेगैंडा खड़ा किया गया था। आप बताएं, मुजफ्फपुर बालिका गृह कांड किसके कार्यकाल में हुआ। उसकी लड़ाई किसने लड़ी। उन बच्चियों को इंसाफ दिलाने के लिए किसने लड़ाई। चाहे वो जंतर मंतर हो या सुप्रीम कोर्ट में जाना हो। यह लड़ाई किसने लड़ी?

तेजस्वी यादव(Tejashwi Yadav) ने कहा कि ‘वह 2018 में डिप्टी सीएम थे, उस समय बिहार में क्या माहौल था? जब बिहार में वह डिप्टी सीएम थे उस समय का NCRB के आंकड़े उठा कर देख लीजिए और उनके बाद का आंकड़ा देख लीजिए पता चल जाएगा।’ तेजस्वी यादव ने कहा कि ‘NCRB का आंकड़ा कहता है कि बिहार में जदयू और बीजेपी के कार्यकाल में क्राइम रेट बढ़ा है।’

डबल इंजन सरकार से नाराज है जनता – तेजस्वी

नीतीश(Nitish Kumar) और भाजपा के गठबंधन को लेकर भी तेजस्वी ने सवाल उठाए और कहा ‘बिहार में डबल इंजन सरकार ने कोई काम नहीं किया है। नौकरी पर हमने झूठा वादा नहीं किया है। अगर केवल वादा करना होता तो करोड़ों का वादा करते। तेजस्वी यादव ने कहा कि ‘नौकरी देने के लिए इच्छाशक्ति होनी चाहिए। बिहार में करीब 4.5 लाख सरकारी पद खाली हैं और बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा है।’

Facebook Comments