बिहार विधानसभा चुनाव(Bihar Assembly Election) को लेकर इन दिनों बिहार में सियासत काफी गर्म है। आए दिन बिहार से कुछ ना कुछ नया जरूर सुनने को मिलता है। आज सोमवार को विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने अपने एक बयान से नए विवाद को जन्म दे दिया है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार तेजस्वी ने बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) पर लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान(Chirag Paswan) के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया है। आइये जानते हैं आखिर क्या है यह पूरी खबर।

नीतीश कुमार पर चिराग को अपमानित करने का आरोप

असल में यह घटना तब की है जब बीते दिनों एक इंटरव्यू में चिराग पासवान(Chirag Paswan) ने कहा कि, जब वो अपने पिता रामविलास पासवान की शव लेकर पटना लौटे तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) ने उन्हें अन देखा किया और उनका अपमान किया। चिराग के इसी बयान पर तेजस्वी यादव ने कहा कि, नीतीश कुमार ने जो भी किया है वो नाइंसाफी है, अन्याय है। अपने दिए बयान में तेजस्वी यादव ने यह भी कहा कि, “नीतीश कुमार ने चिराग पासवान के साथ अच्छा नहीं किया। इस समय चिराग पासवान को रामविलास पासवान जी की जरुरत थी और उनके आज नहीं रहने का हम लोगों को दुःख है, लेकिन जिस प्रकार का व्यवहार नीतीश कुमार ने चिराग के साथ किया वो नाइंसाफी है।”

बीजेपी ने लगाया चिराग पर तेजस्वी का साथ देने का आरोप

जानकारी हो कि, जब चिराग पासवान(Chirag Paswan) ने तेजस्वी यादव के राघोपुर विधानसभा सीट से अपना प्रत्याशी खड़ा किया तो उनपर आरोप लगाए गए कि वो तेजस्वी के साथ हैं। असल में राघोपुर विधानसभा सीट बीजेपी के खाते में आता है इसलिए चिराग पर भारतीय जनता पार्टी के कुछ नेताओं ने यह आरोप लगाया था। बहरहाल ऐसा माना जा रहा है कि, चिराग पासवान के इस फैसले से तेजस्वी यादव की मुश्किलें वाकई में कुछ कम जरूर हुई हैं। दूसरी तरफ नीतीश कुमार की पार्टी से लोजपा का गठबंधन खत्म होने के बाद चिराग लगातार नीतीश कुमार(Nitish Kumar) पर शब्दों से हमला कर रहे हैं। उन्होनें बीते दिनों ट्वीट कर कहा कि, “नीतीश कुमार का पिछले पांच साल के कार्यकाल पर चुप्पी एक फरेब है। बिहार की जनता को जान बूझकर पिछले पांच सालों के कार्य को नहीं बताया जा रहा है। केवल कुर्सी के खेल में पिछले पांच साल साहब ने बिहारियों के बर्बाद किए।”

Facebook Comments