26 September 29 Bank Strike: अगर आप अपने बैंक से जुड़े काम को आने वाले दिनों पर टाल रहे हैं तो आप परेशानी में पड़ सकते हैं। आपका कोई बैंक से जुड़ा काम रह गया है तो उसे 25 सितंबर से पहले निपटा लीजिए क्योंकि 26 सितंबर से बैंक अगले 4 दिनों तक बंद रहने वाला है। खबर है कि बैंक 30 सितंबर के दिन खुल तो जाएंगे लेकिन लोगों का काम 30 सितंबर को भी नहीं हो पाएगा। दरअसल ऐसा इसलिए है। क्योंकि बैकों ने दो दिनों के लिए हड़ताल करने का ऐलान किया है। वह दो दिन 26 सितंबर और 27 सितंबर है जबकि 28 और 29 सितंबर को शनिवार और रविवार की छुट्टी रहने वाली है। बैंक 30 सितंबर को खुलेंगे लेकिन अर्द्धवार्षिक समापन होने के कारण इस दिन लेनदेन नहीं होगा।

बैंको ने यह हड़ताल बैंकों के विलय के खिलाफ किया है। यह हड़ताल 26(गुरूवार) और 27(शुक्रवार ) सितंबर को हड़ताल का ऐलान किया गया है। इसके बाद 28 सितंबर को महीने का आखिर शनिवार और फिर 29 को रविवार के कारण लगातार चार दिन बैंक बंद रहेंगे।

bank strike
mint

इस हड़ताल के संबंध में ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कॉन्फेडरेशन के महामंत्री दिलीप सिंह चौहान ने कहा है कि, ‘लगातार विरोध के बाद भी सरकार ने बैंकों को मर्ज करने का फैसला नहीं बदला है। इसके विरोध में राष्ट्रीय हड़ताल करनी पड़ रही है। बैंकों के मर्ज होने से हजारों नौकरियां जाने के साथ ही नॉन परफार्मिंग असेट (एनपीए) भी बढ़ेगा।’ उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार बैंकिंग सेक्टर को खत्म करने पर आमादा है, ऐसे में मर्जर के फैसले का विरोध करने के साथ ही प्रदेश के अन्य संगठनों का समर्थन हासिल करने का भी प्रयास किया जा रहा है। हड़ताल में 28 राष्ट्रीयकृत बैंक शामिल होंगे।‘

एटीएम में भी होगी कैश की दिक्कत

पांच दिनों तक होने वाले इस बैंक बंदी का असर एटीएम पर भी पड़ सकता है। भले ही गुरुवार और शुक्रवार को इस हड़ताल का असर ना हो लेकिन आने वाले दिनों में एटीएम में नकदी की किल्लत हो सकती है। आपको बता दें कि सामान्य तौर पर जो भी रकम एटीएम में डाले जाते हैं उसके माध्यम से केवल दो दिन तक ही एटीएम में केवल दो दिनों तक के लिए ही नकदी की क्षमता होती है और हड़ताल के दौरान भी एटीएम में पैसे नहीं डाले जाएंगे तो इससे एक समय के बाद पैसे खत्म हो सकते हैं।

चेक क्लियर होने में लग सकता है 7 दिन का समय

सबसे ज्यादा परेशानी चेक क्लियर होने में होने वाली है। बैंक से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक 25 सितंबर को जमा किया गया चेक 3 सितंबर तक क्लियर हो पाएगा। क्योंकि इस दिन जमा किया गया चेक सीधे 30 सितंबर को ही खोला जाएगा और यह सारे चेक एक अक्टूबर को क्लियर होंगे। जबकि खाते में पैसा 3 अक्टूबर को ही आ पाएगा।
सेलेरी लेट से आएगी कई सारे संस्थानों में वेतन 30 तारीख को ही जमा करा दिया जाता है। लेकिन इस हड़ताल के कारण सैलेरी भी देर से आने वाली है। लगातार 5 दिनों तक बैंक बंद होने के बाद बैंक एक अक्टूबर को खुलेंगे। इस दिन बैंकों में भारी भीड़ होने वाली है। इसके बाद फिर से 2 अक्टूबर को गांधी जयंती होने के कारण बैंक बंद रहेंगे। कुल मिला कर देखा जाए तो करीब-करीब पूरा एक हफ्ता बैंक कर्मियों का छुट्टी में ही बीतने वाला है।

Facebook Comments