Bengaluru Liquor Bill Goes Viral: शराब लवर्स के लिए 4 मई का दिन काफी ज्यादा खास रहा। लंबे अंतराल के बाद लगभग पूरे देश में शराब की दुकानें खुली, तो ‘अल्कोहल लवर्स’ टूट पड़े। कहीं ठेकों पर लंबी लंबी लाइने देखने को मिली, तो कहीं लोग शराब खरीदने के लिए ढेर सारा पैसा भी लूटा रहे हैं। खैर, ‘अल्कोहल लवर्स’ तो 4 मई के दिन को अपने जीवन में कभी नहीं भूला पाएंगे। इसी बीच एक खबर कर्नाटक से आ रही है। जी हां, कर्नाटक से ‘अल्कोहल’ के बिल की कॉपी तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

शराब की दुकानें खुली तो मानों ‘अल्कोहल लवर्स’ की जैसे लॉट्ररी लग गई। उन्होंने दिल खोलकर शराब की खरीददारी कर डाली। इसके बाद हर कोई अपने बिल की कॉपी सोशल मीडिया पर अपलोड कर रहा है। इसी बीच कर्नाटक के लोगों में अल्कोहल खरीदने की काफी होड़ देखने को मिली। लोगों ने दिल खोलकर अल्कोहल खरीदा और उसका बिल सोशल मीडिया पर अपलोड किया, जिसे कुछ लोग अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए अपना योगदान भी बता कर रहे हैं।

कर्नाटक आबकारी विभाग ने दिया बड़ा बयान

कर्नाटक आबकारी विभाग ने बताया कि सोमवार को राज्य में 45 करोड़ रुपये की शराब बिकी, जिसके बाद कर्नाटक सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा। इस ट्रेडिंग के पीछे लोगों द्वारा शेयर किए उनके बिल्स भी काफी अहम रोल निभा रहे हैं। दरअसल, कर्नाटक में कई लोगों ने इतनी ज्यादा शराब खरीद ली है, जैसे अब इसके बाद शराब उन्हें मिलेगी नहीं।

हे भगवान! 50 हजार रुपये की खरीदी शराब Liquor Bills from Bengaluru Worth 52k

सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रहा है, जो शराब के बिल की कॉपी है। इस बिल पर शराब की कीमत 50 हजार से ज्यादा है। एक शख्स ने 50 हजार से ज्यादा की शराब खरीद डाली। ये बिल बैंगलोर का है। बिल पर बैंगलोर का नाम मेंशन है। मामला यही नहीं थमा, इनसे भी ज्यादा एक और शख्स महान हैं, जिन्होंने शराब खरीदने में महारथ हासिल कर ली है।

शराब खरीदने में अव्वल नंबर पर ये शख्स

यूं तो सोशल मीडिया पर कई फोटोज़ वायरल हो रही हैं, लेकिन इसमें से एक फोटो सबका ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर रही है। दरअसल, इस फोटो पर शराब की कीमत 95347 दिखाई दे रहा है। और यह फोटो भी बैंगलोर की बताई जा रही है। मतलब साफ है कि बैंगलोर वालों ने दिल खोलकर शराब की खरीददारी की है।

मिली जानकारी के मुताबिक, जिन दुकानदारों ने एक ही ग्राहक को भारी मात्रा में शराब बेची है, उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है। बता दें कि ये कार्रवाई कर्नाटक आबकारी अधिनियम धारा 36 के तहत हुई है।

Facebook Comments