जिस कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से पूरी दुनिया थम गई है और जिसके कारण भारत के अधिकतर राज्य लॉक डाउन हो चुके हैं, उसके संक्रमण की आंच अब उत्तर प्रदेश के जौनपुर तक पहुंच गई है। यहां एक कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज की रिपोर्ट पॉजीटिव आ गई है। इसके बाद प्रशासन की ओर से तत्काल एहतियात बरतते हुए जिले को लॉक डाउन कर दिया गया है।

आइसोलेशन में परिवार के सदस्य

यही नहीं उसके परिवार के सदस्यों को भी आइसोलेशन में डाल दिया गया है। साथ ही शासन की ओर से उन लोगों की तलाश की जा रही है जो उसके संपर्क में आए थे। गौरतलब है कि इससे पहले वाराणसी में भी कोरोना वायरस का एक पॉजीटिव मरीज मिल चुका है, जिसके बाद वाराणसी को भी लॉक डाउन करने की घोषणा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से कर दी गई थी।

जांच के लिए भेजा सैम्पल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जौनपुर के एक मोहल्ले में रहने वाला एक 35 साल का युवक सऊदी अरब में रहकर काम कर रहा था। जब सऊदी अरब में भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने लगा तो वह बीते 15 मार्च को भारत लौट आया। घर आने के बाद वह कई दिनों तक सामान्य तरीके से अपनी जिंदगी गुजार रहा था। अचानक उसे सर्दी-खांसी शुरू हो गई। इसके बाद उसे शंका हुई तो वह इलाज कराने के लिए जिला अस्पताल पहुंचा। यहां डॉक्टरों को जब उसके कोरोना वायरस के संक्रमण की जद में होने की शंका हुई तो उन्होंने उसे आइसोलेशन में डाल दिया। साथ ही उसके सैंपल को जांच के लिए भी भेज दिया।

लॉक डाउन किया गया जिला

सोमवार की शाम को जब इस युवक की रिपोर्ट आई तो वह कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर पॉजीटिव पाया गया। इसके बाद जिला प्रशासन में तो खलबली मच गई। जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह के हवाले से मीडिया में बताया गया है कि शासन के निर्देश पर जिले में लॉक डाउन कर दिया गया है। इसके अलावा जिले की सीमाओं को भी सील करने का कदम उठाया गया है। जितने भी मजिस्ट्रेट और सीओ हैं, सभी को क्षेत्र में भ्रमण करने का निर्देश जारी किया गया है।

Facebook Comments