Coronavirus Update: कोरोना वैश्विक महामारी अब पूरी तरह से अपना पैर पसार चुका है। दुनिया भर में करीब 2 लाख लोगों की जान इस वायरस से जा चुकी है। भारत में भी संक्रमितों मौतों का आंकड़ा दिन ब दिन बढ़ रहा है। इसी बीच एक हृदय विदारक खबर सामने आ रही है। जी हां, पीजीआई चंडीगढ़ में कोविड19 वायरस से एक 6 महीने की बच्ची के मौत हो गई। इस बच्ची का कोरोना रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटीव आया। हालांकि, इस बच्ची के दिल में छेद होने की वजह से 9 अप्रैल को पीजीआई चंडीगढ़ में एडमिट किया गया था।

बच्ची के माता पिता का कहना है कि हमारी बेटी को अस्पताल में ही कोरोना संक्रमण हुआ है। बच्ची में गत दो दिनों से कोरोना वायरस के लक्षण दिख रहे थे, ऐसे में जब उसकी जांच की गई तो बुधवार को रिपोर्ट आने के बाद पॉजिटीव मिली।

Coronavirus Updateबच्ची के दिल में छेद

चूंकि बच्ची के दिल में छेद था, जिसकी वजह से उसका इलाज पहले से ही अस्पताल में चल रहा था, लेकिन अब कोरोना की वजह से उसकी जान चली गई। ऐसे में अब बच्ची के कोरोना पॉजिटीव होने के बाद इलाज कर रहे डॉक्टर को तुरंत आइसोलेशन में भेज दिया गया है। इसके अलावा, अस्पताल के 18 डॉक्टरों समेत 54 स्वास्थ्यकर्मियों को होम क्वारंटीन किया गया है। इन सभी का कोविड19 टेस्ट के लिए सैंपल भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट गुरूवार को निगेटीव आई है।

यह भी पढ़े कोरोना को लेकर जगी उम्मीद की नई किरण, भारत को मिल सकता है वैक्सीन!

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बच्ची पंजाब के फगवाड़ा की रहने वाली थी। बच्ची के दिल में छेद होने की वजह से बच्ची को काफी परेशानी हो रही थी। इसी वजह से बच्ची के अभिभावक उसका इलाज करवाने के लिए पीजीआई के एडवांस पीडियाट्रिक सेंटर में इलाज के लिए आए थे और फिर डॉक्टरों ने बच्ची को भर्ती कर लिया था।

माता पिता ने कहा, ‘अस्पताल ने नहीं बरती सावधानी

बच्ची के पिता कहते हैं कि पीजीआई के गैर जिम्मेदाराना हरकतों की वजह से बच्ची कोरोना वायरस से संक्रमित हुई। पिता ने आगे कहा कि मेरी बच्ची बिल्कुल ठीक थी, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने ठीक से ध्यान नहीं दिया और इंफेक्शन होने के बाद इलाज शुरू हुआ। बच्ची के पिता का मानना है कि अस्पताल के ही किसी स्वास्थ्यकर्मी से बच्ची संक्रमित हुई।

Facebook Comments