Covid-19 Outbreak: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देशभर में धारा 144 लागू है। राज्य सरकारों ने कई शहरों में लॉकडाउन कर दिया है। ऐसे में यातायात, गैर ज़रूरी गतिविधियों की दुकानें, ऑफिस, फैक्ट्रीज़, स्कूल, कॉलेज, यहां तक की मेट्रो को भी बंद कर दिया गया है। सिर्फ किराने की दुकानें और मेडिकल संबंधित चीज़ें, अस्पताल इत्यादि खुले रहेंगे। ऐसे में खबर आ रही है कि दिल्ली में एम्स ने अब बाहरी मरीज़ों के लिए मंगलवार यानी 24 मार्च को लगाए जाने वाली ओपीडी सेवा को बंद करने की घोषणा की है। यह जानकारी एम्स द्वारा आज एक सर्कुलर के ज़रिए दी गई है।

aiims opd closed 24 march
dna india

बता दें कि इससे पहले रांची के रिम्स व सदर अस्पताल में ओपीडी सेवाएं बंद की जा चुकी हैं। दोनों अस्पतालों में केवल कोरोना के संदिग्धों की जांच व उपचार किया जा रहा है। आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं चालू रहेंगी। अस्पतालों के निदेशकों की मानें तो ऐसा करके, कोरोना के मरीज़ों को बेहतर ट्रीटमेंट देने में मदद मिलेगी। साथ ही बाकि असंक्रमित लोगों की सेफ्टी के लिहाज से भी यह फैसला लिया गया है। बता दें कि रिम्स के जूनियर डॉक्टरों ने शनिवार को रिम्स अधीक्षक से मिलकर सामान्य ओपीडी सेवाएं बंद करके, केवल इमरजेंसी सेवा को दुरुस्त करने का आग्रह किया था।

कोरोना का कहर देशभर में दिखाई दे रहा है, इसके लिए सरकार 75 जिलों में लॉकडाउन के निर्देश दे चुकी है। वहीं अस्पतालों में आने वाली चुनौतियों से लड़ने की तैयारियां ज़ोरों पर हैं। बता दें कि देश में अब तक 400 से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं और करीब 7 लोगों की मौत हो चुकी है। हालात और न खराब हो जाएं इसलिए सरकार ने पहले से ही 31 मार्च तक कई शहरों में लॉकडाउन कर दिया है। सरकार ने ये भी आश्वासन दिया है कि लोगों को इस लॉकडाउन के बीच ज़रूरत की सभी चीज़ों जैसे डेयरी उत्पाद, खाद्य उत्पाद, मेडिकल संबंधित सेवाएं, दवाईयां, आदि पहले की तरह ही मिलेंगी। हालांकि यातायात बंद हो जाने के कारण किराने की दुकानों पर सप्लाई थोड़ी कम रहेगी।

गृह मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, केरल और 75 जिलों को पूर्ण रूप से लॉकडाउन कर दिया है। राज्य सरकारों ने जनता कर्फ्यू के बाद भी लोगों से घर पर ही रहने की अपील की है। बता दें कि लॉकडाउन में किसी भी तरह के प्रदर्शन और लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध है। प्राइवेट कंपनियों को अपने कर्मचारियों से घर से काम करवाने के निर्देश दिए गए हैं। कमर्शियल फ्रैक्ट्री भी बंद रहेंगी। यदि इसका कोई उल्लंघन करता है तो उस पर कड़े एक्शन लिए जाएंगे।

Facebook Comments