Delhi Chunav 2020: 8 फ़रवरी 2020 को 70 विधानसभा क्षेत्रों पर चुनाव हुए | इसबार वोटिंग प्रतिशत 2015 की तुलना में 4.88 की गिरावट हुई | इलेक्शन कमिसन द्वारा वोटिंग प्रतिशत जारी करने में हुई देरी पर भी खूब बवाल हुआ | एग्जिट पोल के नतीजों में लगभग सभी मीडिया चैनलों ने आम आदमी पार्टी  को स्पष्ट बहुमत मिलता हुआ बताया है | बीजेपी के नेता मनोज तिवारी ने एग्जिट पोल के नतीजों के बाद भी बीजेपी का 48 सीटों पर विजयी होने का दवा किया है |

Delhi Chunav
AFP

आज दिल्ली चुनाव के नतीजे आ चुके हैं , और परिणाम एग्जिट पोल के अनुरूप ही रहा |एग्जिट पोल पर बीजेपी के कुछ नेताओं के विवादित बयान के बाद लोगों के मन में असमंजस की की स्थिति जरूर बानी पर अंत में परिणाम एग्जिट पोल के अनुरूप ही रहा | आम आदमी पार्टी ने लगभग क्लीन स्वीप करते हुए 62 सीटों पर कब्ज़ा किया और बीजेपी के हाँथ आयी 08 सीटें , जबकि कांग्रेस और अन्य का खता भी नहीं खुला 

इस चुनावी नतीजे से एक बात साफ़ तौर पर निकल कर आ रही है की दिल्ली की जनता ने धर्म और राष्ट्रवाद की जगह विकास शिक्षा और स्वस्थ को तेहरिज दिया है | और हो सकता है की यह जो संदेश दिल्ली की जनता निकल कर आ रहा है आगे आने वाले चुनावों  को भी प्रभावित करे |

Delhi Election
India Today

आम आदमी पार्टी की इस जीत में अरविन्द केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को पुरे अंक मिलते हैं| अरविंद केजरीवाल राजनैतिक दृष्टि से मैच्योर्ड हो रहे हैं इस चुनाव में यह साफ देखा जा सकता है | इस बार के अरविन्द केजरीवाल २०१४ के केजरीवाल से बिलकुल भिन्न थे , इस बार उन्होंने पूरी तरह से पॉजिटिव कम्पैनिंग की | उन्होंने विपक्षी पार्टियों के आक्रमण  को बड़े सय्यम के साथ नियंत्रित किया इसका उदहारण मिलता है  जब परवेश वर्मा ने उन्हें आतंकवादी की संज्ञा दी उसके बाद उन्होंने इसका जवाब जिस तरीके से दिया वह भी कबीले तारीफ थी | शाहीन बाग़ को लेकर केजरीवाल की जो रणनीति थी वह भी कारगर रही |

दिल्ली के चुनाव में बीजेपी की हार का कारण आम आदमी पार्टी के पिछले पांच साल के किये गए काम के अलावा उनके नेताओं द्वारा राष्ट्रवाद की जो हवा बनाने की कोशिश की गयी उसमें वे पूरी तरह से असफल रहे और कई मायनों में यह कोशिश ही उनके लिए माइनस पॉइंट साबित हुएबीजेपी की नेगेटिव कम्पैनिंग भी पूरी तरह से असफल रहा

आम आदमी पार्टी की इस जीत पर केजरीवाल और उनकी टीम को ढेर सारी शुभकामनाएँ और ये उम्मीद करते हैं की जिस विकास की वजह से उन्हें यह जनादेश मिला है आगे भी वे इसपर कायम रहेंगे | और मैं चाहूंगा की देश की और जनता भी दिल्ली की जनता से सबक ले और उस दल का चुनाव करे जो सर्वप्रथम उनके मुलभुत सुविधाओं पर ध्यान दे |

Facebook Comments