Delhi Government Plans: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में दिल्ली में कोरोना पर काबू पाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री केजरीवाल और एलजी अनिल बैजल के साथ हाई लेवल की बैठक की। इस बैठक में यह तय किया गया कि आखिर दिल्ली में कोरोना पर काबू कैसे पाया जाए। इसके बाद अमित शाह ने सर्वदलीय मीटिंग भी बुलाई। कुल मिलाकर, दिल्ली को बचाने के लिए अब केंद्र और राज्य सरकार दोनों एक साथ मिलकर काम कर रही हैं।

गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक के बाद दिल्ली सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए प्लान तैयार किया है, जिस पर आने वाले दिनों में तेज़ी से काम किया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 40 हजार के पार जा पहुंची है, जो अपने आप में ही एक बड़ा आकड़ा है।

कोरोना से निपटने के लिए सरकार का मास्टर प्लान (Delhi Government Plans to Overcome Coronavirus )

delhi government plans to overcome coronavirus
Image Source: Economic Times India Times

हाई लेवल बैठक में कोरोना से निपटने के लिए कुछ प्लान बनाए गए हैं, जिसकी चर्चा निम्नलिखित है-

  1. दो दिन में टेस्टिंग को दोगुना किया जाएगा, जबकि 6 दिन के अंदर तिगुना किया जाएगा।
  2. कंटेनमेंट जोन में हर पोलिंग स्टेशन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू की जाएगी, ताकि लोग बाहर न जाएं।
  3. कंटेनमेंट जोन में कॉन्टैक्ट मैपिंग के लिए घर-घर जाकर हर व्यक्ति का हेल्थ सर्वे किया जाएगा।
  4. प्राइवेट अस्पताल में कोरोना के इलाज का रेट फिक्स होगा।
  5. हर किसी के फोन में आरोग्य सेतु डाउनलोड कराया जाएगा।
  6. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से दिल्ली को पांच वरिष्ठ अधिकारी दिए जाएंगे।
  7. दिल्ली के होटलों में 4000 नए बेड कोविड मरीजों के लिए तैयार किए जाएंगे. बैंकेट हॉल में 11,000 नए बेड तैयार किए जाएंगे, जबकि 5000 बेड नर्सिंग होम्स में तैयार होंगे।
  8. दिल्ली को कोरोना से बाहर निकालने के लिए केंद्र सरकार ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटिलेटर और पल्स ऑक्सीमीट आदि आवश्यकताओं की पूर्ति करेगी।
  9. अंतिम संस्कार को लेकर गाइडलाइंस बनाए जाएंगे।
  10. प्राइवेट अस्पताल को कोविड 19 अस्पताल में तब्दील किया जाएगा।

लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

ताजा आंकड़ों की मानें तो दिल्ली में कोरोना मरीज़ों की संख्या 41182 हो गई है, जिसमें से 1327 लोगों की मौत हो चुकी है। इन सबके बीच राहत की खबर यह है कि 15823 लोग ठीक हो चुके हैं, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री खुद यह स्वीकार कर चुके हैं कि जुलाई तक दिल्ली में ही 5 लाख केस हो जाएंगे।

News Source – Aaj Tak

Facebook Comments