Government Plan Beyond the Lockdown: बीते 3 अप्रैल को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में 16 सदस्यीय मंत्री समूह की एक बैठक हुई है, जिसमें मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 15 मई से देश में दूसरे लॉकडाउन पर विचार किया गया है। खबरों के मुताबिक गृह मंत्री अमित शाह भी इस बैठक में मौजूद थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक बैठक में यह चर्चा हुई है कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए दूसरे चरण का लॉकडाउन संक्रमण के चैन को तोड़ने की दिशा में प्रभावी साबित होगा। एक और वजह इसकी यह भी है कि गहन देखभाल उपकरण की देश में इस वक्त भारी कमी है। इसकी उपलब्धता केवल 40 फीसदी की है।

संख्या में इजाफा

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 4000 को पार कर गई है। साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी 100 के पार पहुंच गया है। वर्तमान लॉकडाउन की मियाद 14 अप्रैल को समाप्त हो रही है। संभव है कि 15 अप्रैल से लॉकडाउन हटाने की घोषणा सरकार की ओर से कई शर्तों और प्रतिबंधों के साथ की जाए। इमरजेंसी सुविधाएं जारी रहने की पूरी संभावना है। लोगों के एक जगह पर जुटने पर देशभर में प्रतिबंध लगा रहेगा। हवाई सेवाएं फिर से शुरू होने की संभावना है। हालांकि, विदेश जाने वाले यात्रियों को कुछ विशेष परिस्थितियों में ही अनुमति मिल सकती है।

अवधि फिलहाल तय नहीं

संभव है कि अंतर-राज्यीय यात्राओं से बचने के लिए भी कुछ विशेष सलाह जारी की जाए। लॉकडाउन खत्म होने के बाद 15 अप्रैल से जीवन कितना सामान्य हो जाएगा, सरकार के पास इसका दावा करने के लिए फिलहाल कोई सबूत मौजूद नहीं है। यदि 15 मई से लॉकडाउन शुरू होता है तो इसकी अवधि क्या होगी, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह संक्रमण के मामलों की संख्या पर निर्भर करेगा।

यूपी में क्या होगा?

उत्तर प्रदेश भारत का सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है। यहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटाने के संकेत दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि जिन जिलों में संक्रमण के पॉजिटिव मामले सामने नहीं आए हैं, पहले वहां से लॉकडाउन हटाया जा सकता है। कार्यालयों के खुलने की भी अनुमति दी जाने वाली है, मगर जहां घर से काम संभव है, उनसे अपने कर्मचारियों से घर से ही काम कराने की अपील की जाएगी।

Facebook Comments