हज यात्रा के लिए जानेवाले यात्रियो की इस साल से सरकारी मदद (Haj Subsidy) अब खत्म कर दी गयी है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को बयान दिया कि हज यात्रा पर दी जाने वाली सब्सिडी इस साल से खत्म हो गई है। उन्होंने यह भी कहा की अब से हज सब्सिडी फंड का इस्तेमाल अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों और महिलाओं को शिक्षा देने के लिए किया जाएगा। केंद्र सरकार के इस फैसले से 1.75 लाख लोग करेंगे इस बार हज की यात्रा।

Haj Subsidy
euronews

मुस्लिम महिलाये बिना मेहराम करेगी हज यात्रा

इस साल 1300 मुस्लिम महिलाओं को बिना मेहराम के हज यात्रा करने दी जाएगी। और इनके साथ महिला हज अधिकारी भी मौजूद रहेगी। जिसमे इनके लिए मक्का-मदीना में ठहरने के लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी। नकवी ने अपने बयान मे कहा कि हज यात्रा के लिए मिलने वाली सब्सिडी का लाभ गरीब और जरूरतमंद मुसलमानों को नहीं मिलता था। खास बात यह की आजादी के बाद ,भारतीय मुसलमान बिना सब्सिडी के हज यात्रा पर जाएंगे।

Haj Subsidy
TheLegitimate

हज यात्रा मामले पर 2012 में सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने हज सब्सिडी को धीर-धीरे 2022 तक खत्म करने को कहा था। जिसके चलते हज सब्सिडी को धीरे-धीरे खत्म करने की नीति बनाई गई। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा की भविष्य मे हज यात्रियों को समुद्र मार्ग का भी विकल्प देंगे।

Facebook Comments