Coronavirus Lockdown Update: एक ओर जहां देश कोरोना को लेकर जंग लड़ रहा है वहीं राज्य सरकार और केंद्र सरकारों के बीच भी कोरोना को लेकर जंग चल रही है इसके अनुसार पता चला है कि राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से अपने बकाए पैसे की मांग की है। गौरतलब है कि आज ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने मेडिकल टेस्ट किट उपलब्ध कराने के लिए भी कहा। सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से लॉकडाउन कब तक लागू रहेगा यह सवाल किया?

राज्य सरकार ने की केंद्र सरकार से मदद की गुहार (Coronavirus Lockdown Update)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से 2500 करोड़ की राशि की मदद करने के लिए कहा है। साथ ही ममता बनर्जी ने पुराने बकाए राशि 50 करोड़ रुपये का भुगतान करने के लिए भी कहा है। इसी तरह पंजाब के मुख्यमंत्री ने भी आग्रह किया है कि वे पुराने बकाया 60 हजार करोड़ भी राज्य सरकार को चुकाने का प्रयास करें। इसके अलावा पंजाब सरकार ने दो लाख मैट्रिक टन गेहूं की व्यवस्था करने की मांग भी केंद्र सरकार से की है।

राज्य सरकार ने कोरोना की जंग में जीत हासिल करने के लिए बाकी राज्यों के प्रधानमंत्री से भी पर्सनल प्रोटक्शन इक्विपमेंट की नियमित रूप से सप्लाई करने की मांग रखी है। साथ ही पुरानी बकाया राशि राज्य सरकार तक पहुंचाने का आग्रह भी किया है। कोरोना जैसी भयंकर महामारी के चलते जो देश की अर्थव्यवस्था को राजस्व कलेक्शन में कमी आएगी। उसका भुगतान केंद्र को करना होगा ऐसा भी नरेंद्र मोदी ने अपनी बातों के जरिए कहने का प्रयास किया।

राजस्व में आई कमी

राजस्व में कमी का मुख्य कारण 21 दिन का लॉक डाउन बताया गया है। प्रत्येक राज्य से लोगों के पलायन को रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने राज्य सरकारों से अपील की है। कि वे अपने राज्य में गरीब कल्याण योजना लागू करें। ताकि उन गरीबों का थोड़ा सहारा बन सके और उन्हें अपने शहर में ही रोक सके। अभी तक प्रधानमंत्री जी ने लॉक डाउन बढ़ाने के सवाल पर कोई जवाब प्रस्तुत नहीं किया है।

Facebook Comments